512 किलो प्याज बेचकर किसान को मिला 2 रुपये का चेक, जानें पूरा मामला

सोलापुर,

महाराष्ट्र, सोलापुर के बोरगांव बारशी गांव के किसान राजेंद्र तुकाराम चव्हाण ने 17 फरवरी को 500 किलो प्याज मंडी में बेची. गाड़ी भाड़ा, तुलाई और मजदूरी का पैसा काटने के बाद उन्हें मात्र 2 रुपए मिले. इसी के साथ, उन्हें जो चेक मिला है उसपर तारीख भी 8 मार्च 2023 लिखी है. प्रदेश भर में जहां प्याज का दाम गिर रहा है, वहीं सोलापुर में भी एक किसान इसकी चपेट में आ गया है. किसान हैरान है क्योंकि सोलापुर और उस्मानाबाद की सीमा पर दिन-रात उगाई जाने वाली 512 किलो प्याज के बदले उन्हें महज 2 रुपये का चेक मिला.

सोलापुर जिले के बरशी तालुका के ग्राम बोरगांव (ज़ादी) के किसान राजेंद्र तुकाराम चव्हाण ने अपने 2 एकड़ खेत में प्याज लगाई थी. राजेंद्र चव्हाण ने प्याज से प्राप्त धन से अपना कर्ज चुकाने के इरादे से प्याज के दस बैग भेजे. 17 फरवरी 2023 को सोलापुर में सूर्या ट्रेडर्स प्याज के 10 बोरे का वजन 512 किलो था, लेकिन प्याज के दाम गिरने से किसान को 1 रुपये प्रति किलो का भाव मिला.

हमाली, तोलाई के साथ वाहन का किराया कटने के बाद दो रुपये ही बचे. कृषि आय बाजार समिति के व्यापारी सूर्या ट्रेडर्स ने राजेंद्र चव्हाण के पक्ष में दो रुपये का चेक दिया. पूर्व सांसद ने राजेंद्र चव्हाण का दर्द सोशल मीडिया पर सांझा किया. स्वाभिमानी शेतकर संगठन के अध्यक्ष राजू शेट्टी ने सत्ताधारियों की आलोचना करते हुए सवाल किया कि एक व्यापारी को दो रुपये का चेक देते हुए उन्हें शर्म कैसे नहीं आई.

इस बीच, प्याज व्यापारी ने इस संबंध में किसान के सभी आरोपों का खंडन किया है. व्यापारी के दावे के मुताबिक किसान राजेंद्र चव्हाण ने 31 दिसंबर से उसे प्याज बेचनी शुरू की. पांच बार प्याज बेचने के बाद उसे दो लाख तीस हजार का भुगतान किया जा चुका है. उन्होंने बताया कि 17 फरवरी को लाई गई प्याज बची हुई खराब प्याज थी तो उन्हें मूल्य का अनुभव नहीं हुआ.

About bheldn

Check Also

पुणे सड़क हादसे का नया CCTV आया सामने, नशे में नाबालिग ने ली दो इंजीनियरों की जान

पुणे, महाराष्ट्र के पुणे सड़क हादसे का वीडियो सामने आया है. जिसमें दिख रहा है …