‘इस स्पीच से सच्चाई दिखती है…’, PM मोदी के भाषण पर राहुल ने क्यों दिया ऐसा बयान

नई दिल्ली,

लोकसभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज कई मुद्दों को लेकर विपक्ष पर निशाना साधा. पीएम मोदी के संबोधन की शुरुआत से पहले ही बीआरएस ने संसद से वॉकआउट कर दिया. इसके बाद पीएम मोदी ने जब बोलना शुरू किया तो कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा. फिर पीएम मोदी के संबोधन के बाद राहुल गांधी ने मीडिया से बात की और कहा कि पीएम मोदी ने उनके सवालों का सही जवाब नहीं दिया. राहुल गांधी फिर अडानी के मुद्दे पर बोले.

राहुल गांधी ने कहा कि मैंने कोई जटिल सवाल नहीं पूछे थे. मैंने तो सिर्फ ये पूछा कि अडानी आपके साथ कितनी बार विदेश यात्राओं पर गए हैं. वहां इन लोगों की कितनी बार मुलाकात हुई है. राहुल ने कहा कि मेरे बस ये साधारण से सवाल थे लेकिन पीएम मोदी ने इनके जवाब नहीं दिए.

‘पीएम ने इंक्वायरी का नहीं दिलाया भरोसा’
राहुल गांधी ने कहा कि मैं प्रधानमंत्री मोदी के भाषण से सहमत नहीं हूं. उन्होंने जो कहा उससे सच्चाई दिखती है. प्रधानमंत्री मोदी ने जांच को लेकर बात नहीं की. राहुल गांधी ने बोला कि अगर अडानी और पीएम मोदी मित्र नहीं हैं तो उन्हें कहना चाहिए था कि मैं इंक्वायरी करा देता हूं. लेकिन उन्होंने ऐसा भी नहीं बोला.

‘डिफेंस सेक्टर में घूम रहा बेनामी पैसा, इस पर मौन रहे पीएम मोदी’
कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने आगे कहा कि डिफेंस इंडस्ट्री में चल रहीं शेल कंपनीज के बारे में बात नहीं हुई. इन शेल कंपनीज के जरिए बेनामी पैसा घूम रहा है. इसके बारे में प्रधानमंत्री मोदी ने कुछ नहीं कहा, इसका मतलब यही है कि प्रधानमंत्री मोदी खुद उनकी रक्षा कर रहे हैं. राहुल गांधी ने स्पष्ट कहा कि प्रधानमंत्री को खुद कहना चाहिए था कि हम इस मामले में जांच कराएंगे, लेकिन उन्होंने ऐसा कुछ नहीं कहा इससे साफ पता चलता है कि वो खुद प्रोटेक्ट कर रहे हैं.

बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी ने आज लोकसभा में कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा. इस बीच कांग्रेस ने संसद से वॉकआउट करने का फैसला भी किया. हालांकि कुछ देर बाद कांग्रेस सदस्य संसद में वापस लौट आए. पीएम मोदी ने कहा कि आजादी के इतिहास में 2004-2014 का दशक सबसे ज्यादा घोटालों का दशक रहा है.

2004-2014 तक रहा आतंकी हमलों का दशक
पीएम मोदी ने कहा, यूपीए के इन दस साल में कश्मीर से कन्याकुमारी तक भारत के हर कोने में आतंकी हमलों का सिलसिला चलता रहा. चारों तरफ यही सूचना रहती थी कि अनजानी चीज को हाथ नहीं लगाना, दूर रहना. इन दस साल में जम्मू-कश्मीर से पूर्वोत्तर तक हिंसा ही हिंसा थी.

कांग्रेस पर हमलावर थे पीएम मोदी
उन्होंने कहा कि जब न्यूक्लियर डील पर बात हो रही थी, तब ये नोट फॉर वोट में उलझे थे. पीएम मोदी ने 2जी, कोल स्कैम का भी जिक्र किया और कहा कि घोटालों के कारण दुनिया में देश बदनाम हुआ. उन्होंने कहा कि 2004 से 2014 के दशक में देश का बहुत नुकसान हुआ. 2030 का दशक भारत का है. पीएम मोदी ने कहा कि इनमें आतंक पर पलटवार करने का साहस नहीं था. देश के नागरिकों का 10 साल तक खून बहा. गौरतलब है कि बीते दिन मंगलवार को कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी की अडानी से दोस्ती पर कई सवाल उठाए थे.

राहुल ने अडानी को लेकर पीएम मोदी पर उठाए थे सवाल
राहुल गांधी ने पीएम मोदी से अडानी को लेकर कुछ सवाल पूछे थे. राहुल ने कहा था कि पहले अडानी के हवाई जहाज में पीएम मोदी जाते थे, अब अडानी पीएम मोदी के जहाज में जाते हैं. राहुल ने इन मुद्दों पर पीएम मोदी से सवाल पूछे थे.

– ‘पीएम मोदी के विदेश दौरे में अडानी और आप कितनी बार एक साथ गए.’
– ‘आपके कितने दौरों के दौरान अडानी गए.’
– ‘आपके कितने दौरे के बाद अडानी उस देश के दौरे पर गए.’
– ‘कितने देशों में आपके दौरे के बाद अडानी को कॉन्ट्रैक्ट मिले.’

About bheldn

Check Also

लोकसभा चुनाव: क्या कन्हैया पर हमले की निंदा करेंगे प्रधानमंत्री? मोदी से कांग्रेस नेता जयराम रमेश का सवाल

नई दिल्ली: कांग्रेस ने उत्तर-पूर्वी दिल्ली लोकसभा क्षेत्र से अपने उम्मीदवार कन्हैया कुमार पर हमले …