पांचवें चरण की 49 सीटों पर थमा प्रचार, अमेठी-रायबरेली समेत इन VIP सीटों पर रहेगी नजर

ई दिल्ली,

लोकसभा चुनाव के पांचवें चरण के लिए शनिवार को प्रचार थम गया है. 20 मई को होने वाले इस चरण में छह राज्यों और दो केंद्र शासित प्रदेशों की 49 सीटों पर वोटिंग होनी है. इनमें हाई-प्रोफाइल रायबरेली और अमेठी सीटें भी शामिल हैं, जहां से कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और केंद्रीय मंत्री क्रमश: स्मृति ईरानी मैदान में हैं. केरल के वायनाड से चुनाव लड़ने वाले राहुल गांधी, नेहरू-गांधी परिवार के गढ़ रायबरेली से भी चुनाव लड़ने जा रहे हैं. इस सीट का प्रतिनिधित्व 2004 से उनकी मां सोनिया गांधी कर रही थीं. भाजपा ने यूपी के मंत्री दिनेश प्रताप सिंह को मैदान में उतारा है.चुनाव प्रचार के आखिरी दिन जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने मध्य कश्मीर के गांव सोइबुघ में एक रोड शो किया, जो कभी उग्रवाद का केंद्र था.

पांचवें चरण में जिन 49 सीटों पर चुनाव होना है, इनमें से 40 से अधिक सीटें एनडीए के पास हैं. इस चरण की सीटों के लिए प्रचार करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अन्य भाजपा नेताओं ने तुष्टिकरण, वंशवादी राजनीति, राम मंदिर, नागरिकता के मुद्दों पर जोर देकर INDIA ब्लॉक की पार्टियों द्वारा पेश की गई चुनौती को रोकने की कोशिश की. मोदी ने दावा किया, ”अगर सपा और कांग्रेस सत्ता में आये तो वे रामलला को वापस तंबू में भेज देंगे और मंदिर पर बुलडोजर चला देंगे. उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि विपक्ष अनुच्छेद 370 को वापस लाना चाहता है.

पांचवें चरण में सबसे कम सीटों पर वोटिंग
वहीं कांग्रेस और अन्य INDIA ब्लॉक की पार्टियों ने भाजपा पर अपनी हिंदू-मुस्लिम राजनीति के साथ मतदाताओं का ध्रुवीकरण करने और बेरोजगारी व महंगाई जैसे मुद्दों पर ध्यान केंद्रित नहीं करने का आरोप लगाया. वे आरक्षण और संविधान की रक्षा के मुद्दों पर भी आक्रामक रहे. सोमवार 20 मई को महाराष्ट्र की 13, उत्तर प्रदेश की 14, पश्चिम बंगाल की सात, बिहार की पांच, झारखंड की तीन, ओडिशा की पांच और जम्मू-कश्मीर तथा लद्दाख की एक-एक सीट पर मतदान होगा. पांचवें चरण में सबसे कम सीटों (49) पर मतदान होने जा रहा है.पार्टियों ने ओडिशा विधानसभा चुनाव के लिए भी प्रचार किया. लोकसभा चुनाव के पांचवें चरण के साथ ही राज्य में विधानसभा चुनाव के लिए भी मतदान होना है.

कई मंत्रियों की किस्मत ईवीएम में होगी कैद
लोकसभा चुनाव के पांचवें चरण में कई मंत्रियों की किस्मत भी ईवीएम में कैद होने जा रही है. इस चरण में मोदी सरकार में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, कौशल किशोर, साध्वी निरंजन ज्योति, भानु प्रताप वर्मा और योगी सरकार के मंत्री दिनेश सिंह जैसे उम्मीदवार मैदान में हैं. इनके अलावा पीयूष गोयल (मुंबई उत्तर, महाराष्ट्र), साध्वी निरंजन ज्योति (फतेहपुर, यूपी से) और शांतनु ठाकुर (बनगांव, पश्चिम बंगाल) एलजेपी (रामविलास) नेता चिराग पासवान (हाजीपुर, बिहार), शिवसेना के श्रीकांत शिंदे (कल्याण, महाराष्ट्र), बीजेपी के राजीव प्रताप रूडी और आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद की बेटी रोहिणी आचार्य (दोनों सारण, बिहार) जैसे नाम भी इस चरण में मैदान में हैं.

