कंझावला कांड : ‘दोषियों को बचा रही हैं दिल्ली पुलिस और बीजेपी’, AAP का आरोप- गढ़े जा रहे सबूत

नई दिल्ली

आम आदमी पार्टी (AAP) ने गुरुवार को आरोप लगाया कि पुलिस और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) कंझावला कांड की पीड़िता की धवि को धूमिल करने के लिए ‘सबूत गढ़ रहे हैं।’ 31 दिसंबर और एक जनवरी की दरमियानी रात दिल्ली में स्कूटी सवार युवती अंजलि सिंह को एक कार ने टक्कर मार दी थी और उसे 12 किलोमीटर तक सड़क पर घसीटते ले गए थे जिससे उसकी मौत हो गई थी। उसका शव कंझावला इलाके में मिला था।

‘AAP’ के राष्ट्रीय प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने दिल्ली के उप राज्यपाल वी.के. सक्सेना और BJP को आड़े हाथ लेते हुए दावा किया कि ‘वे अपने सदस्यों को बचाने के लिए तथ्यों को तोड़ा-मरोड़ रहे हैं।’अंजलि सिंह को टक्कर मारने वाली कार में कथित तौर पर सवार पांच लोगों के खिलाफ गैर इरादतन हत्या सहित अलग-अलग धाराओं में प्राथमिकी दर्ज की गई है। अदालत ने सोमवार को पांचों आरोपियों को तीन दिन की पुलिस हिरासत में भेजा था जिसे बृहस्पतिवार को चार और दिनों के लिए बढ़ा दिया गया।

भारद्वाज ने कहा कि घटना के समय अंजलि के साथ मौजूद रही उसकी ‘दोस्त’ निधि का बयान पीड़िता के परिवार के विपरीत है। परिवार के मुताबिक उन्होंने कभी निधि को देखा नहीं था और न ही उसके बारे में सुना था। उन्होंने दावा किया, ‘निधि का बयान केवल आरोपियों के पक्ष में है। यह फर्जी बयान है जो दोषियों को बचाने के लिए दिया जा रहा है।’ ‘आप’ प्रवक्ता ने आरोप लगाया, ‘पीड़िता का परिवार कह रहा है कि उन्हें निधि के भी घटना में शामिल होने का संदेह है। पुलिस और भाजपा महिला की छवि को धूमिल करने के लिए सबूत गढ़ रहे हैं।’

अंजलि सिंह की मां रेखा देवी ने बुधवार को संवाददाताओं से कहा था कि उनकी बेटी ने कभी भी शराब नहीं पी थी। उन्होंने कहा था, ‘मैंने कभी निधि को नहीं देखा और न ही उसके बारे में सुना। वह कभी हमारे घर नहीं आई। वह झूठ बोल रही है। मेरी बेटी ने कभी शराब नहीं पी थी।’ भाजपा और उप राज्यपाल वी.के. सक्सेना की आलोचना करते हुए भारद्वाज ने उन पर ‘तथ्यों को तोड़-मरोड़ कर आरोपियों को बचाने के लिए सत्ता के दुरुपयोग’ के आरोप लगाए।

उन्होंने कहा, ‘घटना के दिन से ही भाजपा दोषियों को बचाने की कोशिश कर रही है। वह पीड़िता की छवि को धूमिल कर पूरे मामले को ठंडे बस्ते में डालने की कोशिश कर रही है। वह पूरी व्यवस्था का दुरुपयोग कर रही है ताकि तथ्यों को तोड़-मरोड़ा जा सके और अपने सदस्यों को बचाया जा सके। उप राज्यपाल की शहर में कानून व्यवस्था स्थापित करने की कोई मंशा नहीं है।’

उप राज्यपाल पर निशाना साधते हुए आप नेता ने कहा, ‘वह अपना प्राथमिक कार्य नहीं कर रहे हैं और केवल दिल्ली सरकार के काम में हस्तक्षेप करने में व्यस्त हैं। उन्हें अपना काम करना चाहिए या पद से इस्तीफा दे देना चाहिए।’ पीड़िता के पारिवारिक डॉक्टर ने भी घटना की रात अंजलि के शराब पीने के निधि के दावे को खारिज करते हुए कहा है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में शराब पीने की पुष्टि नहीं हुई है।

About bheldn

Check Also

शॉप में महिला की गोली मारकर हत्या, CCTV में कैद कातिल की तस्वीर ने उड़ाए लोगों के होश

फलोदी , राजस्थान के फलोदी में एक महिला की दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या कर दी …