”प्रधानमंत्री बिना सबूत मनीष सिसोदिया को जेल में रखना चाहते हैं’, संजय सिंह का मोदी पर निशाना

नई दिल्ली,

दिल्ली आबकारी नीति मामले में AAP नेता मनीष सिसोदिया की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं. एक तरफ उनकी जमानत अर्जी पर 21 मार्च तक सुनवाई टल गई है तो वहीं राउज एवेन्यू कोर्ट ने सिसोदिया को सात दिन तक ED की हिरासत में भेज दिया है. इस बीच आप नेता और सांसद संजय सिंह ने जमकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी औक केंद्र सरकार पर निशाना साधा है.

शुक्रवार को प्रेस कांफ्रेंस करते हुए आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने निशाना साधते हुए कहा कि नफरत, द्वेष से भरे प्रधानमंत्री और उनकी पार्टी बिना सबूत के मनीष सिसोदिया को जेल में रखना चाहते हैं. प्रधानमंत्री देश को बताएं कि छापे में कुछ नहीं मिला. पूछताछ में कुछ नहीं मिला. तो क्यों ज़मानत पर सुनवाई से एक दिन पहले ED ने गिरफ्तार कर लिया.

उन्होंने कहा कि मनीष सिसोदिया के घर कितनी रिकवरी हुई? प्रधानमंत्री और अडानी के घोटाले से ध्यान हटाने के लिए ED और सीबीआई के किस्से सामने आ रहे हैं. जो BJP में जितना बड़ा पदाधिकारी, उतना बड़ा भ्रष्टाचारी है. प्रधानमंत्री बताएं कि मनीष सिसोदिया के घर कितना कैश मिला. जहां कैश मिलता है, वहां जांच एजेंसियां गजनी मोड में चले जाती हैं.

संजय सिंह ने कहा कि BJP MLA के घर 8 Crore मिलता है. Adani की कंपनी में Mauritius से 42,000 Crore काला धन लगाया जाता है. ये कौन सी जांच है? जो केवल विपक्ष पर है? क्या देश को याद नहीं कि केजरीवाल के दफ़्तर पर CBI Raid मारी थी, क्या मिला? MLAs के ख़िलाफ़ Police Case किए, क्या निकला? अगर Modi जी सोचते हैं कि अपने Adani घोटाले से ध्यान भटका देंगे तो ग़लतफ़हमी में हैं.

26 फरवरी को गिरफ्तार हुए थे सिसोदिया
बता दें कि सीबीआई ने 26 फरवरी को दिल्ली की शराब नीति में कथित घोटाले के मामले में मनीष सिसोदिया को गिरफ्तार किया था. सीबीआई की 7 दिन की हिरासत के बाद राउज एवेन्यू कोर्ट ने उन्हें 20 मार्च तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया था. सिसोदिया से तिहाड़ जेल में ईडी ने पूछताछ भी की थी. इसके बाद उन्होंने अपने मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था

About bheldn

Check Also

सावधान! अयोध्या में सक्रिय है ये शातिर गैंग, राम मंदिर दर्शन के लिए जाते वक्त रहें सतर्क

अयोध्या, अयोध्या में श्री राम मंदिर निर्माण के साथ चौतरफा विकास हो रहा है. यहां …