‘जब आप पर अटैक हो तो…’, टीम इंडिया के इस धुरंधर ने कंगारुओं को दी वॉर्निंग

ग्रॉस आइलेट (सेंट लूसिया),

आईसीसी मेन्स टी20 वर्ल्ड कप 2024 में भारतीय टीम सुपर-8 में अपना आखिरी मुकाबला ऑस्ट्रेलिया से खेलेगी. यह मुकाबला 24 जून (सोमवार) को ग्रॉस आइलेट के डैरेन सैमी नेशनल क्रिकेट स्टेडियम में खेला जाएगा. दोनों टीमों के लिए यह मुकाबला काफी अहम है. भारतीय टीम यदि इस मैच को जीतती है तो वह आधिकारिक तौर पर सेमीफाइनल के लिए क्वालिफाई कर जाएगी.

इस स्पिन गेंदबाज पर होंगी निगाहें
इस मुकाबले में भारत के चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव पर निगाहें होंगी. कुलदीप को अमेरिका में हुए मैचों में खेलने का मौका नहीं मिला था, लेकिन वेस्टइंडीज में स्पिनर्स के लिए मददगार पिचों पर वह काफी प्रभावी साबित हो रहे हैं. उन्होंने दो मैचों में पांच विकेट ले लिए हैं, जिसमें बांग्लादेश के खिलाफ शनिवार को मिले तीन विकेट शामिल हैं.

अब कुलदीप यादव ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मैच से पहले बड़ी बात कही है. कुलदीप मानते हैं कि उनकी सफलता का एक कारण उनकी गेंदबाजी में आक्रामकता भी है. उन्होंने कहा कि वह अपनी लेंथ से कभी समझौता नहीं करते. कुलदीप का मानना है कि कोई बल्लेबाज यदि अटैक करता है तो आपके पास रणनीति होनी चाहिए.

कुलदीप यादव ने कहा, ‘दुनिया के किसी भी स्पिनर के लिए लेंथ काफी मायने रखती है. इस फॉर्मेट में तो आपको यह भांपना ही होता है कि बल्लेबाज क्या करने की सोच रहा है. इसके लिए काफी आक्रामक होना पड़ा है. मुझे आईपीएल में भी इससे मदद मिली और अब टी20 विश्व कप में भी.’

यह पूछने पर कि बल्लेबाज जब चौके-छक्के लगाने की फिराक में होते हैं, तो वह अपनी रणनीति पर कैसे अडिग रह पाते हैं. उन्होंने कहा, ‘जब सामने वाली टीम को प्रति ओवर 10 या 12 रन चाहिए और बल्लेबाज आपकी गेंदों की धुनाई करने को आतुर हों तो सिर्फ लेंथ बनाए रखना जरूरी है.’

उन्होंने आहे कहा, ‘जब आप पर अटैक की कोशिश की जाए तो आपके पास रणनीति होनी चाहिए. ऐसे में विकेट लेने की संभावना अधिक होती है. मैं अमेरिका में नहीं खेला. मैं वहां 12वां खिलाड़ी था और ड्रिंक्स लेकर जा रहा था. यह खेलने जैसा ही था. मैने वहां गेंदबाजी नहीं की, लेकिन करना चाहता था. वहां विकेट आस्ट्रेलिया की तरह था. मैने यहां (वेस्टइंडीज) 2017 में टी20 और वनडे में डेब्यू किया और मुझे हालात का पता है. स्पिनर के लिए यहां गेंदबाजी करना अच्छा अनुभव है.’

कुलदीप का ऐसा है इंटरनेशनल करियर
कानपुर के रहने वाले कुलदीप यादव ने भारत के लिए 12 टेस्ट, 103 वनडे और 37 टी20 मुकाबले खेलकर कुल 285 विकेट चटकाए हैं. कुलदीप वनडे इंटरनेशनल में दो बार हैट्रिक ले चुके हैं. साल 2017 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ कोलकाता में कुलदीप ने हैट्रिक ली थी. इसके बाद 2019 में उन्होंने वेस्टइंडीज के खिलाफ भी यह उपलब्धि हासिल की.

About bheldn

Check Also

अब से टेनिस पर एक ही ‘राज’ अलकाराज, विंबलडन में सर्बिया के ‘जोकर’ नोवाक जोकोविच को बुरी तरह हराया

लंदन, स्पेन के कार्लोस अलकाराज ने सर्बियाई स्टार नोवाक जोकोविच को 6-2, 6-2, 7-6 (4) …