‘बिल्कुल बकवास…’, ओला और उबर के मर्जर पर भाविश अग्रवाल की सफाई

नई दिल्ली,

कैब कंपनी ओला और उबर को लेकर चर्चा चल रही थी कि दोनों साथ में मर्जर कर सकती हैं. लेकिन इन खबरों को बल मिल पाता, उससे पहले ही ओला के को-फाउंडर भाविश अग्रवाल ने साफ कर दिया है कि ऐसा कोई मर्जर नहीं होने वाला है. उन्होंने इन खबरों को ही बकवास बता दिया है. ट्वीट कर भाविश अग्रवाल ने लिखा है कि ये सब बिल्कुल बकवास है. हम मुनाफा कमाने वाली कंपनी हैं और अभी हमारी ग्रोथ बेहतरीन चल रही है. अगर कोई दूसरी कंपनी मार्केट छोड़ना चाहती है, तो उसका स्वागत है. हम कभी भी किसी कंपनी के साथ मर्ज नहीं करने वाले हैं.

वैसे उबर ने भी उन रिपोर्ट्स को खारिज कर दिया है जहां पर कहा गया था कि ओला के अधिकारियों के साथ कंपनी की कोई मीटिंग नहीं हुई है और ना ही कोई मर्जर का प्लान किया जा रहा है. ऐसे में ऐसी तमाम खबरों ने अटकलों के बाजार को गर्म तो रखा लेकिन इसमें कोई सच्चाई सामने नहीं आई.

ओला और उबर के भारतीय बाजार की बात करें तो इस समय दोनों ही मुश्किलों का सामना कर रही हैं. एक तरफ ओला को अपना ग्रॉसरी वाला बिजनेस बंद करना पड़ गया तो उबर को भी अपना ‘उबर ईट्स’ भी जोमैटो को बेचना पड़ा. इस सब के ऊपर बढ़ते कॉम्पटीशन के बीच दोनों कैब कंपनियों ने समय-समय पर अपने ग्राहकों को बड़े डिस्काउंट दिए, उस वजह से भी स्थिति थोड़ी बिगड़ी. इन चुनौतियों की वजह से ही इस खबर को हवा मिल गई थी कि ओला और उबर अपना मर्जर कर सकते हैं.

वैसे ओला से बजाय इस समय उबर के सामने चुनौतियों का ज्यादा बड़ा पहाड़ खड़ा है. अभी एशिया में सिर्फ जापान और भारत तक ही उबर का बाजार सीमित रह गया है. कुछ देशों में तो उसे अपनी सर्विस बंद भी करनी पड़ गई है. उस सब के ऊपर कोरोना ने उनके बिजनेस को और ज्यादा सीमित करने का काम कर दिया. लेकिन अभी के लिए दोनों में से कोई भी कंपनी मर्जर को तैयार नहीं है.

About bheldn

Check Also

कोरोना से ही मिल रही थी ये छूट… अब बंद, EPF से पैसा निकालने का बदला नियम!

नई दिल्‍ली , प्राइवेट सेक्‍टर की कंपनियों में काम करने वाले लोगों के लिए कर्मचारी …