पाकिस्तान में हारने पर भारत में दंगे होते हैं, एशिया कप पर घमासान के बीच मियांदाद का बयान

क्वेटा

एशिया कप की मेजबानी छीनते पाकिस्तान क्रिकेट में खलबली मची हुई है। देश के पूर्व क्रिकेटर भारत के खिलाफ कुछ अनाप शनाप बयानबाजी कर रहे हैं। ऐसा ही एक जहरीला बयान पाकिस्तान के पूर्व खिलाड़ी जावेद मियांदाद ने दिया है। जावेद मियांदाद ने बीसीसीआई पर निशाना साधते हुए कहा है कि टीम इंडिया पाकिस्तान से डरती है। यही कारण है कि वह उसके खिलाफ नहीं खेलना चाहती है। मियांदाद ने यह बयान पाकिस्तान सुपर लीग के एक प्रदर्शनी मैच के बाद दिया था।

मियांदाद ने कहा, ‘अगर भारत एशिया कप में खेलने के लिए पाकिस्तान नहीं आना चाहता है तो मत आए। पाकिस्तान अगर भारत से नहीं खेलेगा तो वह मर नहीं जाएगा। पीसीबी को अब बिल्कुल भी क्रिकेट के लिए भारत पर निर्भर नहीं रहना चाहिए।’जावेद मियांदाद ने कहा, ‘भारत पाकिस्तान के खिलाफ खेलने से क्यों डरता है? वे जानते हैं कि अगर वे पाकिस्तान से हार गए, तो जनता उन्हें नहीं बख्शेगी। वहां के प्रधानमंत्री गायब हो जाएंगे, उनकी जनता उनका साथ नहीं छोड़ेगी।’

उन्होंने कहा है कि टीम इंडिया को पाकिस्तान दौरा करने में घबराहट होती है। वहां की जनता पाकिस्तान से हार सहन नहीं कर पाती। ऐसा होने पर वहां दंगे हो जाते हैं। घर जला दिए जाते हैं। जावेद मियांदाद ने पहली बार भारत के खिलाफ ऐसा विवादित बयान नहीं दिया है।

बता दें कि पाकिस्तान को इसी साल एशिया कप की मेजबानी करनी थी लेकिन बीसीसीआई के सचिव जय शाह ने अपने एक बयान में साफ कर दिया था कि भारत किसी भी कीमत पर पाकिस्तान में क्रिकेट खेलने नहीं जाएगी। ऐसे में भारतीय टीम के नहीं होने से टूर्नामेंट का कोई महत्व नहीं रह जाएगा। वहीं इसके जवाब में पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने भी भारत को गीदड़भभकी देते हुए कहा था कि वह एशिया कप के लिए हमारे यहां नहीं आता है तो हम भी वनडे विश्व के लिए भारत नहीं जाएंगे।

न्यूट्रल वेन्यू पर होगा एशिया कप 2023
एशिया कप 2023 का आयोजन न्यूट्रल वेन्यू पर होना लगभग तय हो चुका है। हाल ही में एशियन क्रिकेट काउंसिल की एक आपात बैठक बुलाई गई थी जिसमें जय शाह के अलावा पीसीबी अध्यक्ष नजम सेठी ने भी हिस्सा लिया था। हालांकि इस बैठक से कोई ठोस नतीजा नहीं निकला लेकिन अगले महीने यानी मार्च में माना जा रहा है एशिया कप के नए वेन्यू की घोषणा की जा सकती है।

पाकिस्तान को होगा भारी नुकसान
एशिया कप का आयोजन अगर पाकिस्तान में नहीं होता है तो इससे उसको काफी बड़ा नुकसान उठाना पड़ेगा। क्योंकि इससे ना सिर्फ पाकिस्तान में क्रिकेट को लेकर नए दौर की शुरुआत होगी बल्कि देश की अर्थव्यवस्था को भी इससे मजबूती मिलेगी जिसकी हालत अभी बहुत खराब है।वहीं एशिया कप के स्पॉन्सर का यह कहना है कि अगर टूर्नामेंट में भारतीय टीम हिस्सा नहीं लेगी तो वह इससे हट सकते हैं। क्योंकि भारतीय टीम पाकिस्तान नहीं जाएगी तो एशिया कप का रोमांच काफी फीका पड़ जाएगा और एशियन क्रिकेट काउंसिल बिल्कुल भी ऐसा नहीं चाहेगी कि टूर्नामेंट की लोकप्रियता पर कोई नकारात्मक असर पड़े।

About bheldn

Check Also

रेप केस में बरी हुए इस क्रिकेटर की मुश्किलें बढ़ीं… अब वर्ल्ड कप से होगा बाहर

काठमांडू, नेपाल क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान संदीप लामिछाने के लिए हाल ही में एक …