बस एक गलती! अडानी को 10 दिन लगे, इस कंपनी ने एक दिन में गंवा दिए 100 अरब डॉलर

नई दिल्ली

इंटरनेट सर्च फर्म गूगल की पेरेंट कंपनी अल्फाबेट इंक को एक दिन में 100 अरब डॉलर का झटका लगा है। गूगल के नए चैटबॉट ने एक प्रमोशनल वीडियो में गलत जानकारी दी और कंपनी का सारा प्लान चौपट हो गया। एनालिस्ट्स का कहना था कि कंपनी यह समझाने में नाकाम रही कि उसका चैटबॉट प्रतिद्वंद्वी कंपनी माइक्रोसॉफ्ट कॉर्प के चैटबॉट का कैसे मुकाबला कर पाएगा। इससे निवेशकों में खलबली मच गई। अल्फाबेट के शेयरों में नौ फीसदी तक गिरावट आई और एक झटके में उसका मार्केट कैप 100 अरब डॉलर कम हो गया। कंपनी का मार्केट कैप अब 1.278 ट्रिलियन डॉलर रह गया है। हाल में अमेरिका की एक शॉट सेलिंग कंपनी Hindenburg Research की एक रिपोर्ट के कारण अडानी ग्रुप की कंपनियों के शेयरों में भारी गिरावट आई थी। दस दिन में ग्रुप का मार्केट कैप 100 अरब डॉलर कम हो गया था। लेकिन अल्फाबेट को अपने चैटबॉट की एक गलती के कारण एक दिन में ही 100 अरब डॉलर का झटका लग गया।

माइक्रोसॉफ्ट के बहुचर्चित चैटबॉट ChatGPT के जवाब में अल्फाबेट ने अपना चैटबॉट Bard लॉन्च किया है। कंपनी ने ट्विटर पर इसका एक शॉर्ट GIF वीडियो पोस्ट किया। लेकिन इसने गलत जानकारी दी। इससे पेरिस में होने वाले इसके लॉन्च इवेंट का गुड़गोबर हो गया। गूगल के चैटबॉट से पूछा गया था कि James Webb Space Telescope ने ऐसा क्या खोजा जो में अपने नौ साल के बच्चे को बता सकूं। इस पर Bard ने कई तरह के जवाब दिए। इसमें एक जवाब यह भी था कि इसके जरिए पहली बार पृथ्वी के सोलर सिस्टम बाहर किसी ग्रह की तस्वीर ली गई। हालांकि गलत जानकारी थी। यह काम सबसे पहले यूरोपियन सदर्न ऑब्जर्वेटरी के Very Large Telescope ने 2004 में किया था। अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी NASA ने इसकी पुष्टि की है।

Bard vs ChatGPT
एक स्टार्टअप कंपनी OpenAI ने नवंबर में ChatGPT को लॉन्च किया था। इसमें माइक्रोसॉफ्ट ने 10 अरब डॉलर का निवेश किया है। इसके बाद से ही गूगल पर भी दबाव बना हुआ है। कंपनी ने सोमवार को अपने चैटबॉट का एड पोस्ट किया। इसे ट्विटर पर 10 लाख से ज्यादा बार देखा जा चुका है। चौथी तिमाही में अल्फाबेट का प्रदर्शन निराशाजनक रहा है। कंपनी की एड से होने वाली कमाई में काफी गिरावट आई है। माना जा रहा है कि चैटबॉट के मामले में वह माइक्रोसॉफ्ट से पिछड़ गई है। इस वजह से कंपनी के शेयरों में बुधवार को गिरावट आई। अल्फाबेट अब भी दुनिया की चौथी सबसे वैल्यूएबल कंपनी है। इस लिस्ट में एपल (Apple) पहले, माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft) दूसरे और सऊदी अरामको (Saudi Aramco) तीसरे नंबर पर है। मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) की कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज (Reliance Industries) 195.85 अरब डॉलर के मार्केट कैप के साथ इस लिस्ट में 48वें नंबर पर है।

About bheldn

Check Also

जान से भी गए और पैसे भी नहीं… दिल दहला देगा देश में एक्‍सीडेंट क्‍लेम की ‘कछुआ चाल’ का आंकड़ा!

नई दिल्‍ली: देश में सड़क दुर्घटनाओं से जुड़े 80,455 करोड़ रुपये के लगभग 10,46,163 क्‍लेम …