‘वो आपका छोटा भाई है, बुलाकर डांट लीजिए’, केजरीवाल ने LG को चिट्ठी लिख किया तू-तू मैं-मैं का जिक्र

नई दिल्‍ली

मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल और दिल्‍ली के उपराज्‍यपाल वीके सक्‍सेना के बीच कहासुनी जारी है। केजरीवाल ने एलजी को पत्र लिखा है। यह वीके सक्‍सेना की चिट्ठी के जवाब में लिखा गया है। इस पत्र के केंद्र में दिल्ली के सेवा मंत्री सौरभ भारद्वाज हैं। सीएम ने जवाबी पत्र में एलजी की भाषा पर आपत्ति जताई है। इसे तू-तू मैं-मैं वाला बताया है। साथ ही यह भी कहा है कि कई सालों के संघर्ष के बाद दिल्ली की जनता को सुप्रीम कोर्ट से न्याय मिला है। दिल्ली वालों को उनसे बहुत उम्मीदें हैं। दिल्ली को दुनिया का No.1 शहर बनाकर दिखाना उनका मकसद है। उन्‍हें दिल्ली के लिए बहुत काम करने हैं। उसके लिए एलजी के आशीर्वाद और सहयोग की कामना है। सौरभ भारद्वाज का जिक्र करते हुए केजरीवाल ने कहा कि वह एलजी के छोटे भाई जैसा है। उन्‍हें बुलाकर वह डांट सकते हैं।

पहले एलजी वीके सक्‍सेना ने ल‍िखी च‍िट्ठी…
दिल्ली के उपराज्यपाल वीके सक्सेना ने शुक्रवार को सीएम अरविंद केजरीवाल को पत्र लिखकर आरोप लगाया था कि सेवा के मामलों पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद आम आदमी पार्टी (आप) सरकार असंवैधानिक कृत्य करने के साथ ही नियमों और प्रक्रियाओं की अवहेलना कर रही है। उपराज्यपाल ने लिखा कि पिछले एक सप्ताह के दौरान दिल्ली में शासन का एक उदासीन रवैया उभरा जहां संगठित, संरचित और विशेषज्ञ प्रशासनिक तंत्र फिर से नेताओं के अहंकार का खामियाजा भुगत रहा है।

केजरीवाल को लिखे पत्र में सक्सेना ने कहा, ‘मैं इस बात को आपके संज्ञान में लाने के लिए पत्र लिख रहा हूं कि आपकी सरकार और इसके मंत्रियों, खासकर (सेवा) मंत्री सौरभ भारद्वाज की ओर से नियमों और प्रक्रियाओं की अवहेलना की जा रही है। उनके जरिये असंवैधानिक कृत्य और डराने-धमकाने का काम हो रहा है। सुप्रीम कोर्ट की संविधान पीठ के 11 मई 2023 को दिए फैसले के बाद से ऐसा किया जा रहा है। सक्सेना ने शासन की अराजक शैली का आरोप लगाते हुए दावा किया कि उन्हें ट्विटर और मीडिया के माध्यम से फैसलों से अवगत कराया जा रहा है।

फ‍िर द‍िल्‍ली के सीएम ने ल‍िखा खत…
जवाब में सीएम ने एलजी को चिट्ठी लिखी। केजरीवाल ने लिखा कि जो पत्र उन्‍हें मिला उस पत्र की भाषा तू-तू, मैं-मैं वाली है। दिल्‍ली के लोगों को कई सालों के संघर्ष के बाद सुप्रीम कोर्ट से न्‍याय मिला है। उन्‍हें आम आदमी पार्टी से बहुत उम्‍मीद है।

सौरभ का जिक्र करते केजरीवाल ने लिखा, ‘अपने पत्र में आपने लिखा कि सौरभ ने ऐसा वैसा कहा। वैसे तो वह यह बात मान नहीं सकते। लेकिन, उसने कुछ कहा भी तो वह आपका छोटा भाई है। उसे बुलाकर डांट लीजिए। क्‍या एक सीएम और एलजी में ये बातें पत्राचार का विषय होनी चाहिए।’

सौरभ भारद्वाज ने इस पूरे मसले पर कहा, ‘मैंने एलजी साहब को साफ साफ शब्दों में बताया है कि 16 तारीख को मैं रात को 9:30 बजे तक चीफ सेक्रेट्री साहब का इंतजार करता रहा कि वो आएंगे और सिविल सर्विसेज बोर्ड की मीटिंग करेंगे। मैंने उनको कई बार वॉटसऐप मैसेज भी किया। उन्होंने कहा कि मैं बस आ रहा हूं। रात को 9:30 बजे जब वो आए, तो उन्होंने मेरे केबिन में मुझे जान से मारने की धमकी दी। एलजी साहब ने कहा है कि मैं इस पर कार्रवाई करूंगा। चूंकि एलजी साहब हमारे साथ उनकी इस मीटिंग की वीडियो रिकॉर्डिंग करवा रहे थे, इसलिए हमने भी पूरी मीटिंग की वीडियो रिकॉर्डिंग की है। हम चाहते हैं कि नरेश कुमार पर भी सख्त कार्रवाई हो।’

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को यह भी सवाल किया कि क्या केंद्र सेवाओं के मामलों में निर्वाचित सरकार को कार्यकारी अधिकार देने वाले सुप्रीम कोर्ट के फैसले को अध्यादेश के जरिये पलटने की ‘साजिश’ कर रहा है। पिछले हफ्ते सुप्रीम कोर्ट ने एक महत्वपूर्ण फैसले में दिल्ली सरकार को अधिकारियों के स्थानांतरण और पदस्थापना सहित सेवा मामलों में कार्यकारी शक्ति दी थी।

About bheldn

Check Also

मोदी की बातों को वाहियात बताने वाले मुस्लिम नेता पर गिरी गाज, BJP ने पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाया

बीकानेर/जयपुर राजस्थान में लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण की वोटिंग से पहले बीजेपी ने बड़ा …