मोदी सरकार खुद बनवाएगी राहुल गांधी का नया पासपोर्ट, स्वामी ने बताई इसके पीछे की वजह

नई दिल्ली

राहुल गांधी को नया पासपोर्ट जारी करने का मामला फिलहाल दिल्ली की एक अदालत में अटका हुआ है। बीजेपी के पूर्व राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी की आपत्ति की वजह से अदालत को सुनवाई करनी पड़ रही है। लेकिन स्वामी का कहना है कि मोदी सरकार राहुल गांधी को खुद ही नया पासपोर्ट बनाकर दे देगी। बीजेपी के पूर्व सांसद ने इसकी जो वजह बताई उसे सुनकर कुछ लोग हंस सकते हैं तो कुछ गुस्सा भी कर सकते हैं।

राहुल विदेश जाएंगे तो कुछ ऐसा जरूर बोलेंगे जो एंटी नेशनल होगा
सुब्रमण्यम स्वामी का कहना है कि राहुल गांधी विदेश जाएंगे तो कुछ न कुछ ऐसा जरूर बोलेंगे जो देश के खिलाफ हो। वो जो कहेंगे वो बीजेपी के हक में होगा तो कांग्रेस को उनके बयान से परेशानी हो सकती है। लेकिन अगर पासपोर्ट होगा ही नहीं तो राहुल विदेश कैसे जाएंगे। सुब्रमण्यम स्वामी का कहना है कि इसी वजह से मोदी सरकार राहुल गांधी का नया पासपोर्ट जारी करने में बिजली की रफ्तार से रुचि लेगी। हालांकि स्वामी का कहना है कि राहुल के पासपोर्ट पर उनकी आपत्ति पूरी तरह से कानूनी है। उनका बीजेपी की उस राजनीति से लेना देना नहीं है जो वो राहुल को लेकर करती है।

सांसद के तौर पर जारी पासपोर्ट लौटाया, अब दिल्ली की कोर्ट में लगाई याचिका
राहुल गांधी को गुजरात के सूरत की एक अदालत ने मानहानि के एक मामले में दोषी ठहराए जाने के बाद सांसद के रूप में अयोग्य घोषित कर दिया गया था। राहुल ने अपने विशेष दस्तावेज लौटा दिए थे। उन्होंने सामान्य पासपोर्ट हासिल करने के लिए दिल्ली की अदालत का रुख किया है।

राहुल गांधी की अर्जी पर अदालत ने सुब्रमण्यम स्वामी को 26 मई तक अपना जवाब दाखिल करने को कहा है, क्योंकि वह उस नेशनल हेराल्ड मामले में एक आरोपी हैं, जिसमें स्वामी शिकायतकर्ता हैं। एसीएमएम वैभव मेहता ने कहा कि यात्रा का अधिकार एक मौलिक अधिकार है। अदालत ने गांधी के यात्रा करने पर कोई प्रतिबंध नहीं लगाया था। एसीएमएम मेहता ने कहा कि गांधी को दिसंबर 2015 में जमानत देते हुए अदालत ने उनकी यात्रा पर कोई प्रतिबंध नहीं लगाया था। मजिस्ट्रेट ने कहा कि अदालत ने गांधी की यात्रा पर प्रतिबंध लगाने संबंधी स्वामी के अनुरोध को तब खारिज कर दिया था।

नेशनल हेराल्ड मामले में स्वामी ने राहुल सोनिया पर लगाए हैं तीखे आरोप
नेशनल हेराल्ड मामला सोनिया गांधी, राहुल गांधी के खिलाफ है। उन पर धोखाधड़ी, साजिश और आपराधिक विश्वासघात का आरोप लगाया गया है। एक अदालत ने 2015 को उन्हें जमानत देते हुए कहा था कि आरोपी प्रतिष्ठित व्यक्ति हैं और इस बात की कोई आशंका नहीं है कि वे भाग जाएंगे।

 

About bheldn

Check Also

इजरायल और ईरान में भीषण युद्ध का खतरा, भारत ने यूं ही नहीं जारी एडवाइजरी, खतरे में 22 हजार भारतीय

तेलअवीव/तेहरान: ईरान और इजरायल के बीच युद्ध के बादल मंडरा रहे हैं। अमेरिका की खुफिया …