‘वह सीट तक आया, जिप खोली और मुझ पर पेशाब करने लगा…’, घटिया हरकत पर एयर इंडिया क्‍यों रही चुप?

नई दिल्‍ली:

एयर इंडिया सुर्खियों में है। वजह अच्‍छी नहीं है। मामला पिछले साल नवंबर का है। न्यूयॉर्क से दिल्ली आ रही उड़ान में महिला पैसेंजर पर नशे में धुत पुरुष सहयात्री ने पेशाब की थी। उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। साथ ही आगामी 30 दिनों के लिए उस पर यात्रा प्रतिबंध भी लगा दिया गया है। हालांकि, इस पूरे मामले में एयर इंडिया का रवैया कठघरे में आ गया है। एक्‍सपर्ट्स का मानना है कि इस मामले में पायलट सबसे बड़ा दोषी है। केबिन क्रू उसी से कमांड लेता है। उसे तुरंत बर्खास्‍त किया जाना चाहिए। कुछ लोगों का कहना है कि आरोपी व्‍यक्ति की आखिर पहचान क्‍यों नहीं उजागर की गई। विमानन नियामक डीजीसीए ने इस पूरे मामले में रिपोर्ट मांगी है। पुलिस ने महिला पर पेशाब करने वाले सहयात्री को पकड़ने के लिए कई टीमों का गठन किया है। इसी बीच एयर इंडिया की एक और फ्लाइट में एक बार फिर नशे में धुत यात्री के महिला यात्री पर पेशाब करने का मामला सामने आया है। 26 नवंबर की घटना के 10 दिन बाद पेरिस-दिल्‍ली उड़ान में भी शराब के नशे में एक पुरुष पैसेंजर ने महिला के कंबल पर पेशाब की थी। यह और बात है कि आरोपी के माफी मांगने के बाद उस पर कोई ऐक्‍शन नहीं लिया गया था।

26 नवंबर के मामले में मह‍िला की श‍िकायत के अनुसार, महिला को कई घंटे तक पेशाब से सने कपड़ों में बैठना पड़ा। उन्‍हें फर्स्‍ट क्‍लास में सीट भी नहीं दी गई। पायलट ने ऐसा करने से मना किया था। जबकि महिला ने बताया कि दूसरे सहयात्रियों का कहना था कि काफी सीटें उपलब्‍ध थीं। एक्‍सपर्ट्स के अनुसार, यात्री ने पैसेंजर नियमों का उल्‍लंघन किया है। यह क्राइम है। दूसरी बात यह है कि क्रू पायलट से निर्देश लेता है। ऐसे में इस पूरे मामले में पायलट नंबर-1 ऑफेंडर है। उन्‍हें तुरंत बर्खास्‍त करना चाहिए। केबिन क्रू शायद उनके कारण ही चुप रहा। मुंबई के जिस बिजनसमैन ने यह बेशर्म हरकत की है, अब तक उसका कोई सुराग नहीं मिला है। सवाल उठ रहा है कि इस शख्‍स की पहचान को उजागर क्‍यों नहीं किया गया। जिस तरह से एक महिला के साथ ऐसी हरकत हुई, वह चौंकाने वाला है। एयर इंडिया के रवैये पर सवाल उठ रहे हैं।

कैप्टन और क्रू को सस्‍पेंड करने की मांग
डीजीसीए के पूर्व महानिदेशक एमआर सिवरमन ने कहा कि विमानन नियामक को एयर इंडिया के खिलाफ कारण बताओ नोटिस जारी करना चाहिए। उसे कहना चाहिए कि क्‍यों न एयरलाइन के खिलाफ एक्‍शन हो? अगर वह होते तो कैप्टन और क्रू को सस्‍पेंड कर देते।पीड़‍िता ने अपनी शिकायत में कहा है कि जब लाइट्स बंद हुईं तो एक पुरुष पैसेंजर उनकी सीट तक आया। फिर उसने अपने पैंट की जिप खोलकर उन पर पेशाब करनी शुरू कर दी। इन महिला की उम्र 70 साल है।

मामले में उठ रहे हैं कई सवाल
इस पूरे मामले में कई सवाल उठ खड़े हुए हैं। पहला, पुलिस तक मामला पहुंचने में एक महीने का वक्‍त कैसे लग गया? दूसरा यह है कि क्रू ने बेशर्मी की हरकत करने वाले पैसेंजर को नियमों के अनुसार अपनी गिरफ्त में क्‍यों नहीं लिया।एविएशन लॉयर ने कहा कि इस पूरे मामले में बेलगाम पैसेंजर को क्रू ने फ्री हैंड दिया। लैंडिंग पर भी उसे बिना स्‍कॉट जाने की अनुमति दी गई। एयरलाइन का बर्ताव बिल्‍कुल चौंकाने वाला है।

26 नवंबर को न्यूयॉर्क से दिल्ली आ रही एक उड़ान में नशे में धुत एक पुरुष यात्री ने एक महिला सहयात्री पर पेशाब कर दी थी। बताया जाता है कि यह यात्री मुंबई का कोई बड़ा कारोबारी है। डीजीसीए ने एयरलाइन के व्‍यवहार को अनप्रोफेशनल बताया है। उससे 2 हफ्ते के भीतर जवाब देने के लिए कहा गया है।

About bheldn

Check Also

चंडीगढ़ में AAP के प्रत्याशी कुलदीप कुमार होंगे मेयर, सुप्रीम कोर्ट ने विजयी घोषित किया

नई दिल्ली, चंडीगढ़ मेयर चुनाव में हुई गड़बड़ी के मामले में सुप्रीम कोर्ट में मंगलवार …