कंडोम बनाने वाली कंपनी ने कराई जोरदार कमाई, IPO वालों की लगी लॉटरी

नई दिल्ली,

कंडोम बनाने वाली दिग्गज फार्मा कंपनी मैनकाइंड के शेयरों की मंगलवार को स्टॉक मार्केट में जोरदार लिस्टिंग हुई और निवेशकों ने ताबड़तोड़ कमाई की. अपने इश्यू प्राइस से 20 फीसदी अधिक के प्रीमियम पर लिस्ट हुए Mankind Stocks ने कारोबार खत्म होते-होते शानदार रिटर्न दिया.

10 फीसदी का अपर सर्किट
बाजार में कारोबार खत्म होने पर कंपनी के स्टॉक 10 फीसदी के अपर सर्किट के साथ क्लोज हुए. नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) पर मैनकाइंड फार्मा लिमिटेड के शेयर 9 मई 2023 को 1,430 रुपये के भाव पर बंद हुए. इस तरह से देखा जाए तो 1,080 रुपये के इश्यू प्राइस पर 32.41 फीसदी का रिटर्न इस शेयर ने अपने निवेशकों को लिस्टिंग डे पर दिया. लिस्ट होने के बाद पूरे दिन कंडोम बनाने वाली इस कंपनी के शेयर ने तेजी के साथ कारोबार किया. बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) पर शेयर 1,424.05 रुपये के स्तर पर पहुंचकर बंद हुआ.

20 फीसदी प्रीमियम पर हुई थी लिस्टिंग
शेयर बाजार में लिस्टिंग की बात करें तो Mankind Pharma की स्टॉक मार्केटमें बीएसई (BSE) पर अपने इश्यू प्राइस से 20 फीसदी अधिक के प्रीमियम पर लिस्टिंग हुई थी. मैनकाइंड फार्मा का 1,080 रुपये का इश्यू 1300 रुपये पर लिस्ट हुआ. फार्मास्युटिकल कंपनी ने नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) पर भी समान दर पर अपने पहले ट्रेडिंग सेशन की शुरुआत की है. यानी जिन लोगों ने मैनकाइंड फार्मा के आईपीओ पर दांव लगाया था, उन्हें पहले दिन ही प्रति शेयर 220 रुपये का मुनाफा हुआ है.

मार्केट में लिस्टिंग के बाद मैनकाइंड फॉर्मा के शेयर तेजी ऊपर की तरफ भागे. नेशनल स्टॉक एक्सचेंज पर सुबह 11:05 बजे ही 28.75 फीसदी की बढ़त लेते हुए 1,390.55 रुपये पर कारोबार कर रहे थे. ये रॉकेट जैसी तेजी कंपनी के शेयरों में कारोबार की समाप्ति तक देखने को मिली.

25 अप्रैल को इश्यू हुआ था ओपन
मैनकाइंड फार्मा देश की सबसे बड़ी दवा कंपनियों में शामिल है. इसका आईपीओ 25-27 अप्रैल के बीच 1,026-1,080 रुपये प्रति शेयर के प्राइस बैंड के साथ सब्सक्रिप्शन के लिए ओपन हुआ था. हालांकि, आईपीओ में योग्य संस्थागत खरीदारों (QIB) का हिस्सा 4916 फीसदी सब्सक्राइब्ड हुआ था, लेकिन रिटेल कैटेगरी में इसे अच्छा रिस्पांस नहीं मिला था और RII अंडरसब्सक्राइब हुआ था. इस कैटेगरी में इश्यू को 0.92 गुना ही सब्सक्रिप्शन मिला था. जबकि, गैर संस्थागत निवेशकों (NII) का हिस्सा 380 फीसदी सब्सक्राइब किया गया था.

 

About bheldn

Check Also

भारत के 4 मसालों में कैंसर पैदा करने वाला केमिकल, विदेश में लगा बैन, घरों में खूब होता है इस्तेमाल

भारत के मसालों का जिक्र किए बिना दुनिया का इतिहास पूरा नहीं किया जा सकता …