शुक्रवार को, कांग्रेस नेता सोनिया गांधी ने एक रैली में यह कहकर भावनात्मक राग अलापने की कोशिश की कि वह अपने बेटे को रायबरेली के लोगों को सौंप रही हैं और राहुल आपको निराश नहीं करेंगे. सोनिया गांधी ने कहा, “मेरा सब कुछ आपका दिया हुआ है. इसलिए, भाइयों और बहनों, मैं आपको अपना बेटा दे रही हूं.” रैली में मंच पर राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा उनके साथ खड़े थे. अपनी मां के सामने बोलते हुए राहुल गांधी ने कहा, ”देश भर के युवाओं ने मन बना लिया है कि वे नरेंद्र मोदी को नहीं चाहते. नरेंद्र मोदी 4 जून के बाद प्रधानमंत्री नहीं रहेंगे और भारतीय गठबंधन की सरकार बनेगी.”

अमेठी में स्मृति ईरानी और केएल शर्मा के बीच मुकाबला
वहीं अमेठी में, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, जिन्होंने 2019 में राहुल गांधी को हराया था, दूसरी बार जीत दर्ज करने का दावा कर रही हैं. वहीं गांधी परिवार के सहयोगी केएल शर्मा को कांग्रेस ने मैदान में उतारा है. लखनऊ से रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह चौथी बार चुनाव जीतने के लिए मैदान में उतरे हैं. उनका मुकाबला मौजूदा सपा विधायक (लखनऊ मध्य से) रविदास मेहरोत्रा से है.लखनऊ में एक रैली के दौरान राजनाथ सिंह ने कहा, ”ये चुनाव यह भी देखने के लिए है कि दुनिया में देश का कद किसने बढ़ाया है.”

फैजाबाद लोकसभा सीट, जो अयोध्या को कवर करती है, में चुनावी मुकाबला मुख्य रूप से मौजूदा भाजपा सांसद लल्लू सिंह, जो हैट्रिक की तलाश में हैं और मिल्कीपुर (एससी) विधानसभा क्षेत्र से सपा विधायक अवधेश प्रसाद के बीच है. इसके अलावा कश्मीर के बारामूला में उमर अब्दुल्ला के अलावा पूर्व अलगाववादी सज्जाद लोन, पूर्व विधायक शेख अब्दुल रशीद उर्फ ‘इंजीनियर रशीद’, जो फिलहाल तिहाड़ जेल में बंद हैं और पीडीपी के पूर्व राज्यसभा सदस्य फैयाज अहमद मीर भी चुनाव लड़ रहे हैं.समापन दिवस पर, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने महायुति उम्मीदवारों के प्रचार के लिए नासिक जिले के मालेगांव और पालघर में सार्वजनिक बैठकें कीं.

बंगाल में 90 हजार सुरक्षाकर्मी रहेंगे तैनात
पश्चिम बंगाल के सात निर्वाचन क्षेत्रों में सुरक्षा बढ़ा दी गई है, पांचवें चरण में 57 प्रतिशत से अधिक मतदान केंद्रों को संवेदनशील के रूप में चिह्नित किया गया है, जो इस चुनाव में अब तक सबसे अधिक है. एक अधिकारी ने बताया कि राज्य पुलिस के लगभग 30,000 कर्मियों के अलावा केंद्रीय बलों के 60,000 से अधिक कर्मियों को तैनात किया गया है, जो राज्य में पिछले चार चरणों की तुलना में अधिक है.

हुगली में, अभिनेता से नेता बने भाजपा के लॉकेट चटर्जी फिल्म बिरादरी की साथी सदस्य, टीएमसी की रचना बनर्जी के खिलाफ चुनाव लड़ रहे हैं. बिहार की सारण, मुजफ्फरपुर, हाजीपुर, सीतामढी और मधुबनी लोकसभा सीटों पर वोटिंग होगी. सारण में पूर्व केंद्रीय मंत्री राजीव प्रताप रूडी की हैट्रिक बनाने की कोशिश को आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद की बेटी रोहिणी आचार्य ने चुनौती दी है, जिन्होंने अपने पिता को अपनी किडनी दान की थी. झारखंड में तीन लोकसभा सीटों और गांडेय विधानसभा उपचुनाव के लिए प्रचार अभियान भी शनिवार को थम गया.

About bheldn

Check Also

तो क्या सच में मोदी सरकार पर है खतरा, NDA पर राहुल गांधी के इस दावे से मच रही सनसनी

नई दिल्ली एक दशक में ही केंद्र में एक पार्टी की बहुमत वाली सरकार का …