RSS को राष्ट्रीय ध्वज के रूप में तिरंगा स्वीकार नहीं था, पीएम मोदी तो खुद को उसकी नींव कहते हैं- ओवैसी

नई दिल्ली

पीएम मोदी ने हर घर तिरंगे कार्यक्रम के तहत 13 से 15 अगस्त तक सभी घरों में तिरंगा लगाने की अपील की है। इसके साथ ही उन्होंने अपनी डीपी में तिरंगा लगाया और लोगों से भी ऐसा करने को कहा गया। एआईएमआईएम चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने इस पर केंद्र सरकार पर हमला किया है। ओवैसी ने कुछ घंटे पहले एक के बाद एक तीन ट्वीट किए। उसमें उन्होंने लिखा कि ऑर्गेनाइजर पत्रिका RSS का मुखपत्र है। 17 जुलाई 1947 को उन्होंने कहा था कि देश के राष्ट्रीय ध्वज का रंग भगवा होना चाहिए। देश के PM कहते हैं कि RSS उनकी नींव है, उन्हें इससे प्रेरणा मिली है

ओवैसी ने साधा पीएम मोदी और आरएसएस पर निशाना
ओवैसी ने आगे कहा कि RSS पत्रिका ने ये भी कहा है कि झंडे में तीन रंग बुरे हैं। प्रधानमंत्री और भाजपा को बताना चाहिए कि उन्होंने जो कहा है वह सही है या गलत, ये उन्हें स्पष्ट करना चाहिए। ओवैसी ने ट्वीट करते हुए कहा कि सरकार हमसे तिरंगा डीपी लगाने और रैलियां निकालने के लिए कह रहे हैं, लेकिन आरएसएस ने स्वतंत्र भारत और तिरंगे को खारिज कर दिया था। आरएसएस के मुखपत्र ऑर्गनाइज़र ने अपने विचार व्यक्त करते हुए मांग की थी कि देश का राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा नहीं बल्कि भगवा हो।

ओवैसी का दावा, खुश नहीं था आरएसएस
ओवैसी ने कहा कि आजादी के बाद जब देशभक्त भारतीयों ने भारतीय स्वतंत्रता का जश्न मनाया तब आरएसएस नाराज था। आरएसएस ने स्वतंत्रता आंदोलन में कोई भूमिका नहीं निभाई। 14.8.1947 को हिंदू राष्ट्र और खुले तौर पर तिरंगे का अपमान करने की मांग करते हुए एक लंबा हंगामा किया।

13-15 अगस्त हर घर तिरंगा
आजादी की 75वीं वर्षगांठ के मौके पर हर घर तिरंगा, बाइक रैली जैसे आयोजन किए जा रहे हैं। दो दिन पहले ही संसद से लालकिले तक कई सांसदों ने बाइक पर रैली निकाली थी। देश के अलग-अलग हिस्सों में सांसद विधायक ऐसे आयोजन कर रहे हैं। इसके अलावा पीएम मोदी समेत बीजेपी के सभी नेताओं ने अपनी डीपी में तिरंगा लगाया है। पिछले दिनों पीएम मोदी ने लोगों से अपील की थी इस जश्न में आप सभी शामिल हों और सभी अपनी डीपी में तिरंगा लगाएं।

About bheldn

Check Also

सावधान! अयोध्या में सक्रिय है ये शातिर गैंग, राम मंदिर दर्शन के लिए जाते वक्त रहें सतर्क

अयोध्या, अयोध्या में श्री राम मंदिर निर्माण के साथ चौतरफा विकास हो रहा है. यहां …