जींद जिला परिषद के नाम से रजिस्टर्ड थी गोरक्षकों द्वारा इस्तेमाल की गयी स्कॉर्पियो, जिसमें मिले थे नासिर और जुनैद के शव

चंडीगढ़

हरियाणा में एक कार में दो मुस्लिम पुरुषों के जले हुए शव मिलने के बाद से हड़कंप मचा हुआ है। हरियाणा के भिवानी जिले में महिंद्रा बोलेरो एसयूवी में नासिर और जुनैद के जले हुए शव मिले थे। राजस्थान पुलिस ने जानकारी दी कि जुनैद और नासिर की हत्या में गो रक्षकों द्वारा इस्तेमाल की गई सफेद स्कॉर्पियो जींद में जिला परिषद के नाम पर रजिस्टर थी और बाद में उसकी नीलामी कर दी गई थी।

द इंडियन एक्सप्रेस को मिली जानकारी के मुताबिक, वही गाड़ी रजिस्ट्रेशन नंबर HR70 D 4177 वाली सफेद स्कॉर्पियो अप्रैल 2022 में गोरक्षक के सोशल मीडिया पेजों पर साझा किए गए एक वीडियो क्लिप में भी दिखाई गयी थी। उस समय गाड़ी को हरियाणा पुलिस ने नूंह में फिरोजपुर झिरका के गांव शेखपुर में देखा था।

इस सफेद स्कॉर्पियो को राजस्थान पुलिस ने बुधवार को जींद में एक गौशाला से जब्त किया था। भरतपुर के आईजी गौरव श्रीवास्तव ने संवाददाताओं को बताया था कि कार की सीटों पर खून मिला है, जो संभवत: दोनों मृतकों जुनैद और नासिर का है। मामले में अहम सबूत के तौर पर वाहन को जब्त कर लिया गया है।

स्कॉर्पियो की कर दी गयी थी नीलामी
भरतपुर के पुलिस अधीक्षक श्याम सिंह ने द इंडियन एक्सप्रेस को बताया, “रजिस्ट्रेशन जींद जिला परिषद के नाम पर है। हम वर्तमान मालिकों का पता लगाने के लिए रिकॉर्ड की समीक्षा कर रहे हैं। जांच में सालासर ट्रेडर्स नामक एक संस्था का नाम सामने आया लेकिन उस इलाके में इस नाम से कोई संस्था नजर नहीं आती। आगे की जांच चल रही है।”

भरतपुर के गोपालगढ़ पुलिस स्टेशन में जहां FIR दर्ज की गई थी वहां के SHO रामनरेश मीणा ने कहा, “वाहन जिला परिषद जींद के नाम पर रजिस्टर है लेकिन हमने पाया है कि उन्होंने गाड़ी की नीलामी की थी। हम नीलामी के बारे में अधिक जानकारी जानने के लिए जांच कर रहे हैं।”

About bheldn

Check Also

स्लॉटर हाउस में अमानवीय स्थिति, दबिश देकर पुलिस ने 57 नाबालिग बच्चों का किया रेस्क्यू

गाजियाबाद, उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद की क्राइम ब्रांच पुलिस और थाना मसूरी पुलिस की संयुक्त …