Monday , October 26 2020

गाजियाबाद बारिश से बचने गए थे तभी ढह गई बिल्डिंग

गाजियाबाद

दिल्ली-एनसीआर में मॉनसून अब अपना रंग दिखाने लगा है वहीं रह-रह कर इमारत ढहने की घटनाएं सामने आने लगी हैं। नोएडा के शाहबेरी में दो इमारतों के ढहने के बाद अब गाजियाबाद में रविवार को एक पांच मंजिली इमारत जमींदोज हो गई जिसमें एक व्यक्ति की मौत हो गई। बचावकर्मियों ने 2 बच्चों सहित 6 लोगों को सुरक्षित निकाल लिया है, लेकिन अभी भी कुछ लोग मलबे में फंसे हुए हैं जिनके लिए बचाव कार्य जारी है। बताया जा रहा है कि जिस इलाके में यह बिल्डिंग गिरी है, वह पूरी तरह से अवैध रूप से बसाई गई है।

बारिश से बचने में हादसे का शिकार
हादसे का शिकार हुए परिवारों की कहानी कमोबेश एक जैसी है। सभी रोजी-रोटी की तलाश में गाजियाबाद आए थे और निर्माणाधीन इमारत के पास रह रहे थे। रविवार को रहने वाली जगह में बारिश का पानी भर गया तो सभी इमारत में चले गए। इसी दौरान हादसा हो गया। इन मजदूरों में से किसी का श्रम विभाग में रजिस्ट्रेशन नहीं है और न ही किसी सरकारी योजना का लाभ मिलता है। पूरा परिवार मिलकर मजदूरी करता है तो गृहस्थी चल पाती है। मध्य प्रदेश के सागर के रहने वाले अरुण के परिवार के चार लोग बिल्डिंग में दबे हुए हैं। उन्होंने बताया कि मलबे में उनका बेटा हेमराज और अभिषेक, भाई सुरेंद्र और पत्नी रानी दबे हुए हैं। बारिश की वजह से सभी बिल्डिंग में चले गए थे।

…और बिल्डिंग ऐसे भरभरा कर गिरी
निर्माणाधीन इमारत के पास ही गीता का परिवार रहता है। वह दोपहर में पति राजकुमार को खाने के लिए बुलाने गई थीं। पीछे-पीछे आठ साल का बेटा शिवा भी चला गया। पति को बुलाकर जब वह बाहर निकल रही थीं, तभी बिल्डिंग भरभराकर गिरने लगी। वह बाहर की तरफ भागीं, लेकिन इमारत का कुछ मटीरियल उनके ऊपर गिर गया। पति और बेटा भी उसमें दब गए। आसपास के लोगों ने पहले गीता को बाहर निकाला। उनकी आंखों के सामने घायल बेटे को अस्पताल ले जाया गया। स्थानीय लोगों ने राजकुमार को भी बचा लिया। मलबे से सबसे पहले गीता को ही बाहर निकाला गया, लेकिन भीड़ से घिर जाने के कारण वह सबसे बाद में अस्पताल पहुंचीं। गीता ने बताया कि उनकी मां विद्या, छह साल का बेटा सागर और भाई राजेश अब भी फंसे हुए हैं। छोटा बेटा बारिश से बचने के लिए इमारत के नीचे खेल रहा था। उनके एक भाई राहुल की हादसे में मौत हो गई है। राजकुमार के पिता मुन्ना (50) चौथी मंजिल पर काम कर रहे थे। उन्हें मामूली चोटें आई हैं। मुन्ना ने बताया कि इमारत में उनके और बच्चों समेत 10 लोग थे। यह परिवार एमपी के दमोह का रहने वाला है।

टॉप फ्लोर पर काम करने की वजह से बची जान
मध्य प्रदेश के दमोह के रहने वाले मुन्ना और उसकी पत्नी फूलवती बिल्डिंग के सबसे टॉपर फ्लोर पर काम कर रहे थे। जब इमारत गिरनी शुरू हुई तो मुन्ना बिल्डिंग के पास भरे पानी में कूद गया। इसकी वजह से उसके कई जगह चोटें आईं। फूलवती भी हादसे में बुरी तरह से घायल हो गईं। पांच साल का पोता देवेंद्र मलबे में फंस गया, जिसे बाद में एनडीआरएफ की टीम ने बचा लिया। मुन्ना ने बताया कि उन लोगों ने कुछ दिन पहले ही इस बिल्डिंग में काम करना शुरू किया था। निर्माण के दौरान लग रहा था कि यहां पर घटिया मटीरियल इस्तेमाल किया जा रहा है। इस बारे में ठेकेदार से कई बार कहा भी गया, लेकिन उसने अनसुना कर दिया।

साथ की इमारत को भी नुकसान
इस बिल्डिंग के नजदीक अजय कुमार का भी घर है जो इस हादसे में क्षतिग्रस्त हो गया है। उन्होंने बताया कि उनके परिवार में हादसे के वक्त 8 लोग थे सभी आगे वाले हिस्से में बैठे थे वह धमाके की आवाज के बाहर आए तो चारों तरफ धूल थी उन्होंने देखा कि उनका घर भी इस हादसे में टूट गया है उन्होंने कहा कि करीब 6 साल पहले उन्होंने अपना घर बनाया था इस हादसे में उनका करीब छह लाख का नुकसान हो गया है जिसके बारे में कोई बात नहीं कर रहा है।

मुआवजा और जांच के आदेश
उधर, यूपी सरकार ने मृतक के परिजन को दो लाख रुपये और घायलों को 50 हजार रुपये मुआवजा देने की घोषणा की है। वहीं, मामले पर संज्ञान लेते हुए कमिश्नर स्तर की जांच के निर्देश दिए गए हैं। पुलिस ने बिल्डिंग हादसे में मनीष गोयल नाम के बिल्डर, प्रसनजीत गौतम नाम के प्लॉट मालिक समेत 6 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। नामजद आरोपी फरार हैं। आरोपियों का पता लगाने के लिए पुलिस ने उनके करीबियों को हिरासत में लिया है। आरोपियों पर एनएसए के तहत कार्रवाई होगी। वहीं, गाजियबाद से सांसद और विदेश राज्य मंत्री वीके सिंह ने भी घटनास्थल का दौरा किया।

बचाव कार्य में जुटी एनडीआरएफ टीम
एनडीआरएफ के डीजी संजय कुमार ने बताया कि चार टीमें राहत और बचाव का कार्य कर रही हैं। यह संकरा इलाका है। हम जल्द से जल्द बचावकार्य को पूरा करने की कोशिश कर रहे हैं।

Did you like this? Share it:

About editor

Check Also

71 सीटें, 1066 प्रत्याशी, 2 करोड़ वोटर… बिहार में पहले चरण के लिए थमा प्रचार

पटना बिहार विधानसभा चुनाव के लिए पहले चरण की 71 सीटों पर प्रचार का दौर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)
Do NOT follow this link or you will be banned from the site!