शैतान साहिल को देख खौफ भी कांप जाए, साक्षी को मरता देख देखती रही दिल्ली

नई दिल्ली

पहले 5-7 वार तक शरीर में हरकत दिखी लेकिन उसके बाद वह लाश बन चुकी थी। उस हैवान के सिर पर खून सवार था। वह दनादन चाकू घोंपता रहा। वीडियो आपको विचलित कर सकता है। एक बार उसने चाकू मारा तो लड़की का शरीर ऊपर उछल गया। लड़की दम तोड़ चुकी थी। दिल्ली के शाहबाद डेयरी में नाबालिग लड़की का नाम साक्षी था। लगातार हत्यारे ने 20 बार चाकू से वार किए, उसके बाद भी उसका शैतानी दिमाग शांत नहीं हुआ। उसने पत्थर से भी कुचल दिया। मंजर ऐसा था कि ‘खौफ’ भी कांप जाए। 16 साल की साक्षी का सरेराह मर्डर हो जाता है और दिल्ली देखती रहती है। शर्मनाक। कल शाम साक्षी के साथ वहां मौजूद 10 लोगों की इंसानियत भी मर गई। जिस गली में यह सनकी लड़का चाकू मार रहा था, उस समय वहां करीब 5-6 लोग और 3-4 महिलाएं दिखाई दे रही होती है। एक शख्स ने चाकूबाज को रोकने की कोशिश भी की लेकिन बाद में वह भी भाग गया। आरोपी का नाम साहिल है और पुलिस उसे ढूंढ रही है लेकिन इन 10 लोगों को नींद कैसे आई होगी?

एक बार फिर से नाबालिग की हत्या का यह शर्मनाक वीडियो देख लीजिए। इस बार उन लोगों को देखिए जो पास से गुजर रहे होते हैं। ऐसे लोग मिलें तो इन्हें ‘मुर्दा’ कह दीजिएगा। लड़के को अगर दो लोग पकड़ लेते तो शायद साक्षी की जान बच जाती। पार्किंग में जगह के लिए सुबह-शाम भिड़ने वाले दिल्लीवालों का जमीर एक कत्ल को लाइव देखते हुए नहीं जागा। हैरानी होती है कि 2-3 लोग खड़े होकर देखने लगते हैं जैसे मदारी कोई खेल दिखा रहा हो। हल्की सफेद टीशर्ट वाला लड़का बड़े आराम से जेब में हाथ डाले चला जाता है। वैसे तो गली में पति-पत्नी के बीच झगड़ा हो या पड़ोसियों के बीच का बवाल, लोग इतने फ्री होते हैं कि गाड़ी खड़ी करके मौज लेने से नहीं चूकते। यहां एक लड़की की जान ली जा रही थी और ये मुर्दे बन गए थे।

उन 9-10 लोगों और खासतौर से महिलाओं से कोई पूछे कि क्या आपके घर की बेटी होती तो भी आप ऐसे मूर्ति बन जाते। महिलाओं का तो मां का दिल होता है। उनका भी दिल क्यों नहीं पसीजा। अपनी जान बचाकर भागना तो ठीक था लेकिन एक बच्ची की जान बचाने के लिए पत्थर भी फेंका होता। सीसीटीवी फुटेज से साफ है कि पास में कुछ पत्थर रखे हुए थे। अगर 5-7 लोग पत्थर से मारने भी लगते तो वह हत्यारा रुक जाता और उसे पकड़ा जा सकता। गली में कई लोगों के घर है और उस समय पौने नौ बजे थे। लेकिन वहां किसी ने भी हिम्मत नहीं दिखाई।

बिना ब्लर के वीडियो देखेंगे तो आपका कलेजा मुंह को आ जाएगा। वो बच्ची पहले अपने हाथों से उस दरिंदे के वार को रोकने की कोशिश करती है। हत्यारा लगातार वार करता जाता है। कुछ ही देर में लड़की नाली के पास बैठ जाती है और फिर उस लाचार के शरीर पर वह जालिम घाव करता रहा। साक्षी और साहिल दोनों एक दूसरे को जानते थे। बताते हैं कि किसी बात को लेकर दोनों में झगड़ा हुआ था। साहिल AC रिपेयरिंग का काम करता है और कल शाम उसने चाकू से घोंपकर साक्षी को मार डाला।

About bheldn

Check Also

डॉक्टरों ने बनाई ऐसी दवा दोबारा नहीं होगा कैंसर, जानलेवा साइड इफेक्ट्स करेगी कम

मुंबई, देशभर में हर साल बड़ी संख्या में लोग कैंसर से जान गंवा देते हैं. …