रोड पर तड़पते रहे सुमित, रास्ते से गुजर रहे लोग तमाशबीन बनकर विडियो बनाते रहे…

नई दिल्ली

आखिरकार वही हुआ, जिसका डर था। दिल्ली में प्रतिबंध के बावजूद घातक मांझे ने बुलेट बाइक सवार युवा शख्स की गर्दन चीरते हुए जान ले ली। दिल को झकझोर देने वाला यह हादसा सोमवार रात मौर्या एनक्लेव के हैदरपुर फ्लाईओवर पर हुआ। मृतक की पहचान 30 वर्षीय सुमित रंगा के रूप में हुई है। वह अपने माता-पिता के इकलौते बेटे थे। उस समय वह बुराड़ी स्थित अपनी हार्डवेयर शॉप से घर के लिए रोहिणी जा रहे थे।

दर्दनाक हादसे के समय सुमित रोड पर तड़पते रहे। उनके शरीर से काफी खून बह चुका था। रास्ते से गुजर रहे लोग तमाशबीन बने रहे, मोबाइल से विडियो बनाते रहे। हालांकि उनमें से एक राहगीर ने ही हादसे की जानकारी पुलिस को दी, फिर अस्पताल में भर्ती कराया। लेकिन, तब तक काफी देर हो चुकी थी। डॉक्टरों ने सुमित को मृत घोषित कर दिया। मौर्या एनक्लेव थाने की पुलिस ने घटनास्थल का मुआयना किया। इस बाबत फिलहाल पुलिस ने 304-ए (लापरवाही से किसी की मौत) आईपीसी के तहत केस दर्ज किया है। मंगलवार सुबह आंबेडकर हॉस्पिटल में शव का पोस्टमॉर्टम कराने के बाद गमगीन परिजनों को सौंप दिया। पुलिस आगे की जांच में जुटी है। बता दें, दो दिन पहले ही एनबीटी ने मांझे को लेकर लोगों और संबंधित एजेंसियों को आगाह किया था।

पुलिस अफसर के मुताबिक, सुमित रंगा परिवार के साथ रोहिणी सेक्टर-3 के अवंतिका स्थित अपार्टमेंट में रहते थे। परिवार में बुजुर्ग माता-पिता, दादा व पत्नी हैं। बड़ी बहन की शादी हो चुकी है। सुमित का बुराड़ी में हार्डवेयर का कारोबार है। रोजाना की तरह सोमवार शाम भी वह शॉप पर काम करने वाले वर्करों को बोलकर अपनी बुलेट बाइक से घर के लिए निकले थे। शाम करीब 6:30 बजे जब रिंग रोड हैदरपुर फ्लाईओवर पर पहुंचे तो इसी दौरान मांझा उनकी गर्दन में उलझ गया। पुलिस का कहना है कि जब तक वह बाइक को रोक पाते, खून का फव्वारा उनकी गर्दन से निकल पड़ा। मौके पर कुछ दूरी तक फैले खून के छींटे इस बात की तस्दीक कर रहे थे।

हादसे के कुछ चश्मदीदों ने पुलिस को बताया कि गर्दन में कट लगने के बाद वह बुलेट से नीचे गिर गए। इस बीच एक राहगीर ने घटना के बारे में पुलिस को कॉल की। तब तक सुमित को सरोज हॉस्पिटल, मधुबन चौक में भर्ती कराया जा चुका था। पुलिस टीम अस्पताल पहुंची, जहां सुमित की गर्दन में मांझे का टूटा हुआ टुकड़ा अंदर फंसा हुआ मिला। पुलिस ने शव को आंबेडकर अस्पताल की मोर्चरी में शिफ्ट किया। देर से पहचान होने पर पुलिस ने परिजनों से संपर्क साधकर हादसे की सूचना दी।

घटनास्थल पर जांच के दौरान पुलिस को सुमित की बाइक पर मांझा लिपटा हुआ मिला है। उनकी गर्दन में भी मांझे का टुकड़ा फंसा हुआ था। पुलिस ने मांझे के टुकड़े को जांच के लिए कब्जे में लिया है। फिलहाल पुलिस आगे मामले की जांच कर रही है।

About bheldn

Check Also

दिल्ली में अचानक ढही मस्जिद, जमीन धंसने की वजह से हुआ हादसा

नई दिल्ली, राजधानी दिल्ली के चूड़ीवाला इलाके में सोमवार को अचानक सड़क धंसने की वजह …