रुको-रुको, GST पेपर दिखाओ, धनबाद हाइवे पर कुछ यूं होता है ट्रकों से वसूली का धंधा

धनबाद

14 जून 2016 को जीटी रोड राजगंज में चमड़ा लोड ट्रक का पीछा करते हुए पुलिस ने ड्राइवर को गोली मारी गई थी। तोपचांची थाना में मामला दर्ज होने के बाद तत्कालीन थानेदार उमेश कच्छप को जांच अधिकारी बनाया गया था। 18 जून को उमेश कच्छप का शव तोपचांची थाना परिषर में फांसी के फंदे से लटका हुआ पाया गया था। मृतक थानेदार के परिजनों ने घटना को लेकर हत्या का आरोप लगाया था। सीआईडी जांच के साथ पुलिस के कई अधिकारियों पर गाज गिरी थी। इस घटना का जिक्र इसलिए किया जा रहा है, क्योंकि तोपचांची थाना क्षेत्र या फिर जीटी रोड पर एक बार फिर से ऐसी घटना की पुनरावृत्ति ना हो। ताजा मामले में स्विफ्ट कार में पुलिस के साथ सवार तीन युवकों ने ट्रकों को जबरन रोककर उनसे पैसे की वसूली करने का काम कर रहे हैं। पैसे नहीं देने पर पर माल लदे ट्रकों को जीएसटी या फिर अन्य जांच के लिए थाना के सामने जीटी रोड पर खड़ा कर दिया जा रहा है।

शुक्रवार की रात व्यवसायी गणेश पांडेय का सरिया लोड ट्रक कोलकाता से चली थी। जिसे तोपचाची थाना क्षेत्र के जीटी रोड पर जीएसटी जांच के लिए रोक दिया गया। गणेश पांडेय ने बताया कि राकेश केसरी, शिबू शंकर रवानी उर्फ शिबू और ऋषिकेश कुमार उर्फ सन्नी दो सिपाहियों के साथ खुद को जीएसटी अधिकारी बताकर थाने के बाहर ट्रकों की चेकिंग लगाते हैं। ये तीनों युवक पासिंग एजेंट हैं। तीनो जीटी रोड से अपनी गाड़ी पास करवाने का काम करते हैं। आरोप है कि थाने की संलिप्तता से जिस गाड़ी से पैसा नहीं दिया जाता है, उसका पेपर और वाहन के ड्राइवर से मोबाइल ले लिया जाता है। सभी पेपर सही रहने के बाद भी केस करने की धमकी दी जाती है। आठ से 10 दिनों तक गाड़ी को जीएसटी में भेजकर परेशान करते हैं। उसके बाद गाड़ी को छोड़ दिया जाता है। जीएसटी से रिपोर्ट आने के बाद भी पैसे की मांग की जाती है।

गणेश पांडेय का आरोप है कि शुक्रवार की रात सरिया लोड उनके ट्रक को राकेश केसरी नाम के शख्स ने रोका। राकेश केसरी ने बिल दिखाने को कहा। उसके बाद ड्राइवर का मोबाइल स्विच ऑफ हो गया। आरोप है कि ड्राइवर से पेपर की फाइल ले ली गई। सूचना मिलने के बाद थाना प्रभारी जयराम प्रसाद से मुलाकात की। थाना प्रभारी ने कहा गया कि आज के बाद ऐसा नहीं होगा। आज के बाद आपकी गाड़ी नहीं पकड़ी जाएगी।

गणेश पांडेय का आरोप है कि तीनों युवक स्विफ्ट कार से वसूली करते हैं। वसूली में प्रयोग होने वाली स्विफ्ट कार का नंबर जेएच 10 बीजेड 1077 है। उन्होंने बताया कि तोपचांची थाना की मिलीभगत से इन युवकों की ओर से गुंडागर्दी की जा रही है। गणेश पांडेय ने जिले के एसएसपी संजीव कुमार से मांग की है कि थाना प्रभारी और इन युवकों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करें।

मौके पर पहुंची मीडिया की टीम लगातार थाना प्रभारी को कॉल कर मामले की जानकारी और उनका पक्ष जनाना चाहा, लेकिन दो घंटे बीत जाने के बाद भी वह नहीं पहुंचे। फोन पर कुछ भी बताना उन्होंने मुनासिब नहीं समझा। बहरहाल, अब देखना है कि वरीय अधिकारी की कुछ कदम उठाते हैं और किस तरह अवैध वसूली को रोका जाता है।

About bheldn

Check Also

हम चुप नहीं बैठेंगे… नारायणपुर में सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ के बाद विष्णुदेव साय का बड़ा बयान

नारायणपुर छत्तीसगढ़ के नारायणपुर जिले में शनिवार (15 जून) को सुरक्षा बलों और नक्सलियों के …