हिमाचल: ‘आ रही है कांग्रेस… विपक्ष में’, BJP का Poster War हुआ हवा!

नई दिल्ली ,

हिमाचल प्रदेश चुनाव में कांग्रेस ने बाजी मार ली है. उसने 5 साल से सरकार चला रही बीजेपी को हरा दिया है. कांग्रेस एक बार फिर से प्रदेश की सत्ता पर काबिज होने जा रही है. वहीं, सूबे में पहली बार चुनाव लड़ रही आम आदमी पार्टी (AAP) कोई कमाल नहीं कर सकी.

बता दें कि हिमाचल में 12 नवंबर को 68 सीटों पर मतदान हुआ था. चुनाव प्रचार के वक्त सभी पार्टियों ने एक-दूसरे पर जमकर आरोप-प्रत्यारोप किए थे. इस दौरान पोस्टर वॉर भी देखने को मिला था. अब चुनाव परिणाम आने के बाद वही पोस्टर-बैनर फिर से सुर्खियों में है. सोशल मीडिया से लेकर आमजन के बीच कांग्रेस और बीजेपी के वे पोस्टर चर्चा का विषय बन रहे हैं.

पोस्टर को लेकर कांग्रेस ने बीजेपी पर लगाया था आरोप
दरअसल, हिमाचल चुनाव प्रचार के समय कांग्रेस और बीजेपी ने अपने अंदाज में शहर भर में पोस्टर और बैनर लगवाए थे. शिमला में भी कांग्रेस का एक पोस्टर लगाया गया था, जिसमें लिखा था- ‘शपथ का सपना टूटेगा, क्योंकि आ रही है कांग्रेस.’ लेकिन किसी ने इस पोस्टर के आगे कलाकारी की और दूसरा पोस्टर लगा दिया. इस पोस्टर में लिखा था- ‘फिर से विपक्ष में.’ पोस्टर के मुताबिक, यह कहने की कोशिश की गई थी कि बीजेपी चुनाव जीतने वाली है और कांग्रेस को विपक्ष में बैठना पड़ेगा. लेकिन चुनाव परिणाम इसके ठीक उलट आए.

चर्चा में रहे थे ये पोस्टर
एक अन्य बैनर में कांग्रेस ने लिखा था- ‘आ रही है कांग्रेस.’ इसके जवाब में दूसरा बैनर लगाया गया और उसमें लिखा गया- ‘जयराम जी के शपथ ग्रहण समारोह में.’ इन पोस्टर बैनरों ने सोशल मीडिया पर काफी सुर्खियां बटोरी थीं.दोनों ही राजनीतिक दलों के बीच इसको लेकर कमेंटबाजी भी देखने को मिली थी. कांग्रेस ने ऐसे पोस्टर को लेकर बीजेपी पर आरोप लगाया था.

हालांकि, आज आए चुनाव परिणाम ने साफ कर दिया है कि हिमाचल में कांग्रेस की सरकार बनने जा रही है. उसने बीजेपी को सत्ता से बेदखल कर दिया है. ऐसे में पोस्टर वॉर को लेकर लोग तरह-तरह की टिप्पणियां कर रहे हैं. गौरतलब है कि हिमाचल प्रदेश ने विधानसभा चुनाव में अपने रिवाज को फिर से फॉलो किया है. यहां हर पांच साल में सरकार बदल जाती है. बीजेपी ने इस बार जनता से रिवाज बदलने की अपील की थी. लेकिन लोगों ने फैसला कांग्रेस के हक में सुनाया.

मालूम हो कि हिमाचल में एक चरण में चुनाव हुआ था. 12 नवंबर को वोटिंग हुई और 8 दिसंबर को नतीजे आ गए. यहां कुल 74.05 फीसदी लोगों ने वोटिंग की थी. फिलहाल, कांग्रेस अब सरकार बनाने के लिए एक्टिव हो गई है.

About bheldn

Check Also

‘गुनाह के तहत सजा मिलनी चाहिए’, राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने हाथरस वाले बाबा के खिलाफ कर दी एक्शन की मांग

लखनऊ उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने हाथरस हादसे (भोलेबाबा सत्संग) को लेकर बयान …