दो दिन में 3,100 करोड़ का प्रॉफिट… अडानी ग्रुप पर दांव लगाकर मालामाल हुए राजीव जैन

नई दिल्ली

मुसीबत में घिरे अडानी ग्रुप के लिए राजीव जैन तारणहार बनकर आए और दो दिन में 3,100 करोड़ रुपये का प्रॉफिट कमा गए। गुरुवार को उनकी कंपनी जीक्यूजी पार्टनर्स ने ब्लॉक डील के जरिए अडानी ग्रुप में 15,446 करोड़ रुपये के शेयर खरीदे। इस खबर के आते ही अडानी ग्रुप के शेयरों को पंख लग गए और इसका राजीव जैन को काफी फायदा हुआ। अडानी ग्रुप की चार कंपनियों में जैन के निवेश की कीमत 18,548 करोड़ रुपये पहुंच गई है। यानी दो दिन में जीक्यूजी पार्टनर्स के निवेश की वैल्यू 3,102 करोड़ रुपये बढ़ गई। ऐसे समय जब निवेशक अडानी ग्रुप की कंपनियों से मुंह मोड़ रहे थे, जैन ने बड़ा जोखिम उठाया। इसका उन्हें तत्काल फायदा भी मिल गया।

24 जनवरी को अमेरिका की शॉर्ट सेलिंग फर्म Hindenburg Research ने अडानी ग्रुप के बारे में एक निगेटिव रिपोर्ट जारी की थी। इससे करीब एक महीने तक ग्रुप के शेयरों में भारी गिरावट रही। गुरुवार को जीक्यूजी पार्टनर्स ने अडानी ग्रुप की चार कंपनियों के शेयर खरीदे। इनमें ग्रुप की अडानी एंटरप्राइजेज, अडानी पोर्ट्स एंड स्पेशल इकॉनमिक जोन, अडानी ग्रीन एनर्जी और अडानी ट्रांसमिशन में शेयरों की खरीदारी की। जीक्यूजी पार्टनर्स का कहना है कि लॉन्ग टर्म में इन कंपनियों में ग्रोथ की अपार संभावनाएं हैं।

कितने का हुआ फायदा
जैन ने अडानी एंटरप्राइजेज का शेयर 1410.86 रुपये के भाव पर खरीदा था। दो दिन में इस शेयर की कीमत में 33 फीसदी तेजी आ चुकी है। इस स्टॉक में जैन को 1,813 करोड़ रुपये का फायदा हुआ है। जीक्यूजी पार्टनर्स ने अडानी पोर्ट्स का शेयर 596.2 रुपये, अडानी ग्रीन एनर्जी का शेयर 504.6 रुपये और अडानी ट्रांसमिशन का शेयर 668.4 रुपये के भाव पर खरीदा था। शुक्रवार को ये शेयर 684.35 रुपये, 562.00 रुपये और 743.75 रुपये के भाव पर बंद हुए। हालांकि ऑस्ट्रेलिया में लिस्टेड GQG Partners के शेयर शुक्रवार को तीन फीसदी की गिरावट के साथ बंद हुए।

GQG Partners की स्थापना जून 2016 में राजीव जैन ने की थी। वह इस कंपनी के चेयरमैन और सीआईओ भी हैं। जीक्यूजी पार्टनर्स दुनिया की प्रमुख ग्लोबल एंड एमर्जिंग मार्केट्स इनवेस्टर्स फर्म है। 31 जनवरी, 2023 के आंकड़ों के मुताबिक यह कंपनी 92 अरब डॉलर से ज्यादा क्लाएंट एसेट्स मैनेज करती है। कंपनी का मुख्यालय अमेरिका के फ्लोरिडा में है। इसके दफ्तर न्यूयॉर्क, लंदन, सिएटल और सिडनी में हैं। यह कंपनी ऑस्ट्रेलिया के सिक्योरिटीज एक्सचेंज में लिस्टेड है। इसकी अधिकांश हिस्सेदारी इसके ही कर्मचारियों के पास है। यह 2021 में ऑस्ट्रेलिया में सबसे बड़ा आईपीओ लाई थी। कंपनी ने इसके जरिए 1.187 अरब डॉलर जुटाए थे और इसकी लिस्टिंग 5.91 अरब डॉलर के मार्केट कैप के साथ हुई थी।

About bheldn

Check Also

इटली से भारतीयों के लिए खुशखबरी, 151,000 लोगों को नौकरी का मौका, जानें क्‍या हैं शर्तें

रोम: यूरोप के सबसे औद्योगिकृत देशों में से एक इटली श्रमिकों की कमी का सामना …