मैंने दिया था चीनी गुब्बारे को मार गिराने का आदेश, F-22 के पायलट को बधाई… खुश हुए जो बाइडेन

वॉशिंगटन

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने चीनी जासूसी गुब्बारा मार गिराने वाले पायलट की जमकर तारीफ की है। उन्होंने कहा कि मैं उस पायलट को बधाई देना चाहता हूं, जिन्होंने इसे किया। बाइडेन के इस बयान के बाद संभावना जताई जा रही है कि उस फाइटर पायलट को जल्द ही सम्मानित किया जा सकता है। अमेरिका ने आज सुबह चीनी जासूसी गुब्बारे को दक्षिण कैरोलिना के तट के नजदीक एफ-22 लड़ाकू विमान के जरिए मार गिराया था। इस घटना का वीडियो भी जारी किया गया है, जिसमें चीनी गुब्बारे को मिसाइल से नष्ट करते हुए दिखाया गया है।

बाइडेन बोले- पायलट को बधाई देता हूं
बाइडेन ने चीनी जासूसी गुब्बारा मार गिराने के बाद कहा कि उन्होंने सफलतापूर्वक इसे नीचे गिरा दिया है, और मैं अपने एविएटर्स को बधाई देना चाहता हूं जिन्होंने इसे किया। बाइडेन ने मैरीलैंड में कहा कि मैंने उन्हें गुब्बारे को मार गिराने का निर्देश दिया था। बुधवार को जब मुझे गुब्बारे की जानकारी दी गई थी, तो मैंने पेंटागन को इसे जल्द से जल्द मार गिराने का आदेश दिया था। उन्होंने (पेंटागन) जमीन पर किसी को नुकसान पहुंचाए बिना ऐसा करने का निर्णय लिया और इसके लिए सबसे उपयुक्त समय तब मिला, जब गुब्बारा समुद्र के ऊपर था।

साइडविंगर मिसाइल से मार गिराया गया चीनी गुब्बारा
अमेरिकी सैन्य अधिकारियों ने बताया कि इस गुब्बारे को गिराने के लिए AIM-9X साइडविंगर मिसाइल का इस्तेमाल किया गया। इस लड़ाकू विमान ने वर्जीनिया के लैंगली एयरफोर्स स्टेशन से उड़ान भरी थी। इसके चंद मिनट बाद यह लड़ाकू विमान अटलांटिक महासागर के ऊपर पहुंचे चीनी गुब्बारे तक पहुंच गया और मिसाइल से हमला कर दिया। अमेरिकी रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन ने कहा कि राष्ट्रपति बाइडन के निर्देश पर एक लड़ाकू विमान ने चीन के निगरानी गुब्बारे को अमेरिकी वायु क्षेत्र में दक्षिण कैरोलाइना के तट पर समुद्र के ऊपर मार गिराया। ऑस्टिन ने कहा कि अमेरिकी महाद्वीप में सामरिक स्थलों की निगरानी करने के प्रयास में चीन द्वारा इस्तेमाल किए जा रहे गुब्बारे को अमेरिकी जल क्षेत्र के ऊपर मार गिराया गया।

चीन ने जताई सख्त नाराजगी
इस बीच, चीन की सरकारी समाचार एजेंसी शिन्हुआ ने रविवार को चीन के विदेश मंत्रालय के एक बयान का हवाला देत हुए कहा कि बीजिंग ने चीन के असैन्य मानवरहित यान पर हमला करने के लिए अमेरिका द्वारा बल प्रयोग करने को लेकर कड़ा विरोध जताया है। बयान के अनुसार, अमेरिका का बल प्रयोग पर जोर देना वास्तव में एक अनावश्यक प्रतिक्रिया और अंतरराष्ट्रीय प्रक्रिया का गंभीर उल्लंघन है। चीन इसकी प्रतिक्रिया में आगे कदम उठाने का अधिकार सुरक्षित रखते हुए प्रासंगिक कंपनी के वैध अधिकारों और हितों को दृढ़तापूर्वक बनाए रखेगा। चीन ने दावा किया कि यह गुब्बारा महज मौसम अनुसंधान हवाई जहाज था।

About bheldn

Check Also

ईरानी राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी के हेलिकॉप्टर की हार्ड लैंडिंग, हादसे के बाद प्रेसिडेंट और विदेश मंत्री लापता

नई दिल्ली, ईरानी राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी को ले जा रहे एक हेलीकॉप्टर को रविवार को …