पात्रा चॉल घोटाले में संजय राउत के अलावा उनकी पत्‍नी वर्षा राउत का भी नाम

मुंबई

महाराष्ट्र की पात्रा चॉल घोटाले से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में श‍िवसेना सांसद संजय राउत को लंबी पूछताछ के बाद प्रवर्तन न‍िदेशालय (ED) ह‍िरासत में ले लिया है। एक हजार करोड़ रुपए से ज्‍यादा के इस घोटाले में राउत को इससे पहले कई बार समन दिया गया था। जुलाई में भी उन्‍हें बुलाया गया था। लेकिन वे गये नहीं। इसके बाद रविवार 31 जुलाई को सुबह 7 बजे उनके घर ईडी की टीम पहुंची और शाम लगभग 4 बजे ह‍िरासत में लेने के बाद उन्‍हें अपने ऑफिस ले गई। लेकिन इस घोटाले में बस संजय राउत का ही नाम नहीं है। उनकी पत्‍नी वर्षा राउत सह‍ित कई और नाम सामने आ चुके हैं।

पात्रा चॉल घोटाले में इनके भी नाम
मुंबई की चॉल के पुनर्विकास की जमीन से जुड़े इस घोटले में संजय राउत की पत्नी वर्षा राउत का भी है। फरवरी में ईडी ने महाराष्ट्र के बिजनेसमैन प्रवीण राउत को गिरफ्तार किया था और बाद में चार्जशीट भी दाखिल की थी। संजय राउत और उनकी पत्नी के अलावा इस घोटाले के आरोपियों में गुरु आशीष कंस्ट्रक्शन के पूर्व डायरेक्टर कुमार वधावन, गुरु आशीष कंस्ट्रक्शन के पूर्व डायरेक्टर सारंग कुमार वधावन, गुरु आशीष कंस्ट्रक्शन के पूर्व डायरेक्टर प्रवीण राउत, प्रवीण राउत की पत्नी माधुरी रावत, संजय राउत का करीबी सुजीत पाटकर और सुजीत पाटकर की पत्नी स्वप्ना पाटकर भी शामिल हैं।

क्‍या है पात्रा चॉल जमीन?
पात्रा चॉल जमीन घोटाले की शुरुआत 2007 से हुई। महाराष्ट्र हाउसिंग एंड डिवलपमेंट अथॉरिटी यानी म्हाडा (MHADA), प्रवीण राउत, गुरु आशीष कंस्ट्रक्शन और हाउसिंग डेवलपमेंट एंड इन्फ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड (HDIL) की मिली भगत से यह घोटाला होने का आरोप है। 2007 में म्हाडा ने पात्रा चॉल के रिडिवेलपमेंट का काम गुरु आशीष कंस्ट्रक्शन को दिया। यह कंस्ट्रक्शन गोरेगांव के सिद्धार्थ नगर में होना था। म्हाडा की 47 एकड़ जमीन में कुल 672 घर बने हैं। रीडिवेलपमेंट के बाद गुरु आशीष कंपनी को साढ़े तीन हजार से ज्यादा फ्लैट बनाकर देने थे। म्हाडा के लिए फ्लैट्स बनाने के बाद बची हुई जमीन को प्राइवेट डिवलपर्स को बेचना था। 14 साल के बाद भी कंपनी ने लोगों को फ्लैट बनाकर नहीं दिए।

प्रवीण राउत को फरवरी 2020 में ग‍िरफ्तार किया गया था। बताया जाता है कि प्रवीण राउत, संजय राउत का करीबी है। वह एचडीआईएल में सारंग वधावन और राकेश वधावन के साथ कंपनी में निदेशक था। वधावन बंधु PMC बैंक घोटाले के मुख्य आरोपी है।

About bheldn

Check Also

UP: पत्नी को पीटने दौड़ा, तभी फिसल गया पैर, सिर में चोट लगने से हुई मौत

मेरठ , यूपी के मेरठ में पत्नी से झगड़े के दौरान एक शख्स की जान …