क्या है कोहली का LBW आउट विवाद? गंभीर-नाथन ने किया अंपायर का सपोर्ट

नई दिल्ली,

भारतीय टीम और ऑस्ट्रेलिया के बीच 4 टेस्ट की सीरीज का दूसरा मैच दिल्ली में खेला जा रहा है. यह विराट कोहली का होम ग्राउंड है, ऐसे में फैन्स को उनसे काफी उम्मीदें भी थीं. मगर मैच की पहली पारी में कोहली अच्छी शुरुआत लेने के बावजूद बड़ा स्कोर नहीं बना सके.

कोहली ने पहली पारी में 44 रन बनाए. उन्हें मैथ्यू कुन्हैनमैन ने LBW आउट किया, जिस पर जमकर विवाद हुआ. कुन्हैनमैन की बॉल कोहली के पैड पर लगी थी. जिसे फील्ड अंपायर ने आउट दिया था. कोहली के रिव्यू लेने पर भी चीजें साफ नहीं हुईं. मगर अंपायर्स कॉल के चलते आउट दिया गया.

गंभीर ने किया अंपायर का सपोर्ट
इस पर फैन्स भड़क गए और सोशल मीडिया पर अंपायर को जमकर ट्रोल भी किया. मगर इसी बीच कई दिग्गजों ने भी अपने बयान से मामले को विवादों में बनाए रखा. पूर्व भारतीय ओपनर गौतम गंभीर ने तो अंपायर का सपोर्ट किया और कहा कि जब हम बार-बार रीव्यू देखने के बाद फैसला नहीं कर पा रहे हैं.

जबकि अंपायर के पास तो फैसले के लिए बेहद कम समय होता है. ऐसे में अंपायर को गलत नहीं कह सकते. उन्होंने अपनी जगह सही फैसला किया. वहीं, गंभीर के अलावा पूर्व भारतीय ओपनर वसीम जाफर और पूर्व क्रिकेटर अभिनव मुकुंद ने कोहली को अनलकी कहा. उन्होंने माना कि कोहली को गलत आउट दिया गया.

द्रविड़ और विक्रम राठौर फैसले से खफा
साथ ही भारतीय टीम के कोच और पूर्व दिग्गज राहुल द्रविड़ के अलावा टीम इंडिया के बैटिंग कोच विक्रम राठौर ने भी अंपायर के फैसले को गलत ही बताया है. जब कोहली आउट होकर लौटे, तो यह दोनों ही ड्रेसिंग रूम में बैठे निराश नजर आए थे. खुद कोहली भी अंपायर के फैसले से बेहद निराश नजर आए.

ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज ने फैसले को सही बताया
ऑस्ट्रेलियाई टीम के लिए पहली पारी में 5 विकेट लेने वाले स्पिनर नाथल लियोन ने कहा, ‘मेरा मानना है कि सही फैसला दिया गया है. इसमें कोई शक नहीं है कि कोहली भी कह (बैट से बॉल लगी) रहे होंगे. शायद उनके पक्ष में फैसला जाना चाहिए था. अंपायर्स को भी सलाम है. इन हालात में ऐसा करना बेहद मुश्किल है. हम गेंदबाज दबाव बनाने की कोशिश कह रहे थे और फैसला हमारे पक्ष में आया. आखिरकार निर्णय सही ही रहा.’

क्या कहता है आईसीसी का नियम?
कोहली के LBW आउट का रिव्यू देखने पर ऐसा लग रहा था कि बल्ला पहले लगा है, लेकिन अंपायर को लगा कि पैड पहले लगा है. इसके बावजूद कोहली को आउट दिया गया. यदि ऐसे मामलों में ICC का नियम देखें तो यहां कोहली के साथ गलत हुआ है.

MCC के नियम 36.2.2 के मुताबिक, LBW के दौरान अगर बॉल बल्लेबाज और बल्ले पर एक साथ लगती है, तब इसे बल्ले पर बॉल लगना माना जाएगा. साफ है कि नियम कहता है कि ऐसी स्थिति में बल्ले पर बॉल लगना माना जाए, लेकिन कोहली के मामले में ऐसा नहीं हुआ है. LBW के नियम के मुताबिक, अगर बल्ले पर बॉल लगती है तो वह LBW आउट नहीं दिया जाता है.

About bheldn

Check Also

IPL में कोहली की धाक… ऑरेंज कैप जीतकर रचा इतिहास, इस खिलाड़ी के सिर सजा पर्पल कैप

चेन्नई, इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) के 17वें सीजन का फाइनल मुकाबला 26 मई (रविवार) को …