तो मुंबई में पैसा नहीं बचेगा… महाराष्ट्र राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने बयान पर मांगी माफी

मुंबई

महाराष्ट्र के गवर्नर भगत सिंह कोश्यारी ने अपने बयान पर माफी मांगी है। उन्होंने बीते दिनों अंधेरी में एक इवेंट के दौरान कहा था कि अगर गुजराती और राजस्थानी को मुंबई और ठाणे से हटा दिया जाए तो यहां पैसा नहीं बचेगा। गवर्नर कोश्यारी के इस बयान को लेकर उनकी काफी किरकिरी हुई थी। सीएम एकनाथ शिंदे ने भी कहा था कि उन्हें ऐसा बयान नहीं देना चाहिए।

गवर्नर भगत सिंह कोश्यारी ने ट्विटर पर माफीनामा पोस्ट किया। इसमें लिखा है, ’29 जुलाई को एक सार्वजनिक कार्यक्रम में मुंबई के विकास में कुछ समुदायों के योगदान की प्रशंसा करने में संभवतया मेरी ओर से कुछ चूक हो गई।’

‘विकास में सभी का योगदान’
पोस्ट में आगे लिखा है, ‘महाराष्ट्र ही नहीं, समस्त भारत वर्ष में विकास का सभी का विशेष योगदान रहता है।’ इसमें आगे कहा गया, ‘तीन वर्षों में महाराष्ट्र की जनता का मुझे अपार प्रेम मिला लेकिन उक्त भाषण में मुझसे अनायास कुछ भूल हो गई हो तो इस भूल को महाराष्ट्र की अवमानना के रूप में लेने की तो कल्पना भी नहीं की जा सकती।’

‘क्षमा करके अपनी विशाल हृदयता का परिचय देंगे’
कोश्यारी ने कहा, ‘अपने इस विनम्र राज्य सेवक को क्षमा कर अपनी विशाल हृदयता का परिचय देंगे।’ विपक्ष ने राज्यपाल के बयान को मराठी अस्मिता पर चोट करार दिया था। वहीं सीएम शिंदे ने कहा था कि राज्यपाल को संविधान के दायरे में रहकर बोलना चाहिए।

About bheldn

Check Also

यूपी विधानसभा उपचुनाव में भी होगी कांग्रेस-सपा गठबंधन की परीक्षा, 2027 को लेकर भी हो रही प्लानिंग

लखनऊ लोकसभा चुनाव के बाद यूपी में होने वाले उपचुनाव में सपा-कांग्रेस के गठबधन की …