‘सरकारी अफसरों का काम रथ यात्रा निकालना नहीं है’, पीएम मोदी को ये क्या नसीहत दे रहे खरगे?

नई दिल्ली

देश में चुनावी माहौल के बीच कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने पीएम मोदी को घेरना शुरू कर दिया है। पीएम नरेंद्र मोदी को लिखे अपने पत्र पर कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने कहा, ‘सरकारी अफसरों और फौजियों को प्रचार में लगाना ठीक नहीं है। मोदी सरकार ने आदेश दिया है कि संयुक्त सचिव, उप निदेशक, उप सचिव जो भी अफसर ज़िले में होंगे वे रथ प्रभारी बनेंगे।’ उन्होंने कहा, ‘मैंने पहली बार देखा कि किसी कार्यक्रम के लिए अफसरों का इस्तेमाल हो रहा है, हम इसकी निंदा करते हैं, इसलिए इस संबंध में मैंने पत्र लिखा है।’

खरगे ने कहा, ‘मोदी सरकार हमेशा सिर्फ प्रचार में ही लगी रहती है। जब उनके खिलाफ देश में एक माहौल बन रहा है, तब उन्होंने एक आदेश निकाला है कि अफसर, अब उनकी सरकार के प्रचार के लिए ‘रथ प्रभारी’ बनेंगे। अब वो सरकारी काम छोड़ कर सरकार की रथ यात्रा निकालेंगे। इससे पहले फौजियों को भी आदेश दे दिया है कि जब वो छुट्टी पर घर जाए तो सरकारी योजनाओं का प्रचार करें। जब हमारे जांबाज फौजी अपने घर जाते हैं तो परिवार के साथ रहते हैं, आराम करते हैं, अपनी पारिवारिक जिम्मेदारियों को पूरा करते हैं।’

खरगे ने कहा, ‘सरकारी अफ़सरों का काम रथ यात्रा निकालना नहीं है, फौजी का काम सरकार का प्रचार करना नहीं है। ऐसा पहली बार हो रहा है कि अफसरों और फौजियों का इस तरह से कोई सरकार प्रचार के लिए इस्तेमाल कर रही है। अपनी योजनाओं के प्रचार के लिए फौजियों और अफसरों का इस्तेमाल मत कीजिए। भाजपा ये सब करवा कर देश को कमजोर कर रही है, लोकतांत्रिक सिस्टम को खत्म कर रही है। इसीलिए हमने प्रधानमंत्री जी को पत्र लिखा है और इन आदेशों को तुरंत वापस लेने का आग्रह किया है।’

About bheldn

Check Also

INDIA ब्लॉक की 1 जून को मीटिंग बुलाने के पीछे क्या है खड़गे और कांग्रेस की रणनीति? 5 Point में समझें

नई दिल्ली, लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण का मतदान बाकी है और कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन …