नीतीश को कांग्रेस नहीं बोलेगी I Love You? बीजेपी बोली- खरगे का बयान तो दिल तोड़ने वाला है

पटना

बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री और पश्चिम बंगाल बीजेपी प्रभारी मंगल पांडेय ने कहा कि 2024 में प्रधानमंत्री का सपना देख रहे नेताओं को कांग्रेस ने आईना दिखा दिया है। उन्होंने कहा कि नगालैंड की एक सभा में कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने विपक्ष के साझा प्रधानमंत्री उम्मीदवार से साफ इनकार करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री का उम्मीदवार कांग्रेस का ही होगा। खरगे के बयान पर बीजेपी मजे ले रही है और कह रही है कि खरगे के बयान से तो साफ हो गया कि फिलहाल कांग्रेस नीतीश कुमार को ‘आई लव यू’ नहीं कहने वाली है।

विपक्ष का साझा उम्मीदवार खड़ा करने की कोई संभावना नहीं
बीजेपी नेता और बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे ने कहा कि कांग्रेस की कोशिश है कि वह अपने मन मुताबिक पार्टियों को गठबंधन का हिस्सा बनाएं। क्योंकि कई राज्यों में विपक्षी पार्टियों में एकमत नहीं है। यह अलग बात है कि बिहार के महागठबंधन के नेता नीतीश कुमार समेत तमाम बीजेपी विरोधी दलों के नेता कांग्रेस की ओर टकटकी लगाए हुए हैं। लेकिन कांग्रेस इन दलों को ज्यादा तरजीह देने के मूड में नहीं है। बीजेपी नेता मंगल पांडेय ने विपक्षी एकता को अवसरवादिता बताते हुए कहा कि पीएम की महात्वाकांक्षा पाल रहे कई दलों के नेता स्वार्थसिद्धि नहीं पूरा होने पर कभी भी अपनी राहें जुदा कर सकते हैं।

वाम मोर्चा के महाधिवेशन में दिखा विपक्ष का दर्द
पश्चिम बंगाल बीजेपी के प्रभारी मंगल पांडे ने कहा कि पिछले दिनों वाम मोर्चा के महाधिवेशन में तथाकथित महागठबंधन का दर्द देखने को मिला। उन्होंने कहा कि वाममोर्चा के कन्वेंशन में देखने को मिला कि इसमें शामिल हुए सभी दल कांग्रेस के बिन बुलाये मेहमान जैसे थे। मंगल पांडेय ने कहा कि यह अलग बात है कि कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद ने महागठबंधन में शामिल दलों को कांग्रेस आलाकमान तक बात पहुंचा मामले को जल्द हल कराने को आश्वस्त किया। लेकिन उसके दूसरे दिन दिल्ली में वरिष्ठ कांग्रेसी नेता जयराम रमेश ने भी यह स्पष्ट कर दिया कि बिना मजबूत कांग्रेस के मजबूत विपक्ष की बात असंभव है।

मंगल पांडेय ने कहा कि कांग्रेस नेता विभिन्न दलों के प्रस्ताव को कहां तक मानते हैं, यह तो रायपुर के महाधिवेशन में ही विपक्षियों को पता चल जायेगा। कांग्रेस का मानना है कि आगामी लोकसभा चुनाव में विपक्षी दलों का गठबंधन राज्यों के स्तर पर ही होगा। राष्ट्रीय स्तर पर भाजपा के खिलाफ विपक्ष का साझा उम्मीदवार खड़ा करने की कोई संभावना नहीं।

पहले ‘आई लव यू’ कौन कहेगा पर फंस गया मामला?
दरअसल, नीतीश कुमार ने पटना में आयोजित भाकपा माले के राष्ट्रीय अधिवेशन में कहा कि देश में व्यापक विपक्षी एकता का निर्माण हो, यह समय की मांग है। हम कांग्रेस के जवाब का इंतजार कर रहे हैं। उन्होंने मंच पर बैठे कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद से कहा कि यह संदेश कांग्रेस के केंद्रीय नेतृत्व तक पहुंचा दिया जाए। उन्होंने कहा कि यदि हम सभी मिलकर चले तो भाजपा 100 के नीचे आ जाएगी। इसी मंच से सलमान खुर्शीद ने कहा कि नीतीश कुमार के बिहार मॉडल की चर्चा हर जगह होनी चाहिए। हम भी वही चाहते हैं जो आप चाहते हैं, मामला बस इतना है कि पहले ‘आई लव यू’ कौन बोलेगा। खरगे के बयान से साफ है कि कांग्रेस पहले आई लव यू’ नहीं बोलेगी।

About bheldn

Check Also

जहां अफसर मतदान में देरी करते रहे, वहीं बीजेपी के लिए काम करता रहा चुनाव आयोग, उद्धव ठाकरे ने लगाए गंभीर आरोप

मुंबई शिवसेना (यूबीटी) के अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने सोमवार को आरोप लगाया कि मुंबई में …