J&K निकाय चुनाव: वोट से पहले खिला कमल

श्रीनगर

जम्मू-कश्मीर में 13 साल बाद हो रहे शहरी स्थानीय निकाय चुनाव में आतंकी संगठनों की धमकियों की वजह से कश्मीर में पहले चरण के मतदान के करीब 46 फीसदी वॉर्ड्स में प्रत्याशी निर्विरोध चुन लिए गए हैं। इनमें से ज्यादातर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के हैं। कश्मीर के कुल 624 वॉर्ड्स में से 215 पर प्रत्याशी निर्विरोध निर्वाचित हो चुके हैं जबकि 177 वॉर्ड्स में एक भी प्रत्याशी खड़ा नहीं हुआ है। ऐसे में वोट 232 वॉर्ड्स के लिए पड़ेंगे, जिन पर 715 लोगों ने दावेदारी पेश की है। हर वॉर्ड पर औसतन तीन प्रत्याशी खड़े हैं।

गौरतलब है कि दोनों बड़ी पार्टियों नैशनल कॉन्फ्रेंस और पीडीपी ने आर्टिकल 35A को लेकर चुनाव का बहिष्कार किया है, लेकिन कांग्रेस और बीजेपी ने ज्यादातर जगहों पर अपने प्रत्याशी उतारे हैं। दोनों पार्टियों ने ऐसी सीटों पर दावेदारी पेश नहीं की है जहां ज्यादा गंभीर धमकी दी गई है। हालांकि, गुरुवार को बीजेपी के दो और कांग्रेस के एक प्रत्याशी ने नाम वापस ले लिए।

पूरे राज्य में 1145 वॉर्ड
बता दें कि 8 अक्टूबर से होने वाले शहरी स्थानीय निकाय चुनाव 16 अक्टूबर तक चार चरणों में होंगे, जबकि पंचायत चुनाव 17 नवंबर से 11 दिसंबर तक नौ चरणों में होंगे। पंचायत चुनाव आखिरी बार 2011 में हुए थे। इस बार चुनावों में राज्य के 1,145 वॉर्ड में 16,97,291 मतदाता अपना मताधिकार का इस्तेमाल कर सकेंगे।नगर पालिका और स्थानीय निकायों के 1,145 वॉर्ड में से 90 अनुसूचित जाति (एससी) और 38 अनुसूचित जनजाति (एसटी) के लिए आरक्षित हैं। इनमें से 31 एससी और 13 एसटी महिलाओं के लिए आरक्षित हैं, जबकि 322 वार्ड सामान्य वर्ग की महिलाओं के लिए आरक्षित हैं।

‘हर प्रत्याशी को सुरक्षा देना मुश्किल’
एक सीनियर पुलिस अधिकारी ने बताया कि केंद्र 400 अतिरिक्त कंपनियां भेज रहा है लेकिन फिर भी हर एक प्रत्याशी को सुरक्षा दे पाना मुमकिन नहीं। करीब 30 प्रत्याशियों को खतरा है। उधर, अलगाववादियों ने शहरी स्थानीय निकाय चुनावों के विरोध में कश्मीर में 8 अक्टूबर को बंद बुलाया है। उन्होंने लोगों से खुद को 8, 10, 13 और 16 अक्टूबर को होने वाले चुनाव से अलग रखने के लिए कहा है।

बीजेपी ने जीते हैं निर्विरोध वॉर्ड
निर्विरोध जीते गए वॉर्ड्स में से ज्यादातर दक्षिण कश्मीर में हैं। बीजेपी ने देवसर और काजीगुंड निकाय समिति जीत लीं। काजीगुंड निकाय में बीजेपी ने तीन वॉर्ड्स निर्विरोध जीते, जबकि चार पर उसका सामना कांग्रेस से है। दक्षिण कश्मीर के कुलगाम की फ्रीजल निकाय समिति अकेली ऐसी इकाई है, जिसके एक भी वॉर्ड में किसी ने भी नामांकन नहीं भरा है।

Did you like this? Share it:

About editor

Check Also

कृषि बिलों पर पंजाब में उबाल, प्रकाश सिंह बादल के घर के बाहर किसान ने खाया जहर

भटिंडा मोदी सरकार के कृषि बिल के खिलाफ पंजाब में किसानों में गुस्सा बढ़ता जा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)
96 visitors online now
34 guests, 61 bots, 1 members
Max visitors today: 101 at 07:47 am
This month: 157 at 09-04-2020 06:43 am
This year: 687 at 03-21-2020 02:57 pm
All time: 687 at 03-21-2020 02:57 pm