यूपी में अस्पतालों की बदहाल तस्वीर, सिपाही को मोबाइल टॉर्च की रोशनी में विगो लगा रही नर्स

कानपुर देहात

उत्तर प्रदेश में स्वास्थ्य व्यवस्था सुधारने के लिए यूपी के डिप्टी सीएम बृजेश पाठक खुद अस्पतालों का निरीक्षण कर रहे हैं। इसके बाद भी हालात सुधरने का नाम नहीं ले रहे हैं। अकबरपुर जिला अस्पताल में टार्च की रोशनी में इलाज किया जा रहा है। जबकि जिले में डेंगू का कहर जारी है फिर भी स्थितियां सुधर नहीं रही हैं। सरकार करोड़ों रुपए का बजट स्वास्थ्य व्यवस्थाओं पर खर्चा कर रही है। बावजूद उसके स्थितियां बदलने का नाम नहीं ले रही हैं।

अकबरपुर जिला अस्पताल में भर्ती सिपाही धीरेंद्र सिंह कि इलाज इमरजेंसी वार्ड में मोबाइल टॉर्च जलाकर किया जा रहा है। मामले में स्वास्थ्य विभाग का कोई भी अधिकारी कुछ भी बोलने से बच रहा है।

बुखार आने सिपाही को कराया गया भर्ती
दरअसल जिला अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में भर्ती सिपाही धीरेंद्र अकबरपुर कोतवाली में तैनात है। इन्हें लगातार एक सप्ताह से बुखार आ रहा है। उसे इलाज के लिए जिला अस्पताल भेजा गया। वहां की स्टाफ नर्स वीगो लगाने के लिए टार्च जलाकर नस ढूंढ रही है। इमरजेंसी वार्ड में रोशनी के पर्याप्त इंतजाम न होने पर लोग सवाल उठा रहे हैं।

ओपीडी में आए 1020 मरीज
जिले में डेंगू पैर पसार चुका है। रोज नए मरीज सामने आ रहे हैं। तीन माह में बुखार से मरने वालों की संख्या 78 हो गई है। सोमवार को जिला अस्पताल की ओपीडी में 1020 मरीज आए। इसमें अधिकांश बुखार पीड़ित हैं। सीएमओ डाक्टर एके सिंह ने बताया कि टार्च जलाकर इलाज करने के बावत जानकारी मिली है। मामले की जांच की जा रही है।

About bheldn

Check Also

स्लॉटर हाउस में अमानवीय स्थिति, दबिश देकर पुलिस ने 57 नाबालिग बच्चों का किया रेस्क्यू

गाजियाबाद, उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद की क्राइम ब्रांच पुलिस और थाना मसूरी पुलिस की संयुक्त …