भारतीय महिलाओं के लिए अब ‘करो या मरो’… मजबूत AUS को हराना ही होगा

केपटाउन,

भारतीय टीम ने महिला टी20 वर्ल्ड कप-2023 में अब तक लगातार अच्छा प्रदर्शन नहीं किया है. उसे गुरुवार को केपटाउन में होने वाले पहले सेमीफाइनल में मजबूत ऑस्ट्रेलिया से भिड़ना है. ऐसे में हरमनप्रीत कौर की कप्तानी वाली टीम इंडिया को अपने खेल में काफी सुधार करना होगा. यह मुकाबला भारतीय समयानुसार शाम 6.30 बजे शुरू होगा.

भारत की टीम पिछले 5 वर्षों में शीर्ष टीमों में शामिल रही है, लेकिन कोई बड़ी ट्रॉफी अपनी झोली में नहीं डाल सकी है. उम्मीदों के अनुरूप उसने एक और आईसीसी टूर्नामेंट के अंतिम चार में प्रवेश कर लिया है. हालांकि भारतीय टीम बीते समय में इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाई है, विशेषकर नॉकआउट मैचों में.

पूरा हो पाएगा पिछले टी20 वर्ल्ड कप फाइनल की हार का बदला?
ऑस्ट्रेलिया ने पिछले टी20 वर्ल्ड कप फाइनल में भारत को हराया था. पिछले वर्ष बर्मिंघम कॉमनवेल्थ गेम्स में स्वर्ण पदक मैच में भी उसने जीत दर्ज की थी. 2017 में वनडे विश्व कप फाइनल में पहुंचने के बाद भारत में महिला क्रिकेट काफी तेजी से ऊपर की ओर बढ़ा है और अब समय आ गया है जब वह गुरुवार को ‘करो या मरो’ जैसे मुकाबले में उम्मीदों को प्रदर्शन में तब्दील करे.

हालांकि हरमनप्रीत कौर की कप्तानी वाली टीम ने ग्रुप चरण में पिछले चार में से तीन मैच जीते हैं लेकिन उसकी किसी भी जीत को दमदार नहीं कहा जा सकता, यहां तक कि आयरलैंड के खिलाफ जीत को भी नहीं. टीम को एकमात्र हार इंग्लैंड से मिली.

टॉप ऑर्डर करे कमाल… गेंद खाली ना जाने पाए
अब तक भारत ने टूर्नामेंट में जिस तरह का खेल दिखाया है, उसे देखते हुए केवल यही उम्मीद ही लगाई जा सकती है कि किसी तरह से टीम बड़े मैच से पहले अपनी सभी समस्याओं से निजात पा ले, जिसमें शीर्ष क्रम की अनिरंतरता के अलावा ऋचा घोष को छोड़कर खिलाड़ियों की छक्के जड़ने की अक्षमता शामिल है. टीम को ‘डॉट’ गेंद का ज्यादा प्रतिशत भी कम करना होगा.

सलामी बल्लेबाज शेफाली वर्मा ने तीन साल पहले अपना अंतरराष्ट्रीय पदार्पण किया था, हालांकि वह अब भी किशोरी ही हैं, लेकिन वह अपनी गलतियों से सबक लेने में नाकाम रही. स्ट्राइक रोटेट नहीं कर पाना और शॉर्ट गेंदों के खिलाफ तकनीकी खामियां उन्हें कमजोर बनाती हैं.

स्टार बल्लेबाज स्मृति मंधाना पर होंगी सारी निगाहें?
कप्तान हरमनप्रीत खुद काफी दबाव में हैं, वह अभी तक इस विश्व कप में कोई उपयोगी पारी नहीं खेल पाई हैं. वह उन कुछ बल्लेबाजों में शामिल हैं जो गेंद को लंबी दूरी तक हिट कर सकती हैं, लेकिन वह कुछ ज्यादा ही लंबे समय से अनिरंतर चल रही हैं.

विश्व कप नॉकआउट मैच में हार से उनका कप्तानी कार्यकाल खत्म हो सकता है. जेमिमा रोड्रिग्स ने अभी तक टूर्नामेंट में अच्छा प्रदर्शन किया है लेकिन टीम की मदद के लिए उनके इससे कहीं ज्यादा की उम्मीद है. स्टार बल्लेबाज स्मृति मंधाना निरंतर बल्लेबाजी करने वाली खिलाड़ियों में शामिल रही हैं और एक बार फिर वह ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टीम के लिए महत्वपूर्ण होंगी.

लैनिंग की अगुआई वाली टीम बड़े मैचों में करती है कमाल
वहीं, मेग लैनिंग की अगुआई वाली ऑस्ट्रेलियाई टीम बड़े मैचों में अपने खेल को शीर्ष स्तर तक पहुंचाने के लिए मशहूर है. ऑस्ट्रेलिया ने मार्च 2021 में न्यूजीलैंड से एक टी20 मैच गंवाने के बाद किसी भी प्रारूप में महज दो अधिकारिक मैच गंवाए हैं और ये दोनों हार भारत के खिलाफ मिली हैं. ऑस्ट्रेलियाई टीम ने दिसंबर में मुंबई में हुई सीरीज में 4-1 से जीत हासिल की थी.

About bheldn

Check Also

रसेल निकले तुरुप के इक्के, एक के बाद SRH को ट्रिपल झटके, फाइनल में KKR बना ‘काल’

चेन्नई आंद्रे रसेल वैसे तो अपनी विस्फोटक बल्लेबाजी के लिए पहचाने जाते हैं, लेकिन आईपीएल …