Saturday , September 19 2020

मैं बीजेपी का राजनीतिक ‘आइटम गर्ल’: आजम खां

बदायूं

अपने बयानों के लिए अक्सर सुर्खियों में रहने वाले समाजवादी पार्टी (एसपी) के राष्ट्रीय महासचिव आजम खां ने बुधवार को कहा कि वह बीजेपी के राजनीतिक ‘आइटम गर्ल’ हैं। उन्होंने कहा कि इस पार्टी ने उनके नाम पर उत्तर प्रदेश का पिछला विधानसभा चुनाव लड़ा था और अब उनके नाम पर ही आगामी लोकसभा चुनाव भी लड़ेगी। बीजेपी ने खां के इस बयान पर कड़ी प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए कहा कि उन्होंने जो अभद्र शब्द इस्तेमाल किया है, वह उनकी सोच को दर्शाता है। इसी बीच आजम खां पर डॉ बीआर आंबेडकर के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी करने के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया है।

मशवराती काउंसिल की विशेष बैठक में शामिल होने बदायूं आए खां ने मीडिया से बातचीत में खुद को बीजेपी का ‘आइटम गर्ल’ बताया। उन्होंने कहा, ‘सारे चुनाव बीजेपी मेरे नाम पर ही लड़ती रही है। पिछला विधानसभा चुनाव मेरे नाम पर लड़ा। अब लोकसभा चुनाव भी मेरे ही नाम पर लड़ेगी।’ एसपी नेता ने कहा, ‘मेरा तो यह हाल कर दिया है कि मुझे खुद नहीं पता कि मेरे ऊपर कितने मुकदमे दर्ज कर दिए गए हैं। मेरे नाम से कितने समन और वॉरंट जारी कर दिए गए हैं, मैं तो बस उन्हीं मुकदमों की पैरवी करता घूमता रहता हूं।’

आजम खां ने दावा किया कि उनके पास कोई संपत्ति नहीं है। उनका सिर्फ एक बैंक खाता है जो विधान भवन में स्थित एसबीआई की शाखा में है। इसके सिवाय अगर देश के किसी भी बैंक में उनका कोई खाता मिल जाए तो उनको कुतुबमीनार पर फांसी दे दी जाए। खां ने बताया कि मशवराती काउंसिल ने निर्णय लिया है कि फिरकापरस्त ताकतों को हराने के लिए दलितों, पिछड़ों और कमजोरों को एकजुट करना होगा, तभी इंकलाब आएगा। इसके लिए उन सभी मुद्दों से हटना होगा जिनको लेकर बीजेपी देश मे आग लगाना चाहती है।

राम मंदिर मामले पर खां ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट देश की सर्वोच्च संस्था है। उसका आदेश सबसे ऊपर होना चाहिए। उन्होंने बीजेपी पर कटाक्ष करते हुए कहा, ‘जब छह दिसंबर 1992 को बाबरी मस्जिद तोड़ी गई तब किसी मुस्लिम संगठन ने कोई विरोध नहीं किया। आप मंन्दिर बनाइए। विरोध की चिंता छोड़िए। आपको जो करना है कीजिए मगर देश को गुमराह मत कीजिए।’

वहीं, आजम खां के बयान पर पलटवार करते हुए प्रदेश बीजेपी प्रवक्ता चंद्रमोहन ने कहा कि खां विक्षिप्त हो गए हैं। वह वोट बैंक, भ्रष्टाचार और तुष्टीकरण की जो राजनीति करते थे, उसके दिन जा चुके हैं। उन्होंने कहा कि खां ने जो अभद्र शब्द इस्तेमाल किया है, वह उनकी सोच को दर्शाता है। यही सोच एसपी की भी है और ऐसे लोगों की है जो एसपी अध्यक्ष अखिलेश यादव से जुड़े हुए हैं।

इसी बीच आजम खां पर बाबा साहब डॉक्टर भीमराव आंबेडकर के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी करने के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया है। आंबेडकर महासभा के महासचिव अमरनाथ प्रजापति की तहरीर पर खां के खिलाफ मंगलवार को हजरतगंज कोतवाली में मुकदमा दर्ज किया गया। प्रजापति ने अपनी तहरीर में आरोप लगाया है कि वर्ष 2016 में गाजियाबाद में हज हाउस के उद्घाटन के दौरान खां ने आंबेडकर और उनकी मूर्तियों के प्रति आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। उनके खिलाफ आईपीसी की धारा 500 (मानहानि) और 505 (सार्वजनिक रूप से भड़काने) के तहत मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू की गई है।

Did you like this? Share it:

About editor

Check Also

भाजपा के कंधे पर चढ़ चिराग को ऊंचा लग रहा अपना कद: जेडीयू एमएलसी

हाजीपुर हाजीपुर में JDU के एमएलसी गुलाम गौस ने जमुई से सांसद और लोजपा नेता …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)