LIC की लिस्टिंग का एक साल पूरा, इनवेस्टर्स को 2.5 लाख करोड़ का झटका

नई दिल्ली

एलआईसी (LIC) की लिस्टिंग के एक साल पूरे हो गए हैं। पिछले साल जब देश की सबसे बड़ी इंश्योरेंस कंपनी एलआईसी का मेगा आईपीओ आया था तो इसे गेमचेंजर बताया जा रहा था। रिटेल इनवेस्टर्स ने बढ़चढ़कर इसमें हिस्सा लिया था। लेकिन पिछले एक साल में एलआईसी के शेयर ने अपने निवेशकों को निराश किया है। इसका इश्यू प्राइस 949 रुपये था और अभी यह उससे 40 फीसदी नीचे ट्रेड कर रहा है। यानी एक साल में इस शेयर ने निवेशकों को 2.5 लाख करोड़ रुपये का झटका दिया है। लिस्टिंग के बाद भी इस कंपनी की 96.5 फीसदी हिस्सेदारी सरकार के पास है। एलआईसी मार्केट कैप के हिसाब से देश की 15 टॉप कंपनियों में शामिल है। लेकिन कंपनी के फ्री फ्लोट शेयरों की संख्या मामूली है। यही कारण है कि यह निफ्टी या सेंसेक्स में जगह नहीं बना पाई है।

पिछले एक साल में म्यूचुअल फंड्स और एफआईआई ने इसमें अपनी हिस्सेदारी कम की है। मार्च के शेयरहोल्डिंग पैटर्न के मुताबिक एलआईसी में म्यूचुअल फंड्स की हिस्सेदारी 0.63 फीसदी रह गई है जो दिसंबर में 0.66 फीसदी थी। इसी तरह एफआईआई की हिस्सेदारी भी 0.17 फीसदी से घटकर 0.08 परसेंट रह गई है। लेकिन इस दौरान रिटेल इनवेस्टर्स की हिस्सेदारी 1.92 परसेंट से बढ़कर 2.04 फीसदी हो गई है। इसकी वजह यह है कि शेयर की कीमत में गिरावट से रिटेल इनवेस्टर्स ने इसे खरीदा है। हालांकि इस दौरान एलआईसी के कुल रिटेल इनवेस्टर्स की संख्या में गिरावट आई है। आईपीओ के समय एलआईसी के रिटेल इनवेस्टर्स की संख्या 39.89 लाख थी। मार्च तिमाही में यह संख्या करीब 33 लाख रह गई है।

अब तक का सबसे बड़ा इश्यू
एलआईसी का 21,000 करोड़ रुपये का आईपीओ देश का अब तक का सबसे बड़ा इश्यू है। कई लोगों ने इसके जरिए पहली बार शेयर मार्केट में पैसा लगाया था। लेकिन उनके हाथ निराशा लगी है। ट्रेंडलाइन डेटा के मुताबिक एलआईसी को कवर करने वाले 15 एनालिस्ट्स में से 12 ने इसे खरीदने की सलाह दी है जबकि तीन ने इसे होल्ड पर रखने की सिफारिश की है। वीकली चार्ट पर एलआईसी के शेयर ने बियरिश चैनल पैटर्न से ट्रेंड ब्रेकआउट दिया है। मूमेंटम इंडिकेटर MACD भी इसमें तेजी का इशारा दे रहा है। आनंद राठी के गणेश डोंगरे का कहना है कि 535 रुपये के स्टॉप लॉस पर इसे खरीदा जा सकता है। आने वाले दिनों में इसकी कीमत 610 रुपये तक जा सकती है। दोपहर बाद 1.30 बजे कंपनी का शेयर बीएसई पर 0.16 फीसदी तेजी के साथ 568.30 रुपये पर ट्रेड कर रहा था।

About bheldn

Check Also

गर्मी को लेकर क्यों बढ़ रही टेंशन? लोकसभा चुनाव में लू वाला कनेक्शन समझ लीजिए

नई दिल्ली 2024 लोकसभा चुनाव में एक फेज की वोटिंग 19 अप्रैल को संपन्न हो …