‘मेरी पत्नी ने दो साल में तीन बार पिटाई की’… कांग्रेस विधायक के पति ने इंग्लैंड से सोशल मीडिया पर किया पोस्ट

रायपुर

छत्तीसगढ़ के बैकुंठपुर विधानसभा से कांग्रेस विधायक अंबिका सिंहदेव के पति ने उन पर मारपीट का आरोप लगाया है। कांग्रेस विधायक के पति अमितावो कुमार घोष ने सोशल मीडिया पर अपनी पत्नी से सक्रिय राजनीति छोड़ने की अपील की है। कांग्रेस विधायक के पति ने पोस्ट में लिखा कि उन्होंने दो साल में तीन बार पिटाई की है। उन्होंने लिखा है कि मेरे पास इसके सबूत हैं। विधायक अंबिका सिंहदेव के पति इंग्लैंड में रहते हैं। उन्होंने अपील की है कि हमारी धर्म पत्नी सक्रिय राजनीति छोड़ दें। वहीं, विधायक ने पति के आरोपों को खारिज कर दिया है।

दरअसल, विधायक और संसदीय सचिव अंबिका सिंहदेव के पति अमितावो कुमार घोष ने सोशल मीडिया पर अपनी पत्नी से सक्रिय राजनीति छोड़ने की अपील की थी। सोशल मीडिया पर किया गया उनका ये पोस्ट वायरल हो गया। उन्होंने विधायक पत्नी के पीए भूपेंद्र सिंह और विनय जायसवाल से इस काम में सहयोग करने का आग्रह किया। अब इस पोस्ट पर राजनीति भी शुरू हो गई है।

आरोपों पर अंबिका सिंहदेव ने कहा है कि मैं विधायक होने के साथ-साथ किसी की धर्मपत्नी, मां और बहन भी हूं। ऐसे में मेरे पिता तुल्य लोगों की मुझ पर अमर्यादित टिप्पणी करने से मेरे पति का मन दु:खी है। इसलिए उन्होंने आज के दौर में हो रही स्तरहीन राजनीति से मुझे इस्तीफा देने के लिए कहा है, लेकिन मैं ऐसी गंदी राजनीति करने वाले लोगों से डरने वाली नहीं हूं। मैं इस्तीफा नहीं दूंगी और न मैं मैदान छोडूंगी।

रामचन्द्र सिंहदेव की भतीजी हैं विधायक
कांग्रेस विधायक अंबिकासिंह देव ने कहा कि भैयालाल जी आने वाले विधानसभा चुनाव के लिए तैयार रहें। मैं क्षेत्र की जनता की प्यार की बदौलत फिर से चुनावी समर में उतरूंगी। गौरतलब है कि अंबिका सिंहदेव कोरिया कुमार के नाम से विख्यात रहे हैं। प्रदेश के पहले वित्तमंत्री रामचन्द्र सिंहदेव की भतीजी हैं। रामचंद्र सिंहदेव मध्यप्रदेश में एक साथ 16 विभागों के कैबिनेट मंत्री रहे हैं। वे अविवाहित थे। उनके निधन के बाद अंबिका सिंहदेव उनकी राजनीतिक विरासत को आगे बढ़ा रही हैं।

इसके साथ ही अंबिका सिंहदेव ने कहा कि भैयालाल राजवाड़े की टिप्पणी को लेकर मेरे पति ने पोस्ट किया, जिसके बाद पूर्व कैबिनेट मंत्री की पकड़ जनता में नहीं रह गई है। उन्होंने कहा कि इस साल होने वाले विधानसभा चुनाव में इनका सूपड़ा साफ होना तय है, इसलिए अब ये विधानसभा की दावेदारी से हटने के लिए सुरक्षित रास्ता ढूंढ रहे हैं।

पति ने इन बातों को किया खारिज
वहीं, पति अमितावो घोष ने पत्नी के दावों को खारिज कर दिया है। उन्होंने लिखा है कि रामचंद्र सिंहदेव नहीं चाहते थे कि हमारे परिवार से कोई राजनीति में आए। 2016 से पहले अंबिका सिंहदेव कभी उस इलाके में नहीं रही। वह राजनीतिक रोटियां सेंकने में व्यस्त हैं। दोनों की शादी 1996 में हुई है। उन्होंने कहा कि हमारे काका साहब रामचंद्र सिंहदेव ने कभी नहीं चाहा कि उनके परिवार से कोई राजनीति में आए। पति अमितावो घोष ने अपनी पत्नी पर पिटाई करने का आरोप लगाया है। पोस्ट में उन्होंने लिखा है कि आखिरी बार चार जनवरी 2023 को रायपुर में पिटाई की थी। इसके सबूत मेरे पास हैं। मेरा कसूर यह है कि मैं उसे सक्रिय राजनीति से दूर होने के लिए कह रहा हूं। उन्होंने अपने पोस्ट में यह भी लिखा कि मैं चुप रहा तो गलतफहमी और बढ़ेगी।

अमितावो ने यह भी लिखा है कि मैं फेसबुक पोस्ट 10 फरवरी तक आखिरी बार करूंगा। इसके बाद या तो लाइव आकर अपनी बात रखूंगा या फिर अंबिकापुर पहुंचकर सारे सवालों का जवाब दूंगा। वहीं, इस पूरे मामले में बैकुंठपुर की विधायक अंबिका सिंहदेव से फोन पर बातचीत करना चाहा तो उन्होंने फोन रिसीव नहीं किया।

About bheldn

Check Also

स्लॉटर हाउस में अमानवीय स्थिति, दबिश देकर पुलिस ने 57 नाबालिग बच्चों का किया रेस्क्यू

गाजियाबाद, उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद की क्राइम ब्रांच पुलिस और थाना मसूरी पुलिस की संयुक्त …