बारिश-बर्फबारी पर आस्था भारी, खराब मौसम में भी नहीं थम रहा चारधाम तीर्थयात्रियों का सैलाब

देहरादून

उत्तराखंड में पहाड़ी क्षेत्रों में बारिश और बर्फबारी के कारण यात्रा मार्ग पर काफी बाधाएं आ रही हैं लेकिन यात्रियों के उत्साह में कोई कमी नहीं है। बीते दिनों बदरीनाथ धाम में 11 हजार 487 तीर्थयात्री पहुंचे। इनमें 6817 पुरुष 4469 महिलाएं और 201 बच्चों ने भगवान बदरीविशाल के दर्शन किए। बारिश के बावजूद बदरीनाथ धाम में यात्रियों की आस्था नहीं डिगी और पूरे उत्साह के साथ वे भगवान बदरी विशाल के दर्शन के लिए पहुंचे। एसपी चमोली प्रमेंद्र डोभाल के निर्देश पर बदरीनाथ धाम में ग्लेशियर टूटने का भ्रामक वीडियो सोशल मीडिया में प्रसारित करने वाले उत्तर प्रदेश के एक युवक पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है।

फेसबुक पर रोहित राजपूत के पेज से एक भ्रामक वीडियो अपलोड हुआ था, जिसमें ‘श्री बदरीनाथ धाम में टूटा ग्लेशियर पानी की तरह बहने लगी बर्फ लोगों में मचा हड़कंप कई लोग लापता pleasefollowme’ लिखकर पोस्ट किया गया था। इस भ्रामक वीडियो का तत्काल संज्ञान लेते हुए एसपी चमोली प्रमेंद्र डोभाल ने चारधाम यात्रा के संबंध में अफवाह फैलाने, झूठी खबर सोशल मीडिया पर प्रसारित करने पर आरोपी रोहित राजपूत रोहित के विरुद्ध मुकदमा दर्ज करने के निर्देश दिए। एसपी चमोली ने बताया कि बद्रीनाथ धाम की यात्रा सकुशल संचालित की जा रही है। चार धाम यात्रा को लेकर सोशल मीडिया के माध्यम से अफवाह फैलाने वाले शरारती तत्वों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

एसपी चमोली प्रमेंद्र डोभाल ने श्री हेमकुंड साहिब यात्रा के मुख्य पड़ाव थाना गोविंदघाट का औचक निरीक्षण किया। उन्होंने यात्रा व्यवस्थाओं को समय से पूरा करने के निर्देश दिए। एसपी डोभाल ने थानाध्यक्ष एसआई नरेंद्र सिंह को यात्रा शुरू होने से पहले ही हेमकुंड साहिब यात्रा मार्ग पर पड़ने वाली सीजनल चौकियों में पर्याप्त संख्या में पुलिस बल एवं एसडीआरएफ के जवानों को तैनात किए जाने सभी आधारभूत सुविधाएं शौचालय, पानी, भोजनालय व संपूर्ण सुरक्षा व्यवस्था की तैयारियों को समय से पूर्ण करने के लिए निर्देश दिए। इस दौरान एसपी डोभाल ने गोविंदघाट गुरुद्वारे के प्रबंधक सेवा सिंह से मुलाकात कर यात्रा तैयारियों के संबंध में चर्चा की।

गंगोत्री धाम में आज 12346 यात्रियों ने मां गंगा के दर्शन किए। इनमें 3,772 पुरुष 2,830 महिलाएं और 28 बच्चे शामिल रहे। वहीं गंगोत्री धाम की यात्रा पर आई महाराष्ट्र की संगीता अशोक मोहिते (48) पत्नी अशोक महादेव मोहिते निवासी कोल्हापुर को देर रात होटल में सांस संबंधी परेशानी हुई। जिसके बाद उनके परिजनों ने उन्हें उपचार के लिए विवेकानंद अस्पताल में भर्ती कराया। अस्पताल में प्राथमिक उपचार देने के बाद उनको जिला अस्पताल के लिए रेफर किया गया। जहां महिला ने महिला को चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। परिजनों के अनुरोध पर कोतवाली पुलिस ने केदार घाट पर हिंदी रीति रिवाज से महिला का अंतिम संस्कार किया।

यमुनोत्री धाम में आज 5600 तीर्थयात्रियों ने पहुंचकर मां यमुना के दर्शन किए। इनमें 2,725 पुरुष और 2,791 महिलाएं जबकि 84 बच्चे शामिल रहे। गंगोत्री और यमुनोत्री धाम में लगातार हो रही बर्फबारी और बारिश के कारण यात्रियों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा। ऊंचाई वाले स्थानों पर बर्फबारी भी हो रही है जिससे तापमान में काफी गिरावट आ गई है। यमुनोत्री धाम के आखिरी प्रमुख पड़ाव जानकीचट्टी से यमुनोत्री धाम पैदल मार्ग पर मूसलाधार बारिश के बीच यात्री जोखिम भरी आवाजाही कर रहे हैं। वही गंगोत्री हाईवे पर बंदर कोर्ट के समीप पहाड़ी से पत्थर भी गिर रहे हैं। यात्रा सुचारू है लेकिन यात्री जान जोखिम में डालकर यात्रा के लिए जा रहे हैं।

वहीं केदारनाथ में सुबह के समय बर्फबारी होने से यात्रियों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा जबकि बद्रीनाथ में भी सुबह से ही बारिश हो रही है इसके बावजूद बड़ी संख्या में लोग दर्शन के लिए धाम पहुंच रहे हैं। जिलाधिकारी रुद्रप्रयाग मयूर दीक्षित ने अवगत कराया कि मौसम विभाग द्वारा अगले 2-3 दिनों तक अलर्ट जारी किया गया है। उच्च हिमालयी क्षेत्रों में बारिश एवं हिमपात की संभावना के दृष्टिगत केदारनाथ धाम में दर्शन करने आ रहे तीर्थ यात्रियों की सुरक्षा के दृष्टिगत अपील की है कि मौसम ठीक होने तक जो यात्री जिस स्थान पर हैं उसी स्थान पर रहें। रुक-रुक कर यात्रा करें एवं अन्य स्थान में दर्शन करने की अपील की है।

उन्होंने सभी यात्रियों से अपील करते हुए कहा कि सभी यात्री अपनी सुरक्षा का विशेष ध्यान रखें तथा राज्य सरकार एवं जिला प्रशासन द्वारा जारी गाइडलाइन का पालन करते हुए जिला प्रशासन का सहयोग करें। उन्होंने सभी यात्रियों से अपेक्षा की है कि मौसम ठीक होने पर ही केदारनाथ की यात्रा शुरू करें। उन्होंने कहा कि वर्तमान में केदारनाथ धाम में लगातार बर्फवारी हो रही है। सोनप्रयाग से साढ़े दस बजे के बाद यात्रियों को केदारनाथ जाने की अनुमति नहीं दी जा रही है। आज सुबह 6048 तीर्थयात्रियों को सोनप्रयाग से केदारनाथ धाम के लिए रवाना किया गया। इसके बाद तेज बारिश के कारण यात्रियों को आगे जाने से रोक दिया गया।

About bheldn

Check Also

जाति जनगणना को कोई ताकत नहीं रोक सकती… इशारों-इशारों में राहुल का पीएम मोदी पर निशाना

नई दिल्ली कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और …