कनाडा में पनप रहे खालिस्तान पर PM मोदी सख्त! प्रधानमंत्री ट्रूडो से कही ये बात

नई दिल्ली,

भारत ने 2023 में G20 समिट की अध्यक्षता की. रविवार को G20 के समापन के साथ ही अगले वर्ष की अध्यक्षता ब्राजील को दी जाएगी. इस समिट के लिए दिल्ली में दुनियाभर के कई राष्ट्राध्यक्ष जुटे हुए थे. इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को अपने कनाडाई समकक्ष जस्टिन ट्रूडो को कनाडा में चरमपंथी तत्वों की जारी भारत विरोधी गतिविधियों के बारे में भारत की कड़ी चिंताओं से अवगत कराया. पीएम मोदी ने ट्रूडो का ध्यान उन खालिस्तानी अलगाववादियों की ओर खींचा जो राजनयिकों के खिलाफ हिंसा भड़का रहे थे और भारतीयों को धमकी दे रहे थे.

विदेश मंत्रालय (एमईए) ने कहा कि G20 शिखर सम्मेलन के मौके पर ट्रूडो के साथ अपनी बातचीत में, मोदी ने यह भी उल्लेख किया कि भारत-कनाडा संबंधों की प्रगति के लिए परस्पर सम्मान और विश्वास पर आधारित संबंध जरूरी हैं. इसमें कहा गया, प्रधानमंत्री ने इस बात पर जोर दिया कि भारत-कनाडा संबंध साझा लोकतांत्रिक मूल्यों, कानून के शासन के प्रति सम्मान और लोगों के बीच मजबूत संबंधों पर आधारित हैं.

विदेश मंत्रालय ने जारी किया बयान
MEA ने बयान में कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने कनाडा में चरमपंथी तत्वों की भारत विरोधी गतिविधियों को जारी रखने के बारे में भारत की कड़ी चिंताओं से ट्रूडो को अवगत कराया. वे अलगाववाद को बढ़ावा दे रहे हैं और भारतीय राजनयिकों के खिलाफ हिंसा भड़का रहे हैं, राजनयिक परिसरों को नुकसान पहुंचा रहे हैं और कनाडा में भारतीय समुदाय और उनके पूजा स्थलों को धमकी दे रहे हैं.

‘ऐसी ताकतों से निपटने के लिए दोनों देशों का साथ जरूरी’
पीएम ने ट्रूडो से कहा कि संगठित अपराध, ड्रग सिंडिकेट और मानव तस्करी के साथ ऐसी ताकतों का गठजोड़ कनाडा के लिए भी चिंता का विषय होना चाहिए. विदेश मंत्रालय ने अपने बयान में कहा, ऐसे खतरों से निपटने के लिए दोनों देशों के लिए सहयोग करना जरूरी है.

ट्रूडो ने खालिस्तानी आंदोलन को लेकर कही ये बात
कनाडा में खालिस्तानी तत्वों की बढ़ती गतिविधियों पर भारत की चिंताओं के बारे में पूछे जाने पर, ट्रूडो ने एक कहा कि कनाडा हमेशा शांतिपूर्ण विरोध की स्वतंत्रता की रक्षा करेगा, लेकिन साथ ही उन्होंने कहा कि वह हमेशा हिंसा को रोकेगा और नफरत को पीछे धकेलेगा. उन्होंने कहा, कनाडा हमेशा अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता, अंतरात्मा की स्वतंत्रता और शांतिपूर्ण विरोध की स्वतंत्रता की रक्षा करेगा और यह हमारे लिए बेहद महत्वपूर्ण है.

साथ ही ट्रूडो ने कहा, हम हिंसा को रोकने और नफरत को रोकने के लिए हमेशा मौजूद हैं. मुझे लगता है कि समुदाय के मुद्दे पर, यह याद रखना जरूरी है कि कुछ लोगों की हरकतें पूरे समुदाय या कनाडा का प्रतिनिधित्व नहीं करती हैं. कनाडाई प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत कई क्षेत्रों में कनाडा का एक महत्वपूर्ण भागीदार है. उन्होंने कहा, भारत दुनिया की एक असाधारण रूप से महत्वपूर्ण अर्थव्यवस्था है और जलवायु परिवर्तन से लड़ने से लेकर नागरिकों के लिए विकास और समृद्धि बनाने तक हर चीज में कनाडा का एक महत्वपूर्ण भागीदार है. कनाडाई प्रधानमंत्री ने कहा कि दोनों पक्ष मौजूदा सहयोग का विस्तार करना जारी रखेंगे.इसके बाद एक ट्विटर पोस्ट में पीएम मोदी ने कहा कि उन्होंने और ट्रूडो ने विभिन्न क्षेत्रों में भारत-कनाडा संबंधों की पूरी श्रृंखला पर चर्चा की.

ट्रूडो ने किया ट्वीट
इसके अलावा कनाडाई पीएम ट्रूडो ने भी एक ट्वीट में अपनी इस मुलाकात की जानकारी दी. उन्होंने लिखा, आज मैंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की. हमने G20 की अपनी प्राथमिकताओं के बारे में बात की. साथ ही पिछले कुछ दिनों में हुई प्रगति, जलवायु परिवर्तन से लड़ने, लैंगिक समानता को आगे बढ़ाने, यूक्रेन का समर्थन करने और कानून के शासन को बनाए रखने पर अपने विचार रखे.

About bheldn

Check Also

भ्रम का जाल टूट चुका है, तानाशाही का समूल नाश… उपचुनाव में जीत बाद क्या बोले राहुल-प्रियंका

नई दिल्ली : लोकसभा चुनाव के बाद देश के 7 राज्यों में 13 विधानसभा सीटों …