जर्मनी में साइनाइड वाली मौत का टेरर प्लान, ईरान से आया कहर बरपाने, पुलिस ने किया गिरफ्तार

बर्लिन

जर्मनी में घातक रसायनों से हमले की साजिश रचने के संदेह में एक ईरानी व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है। अधिकारियों ने रविवार को यह जानकारी दी। पुलिस और अभियोजकों ने कहा कि रविवार तड़के 32 वर्ष के एक व्यक्ति सहित दो लोगों को कैस्ट्रोप-रॉक्सेल शहर में हिरासत में लिया गया। उन्होंने एक संयुक्त बयान में कहा कि इस व्यक्ति पर इस्लामी चरमपंथ से प्रेरित होकर एक गंभीर हमले की साजिश रचने का संदेह है। उन्होंने कहा कि रासायनिक हमले के लिए उसने ‘साइनाइड’ और‘रायसिन’प्राप्त किया था। जर्मन समाचार एजेंसी डीपीए ने बताया कि विशेषज्ञों ने संदिग्ध के घर से सबूत एकत्र किए।

पुलिस को मिली जानकारी
समाचार एजेंसी के अनुसार अभियोजकों के एक प्रवक्ता ने बाद में कहा कि परिसर की प्रारंभिक तलाशी में कोई जहरीला पदार्थ नहीं मिला। इसका तुरंत खुलासा नहीं हुआ कि हमले की साजिश कितनी आगे बढ़ चुकी थी। डीपीए ने शीर्ष सुरक्षा अधिकारी हर्बर्ट रील के हवाले से कहा कि अधिकारियों को “एक गंभीर सूचना मिली थी जिसके कारण पुलिस को उसी रात हस्तक्षेप करना पड़ा।”टैबलॉयड अखबार बिल्ड ने बताया कि जर्मन अधिकारियों को एक सहायक खुफिया एजेंसी से रासायनिक हमले की योजना के बारे में जानकारी मिली थी।

ईरान का रहने वाला
डीपीए ने एक अज्ञात जर्मन सुरक्षा अधिकारी का हवाला देते हुए कहा कि इस बात का कोई संकेत नहीं था कि संदिग्ध ने ईरान की ओर से काम किया था, बल्कि उसने कथित तौर पर एक सुन्नी चरमपंथी समूह का समर्थन किया था। सुन्नी ईरान में धार्मिक अल्पसंख्यक समुदाय है। जर्मन पुलिस ने पांच साल पहले एक ट्यूनीशियाई व्यक्ति और उसकी पत्नी को इस्लामिक स्टेट समूह के नाम पर हमले की साजिश रचने के संदेह में गिरफ्तार किया था। बाद में उन्हें दोषी पाया गया और क्रमशः 10 और आठ साल की कैद की सजा सुनाई गई थी।

क्‍या है साइनाइड
साइनाइड सबसे जहरीला पदार्थ है। अगर किसी को साइनाइड दिया गया है तो फिर उसका बचना बहुत मुश्किल हो जाता है। 30 मिनट के अंदर अगर इसका पता नहीं चला तो फिर तुरंत ही किसी की मौत हो सकती है। ऐसे लोग जो फोटोग्राफी, इलेक्‍ट्रोप्‍लांटिंग, केमिकल और प्‍लास्टिक इंडस्‍ट्री में काम करते हैं, उनके इस जहर के संपर्क में आने की आशंका बहुत ज्‍यादा होती है। अगर किसी अस्‍पताल में साइनाइड का कोई मामला आता है तो फिर वहां पर डॉक्‍टर और बाकी स्‍टाफ को पूरी किट के साथ रेडी होने के लिए कहा जाता है। आधे घंटे के अंदर इस जहर से प्रभावित व्‍यक्ति की मौत हो जाती है।

About bheldn

Check Also

कनाडा में हिंदू मंदिर पर अटैक, तोड़फोड़ के बाद हमलावरों ने की अभद्र पेंटिंग

नई दिल्ली, कनाडा में एक बार फिर हिंदू मंदिर को निशाना बनाया गया है. यहां …