लखनऊः लेडीज सूट में ले जा रहे थे एक करोड़ रुपये के डॉलर, अरेस्ट

लखनऊ

लेडीज सूट के पैकिंग पेपर में अमेरिकी डॉलर छिपाकर नेपाल के रास्ते दुबई ले जा रहे दो तस्करों को डायरेक्ट्रेट ऑफ रेवेन्यू इंटेलिजेंस (डीआरआई) ने उत्तर प्रदेश के रुपईडीहा से गिरफ्तार किया है। बरामद डॉलरों की कीमत एक करोड़ रुपये से ज्यादा है। दोनों तस्कर दिल्ली के चांदनी चौक के रहने वाले हैं। बताया जा रहा है कि दोनों दुबई में करंसी बदलवाकर सोना खरीदने जा रहे थे।

दोनों को कस्टम कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उन्हें न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया। उनकी सूचना पर दिल्ली से भी एक आरोपी गिरफ्तार किया गया है। वहां दो करोड़ रुपये से ज्यादा की विदेशी करंसी और 11 किलोग्राम सोना बरामद हुआ है।

डॉलर की बड़ी खेप दुबई ले जाने की तैयारी
डीआरआई, लखनऊ के जोनल ऑफिस की टीम को सूचना मिली थी कि दिल्ली से अमेरिकी डॉलर की बड़ी खेप काठमांडू के रास्ते दुबई ले जाने की तैयारी है। इस पर चौकसी बढ़ा दी गई। बहराइच में नेपाल बॉर्डर पर स्थित रुपईडीहा लैंड कस्टम स्टेशन पर दिल्ली के चांदनी चौक निवासी अशफाक व आमिर को रोककर तलाशी ली गई। दोनों के पास लेडीज सूट का एक-एक बक्सा था।

पहले तलाशी में उनके पास कुछ नहीं मिला। लेकिन डीआरआई के अफसरों को तसल्ली नहीं हुई। दोनों को कस्टम दफ्तर लाया गया। वहां लेडीज सूट की पैकिंग में इस्तेमाल हुए गलता पेपर की सघनता से जांच की तो उसके फटे कोने से डॉलर दिखने लगे। सभी गलता पेपर को गर्म पानी में डालकर निकाला गया तो दो शीट में छिपाकर रखे गए डॉलर सामने आ गए।

100 यूएस डॉलर के 1,440 नोट बरामद
डीआरआई को 100 यूएस डॉलर के 1440 नोट मिले। इनकी कीमत एक करोड़ रुपये से भी ज्यादा है। दोनों तस्करों ने बताया कि उन्होंने दिल्ली में इस रकम को थोड़ा-थोड़ा करके डॉलर में बदला। इस रकम से दुबई में सोना खरीदकर तस्करी के जरिए भारत लाया जाना था।

इसके बाद डीआरआई, दिल्ली की टीम ने चांदनी चौक स्थित अशफाक और आमिर के घरों पर छापा मारा। वहां से भी दो करोड़ से ज्यादा की विदेशी करंसी और 11 किलो सोना बरामद हुआ। अशफाक इस तस्करी के नेटवर्क का मास्टर माइंड है। डीआरआई के मुताबिक वह लंबे समय से विदेशी करंसी और सोने की तस्करी से जुड़ा है।

Did you like this? Share it:

About editor

Check Also

जमीन बेचने के बाद नहीं मिले थे पूरे पैसे, कर्ज में डूबे किसान ने की आत्महत्या

सूरत , आर्थिक तंगी से जूझ रहे सूरत के एक किसान ने अपने ही घर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)