संजय सिंह की रिहाई पर पत्नी अनीता ने जताई खुशी, उनके तीन भाई केजरीवाल, सिसोदिया, सत्येंद्र जैन भी जल्द बाहर आएंगे

नई दिल्ली,

आम आदमी पार्टी के नेता और राज्यसभा सांसद संजय सिंह को दिल्ली के कथित शराब घोटाले से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग केस में जमानत मिल गई है. वह छह महीने से तिहाड़ जेल में बंद थे. कोर्ट में ईडी ने उनकी जमानत का विरोध नहीं किया. संजय सिंह की रिहाई पर उनकी पत्नी ने खुशी जाहिर की और कहा कि उनके तीन भाई अरविंद केजरीवाल, मनीष सिसोदिया और सत्येंद्र सिंह भी जल्द बाहर आएंगे.

‘यह सत्य की जीत है’
अनीता सिंह ने कहा, ‘मैं बहुत खुश हूं. सत्य की जीत हुई है. संजय सिंह के ऊपर लगे आरोप बेबुनियाद थे. हमारे तीन भाई अरविंद, मनीष और सत्येंद्र भी बाहर आएंगे.’ उन्होंने कहा कि बजरंग बली की कृपा हुई है. संजय सिंह सभी का शुक्रिया अदा करते हैं. अनीता सिंह ने कहा, ‘अभी यह लड़ाई लंबी है. आज खुशी का दिन है लेकिन जब तक हमारे तीनों बड़े भाई अरविंद केजरीवाल, मनीष सिसोदिया और सत्येंद्र जैन बाहर नहीं आ जाते यह संघर्ष जारी रहेगा. खुशी का भी माहौल है लेकिन अंदर कष्ट भी है क्योंकि हमारे तीनों भाई अंदर हैं. जब तक वे बाहर नहीं आएंगे पूरी तरह से खुशी नहीं मनाएंगे, तब तक कोई जश्न नहीं मनेगा.’

आप नेता सौरभ भारद्वाज ने कहा कि आम आदमी पार्टी के ऊपर जो संकट था वह संकटमोचन हनुमान ने दूर किया है. PMLA एक्ट जिसमें अक्सर बेल नहीं मिलती है, इतने ठोस कानून हैं. फिर भी संजय सिंह को बेल मिली. यह लोकतंत्र की जीत है. मंगलवार को ईडी ने कोर्ट में कहा कि संजय सिंह को जमानत पर रिहा कर दिया जाए. हमें कोई आपत्ति नहीं है. इसके बाद जस्टिस संजीव खन्ना की अध्यक्षता वाली तीन जजों की बेंच ने अपना फैसला सुनाया. हालांकि, जमानत की शर्तें ट्रायल कोर्ट द्वारा तय की जाएंगी.

संजय सिंह के वकील की दलील
संजय सिंह को ईडी ने 6 अक्टूबर 2023 को गिरफ्तार किया था. संजय के वकील ने सुप्रीम कोर्ट में दलील दी कि हमारे मुवक्किल साढ़े छह महीने से ज्यादा समय से न्यायिक हिरासत में हैं. अब तक मनी ट्रेल साबित नहीं हो पाया है. जेल में रखने को कोई कारण नहीं है. इस दौरान ईडी के वकील ने जमानत याचिका का विरोध नहीं किया. इस पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा, हम अपील स्वीकार करते हैं और संजय सिंह को जमानत पर रिहा करने का निर्देश देते हैं.

रूटीन चेकअप के लिए अस्पताल भेजा गया
तिहाड़ जेल के सूत्रों के मुताबिक संजय सिंह ने लिवर में समस्या होने की बात कही है, जिसके बाद उन्हें रूटीन चेकअप के लिए ILBS अस्पताल भेजा गया है. जेल सूत्रों के अनुसार जेल से रिहा होने का समय 6 बजे तक होता है लेकिन कैदियों की गिनती 7 बजे तक चलती है. लिहाजा 7 बजे तक भी कैदी को रिहा किया जाता है.

सुप्रीम कोर्ट से ऑर्डर पहले ट्रायल कोर्ट को जाएगा. उसके बाद ट्रायल कोर्ट बेल का ऑर्डर तिहाड़ जेल को भेजेगी, जब तिहाड़ जेल को बेल का ऑर्डर मिलेगा तब ही वे रिहाई की प्रक्रिया शुरू करेंगे. जेल प्रशासन को रिलीज ऑर्डर बनाने में कम से कम 2 घंटे का वक्त लगता है. ऐसे में संजय सिंह आज यानी मंगलवार को जेल से बाहर आएं इसकी संभावना कम लगती है.

About bheldn

Check Also

जिंदा है दाऊद इब्राहिम का सबसे बड़ा दुश्मन! 9 साल बाद सामने आई छोटा राजन की नई तस्वीर

नई दिल्ली, दाऊद इब्राहिम का जानी दुश्मन और दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद अंडरवर्ल्ड …