हरियाणा विधानसभा में ऐसा क्‍या हुआ? जो अभय चौटाला को कार्यवाही में ह‍िस्‍सा लेने पर दिनभर के लिए रोका

चंडीगढ़

हरियाणा विधानसभा के अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता ने कथित असंसदीय व्यवहार को लेकर सोमवार को इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो) के एकमात्र विधायक अभय सिंह चौटाला को दिन के शेष हिस्से की सदन की कार्यवाही में भाग लेने से रोक दिया। एक महीने के भीतर यह दूसरी बार है, जब ऐलनाबाद के विधायक को सदन की ओर से निलंबित किया गया है। सोमवार की कार्रवाई प्रश्नकाल के दौरान विधानसभा अध्यक्ष के साथ अभय सिंह चौटाला की बहस के बाद हुई।

हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने अभय चौटाला के व्यवहार की निंदा की और कहा कि इनेलो विधायक के साथ पहले भी ऐसी ही घटनाएं हुई हैं। दुष्यंत, अभय चौटाला के भतीजे हैं। दरअसल प्रश्नकाल के दौरान अभय चौटाला ने जानना चाहा था कि क्या सरकार ने ‘डार्क जोन’ में भूजल स्तर बढ़ाने के लिए कोई कदम उठाया है। ‘डार्क जोन’ एक ऐसा क्षेत्र है, जहां भूजल स्तर काफी गिर गया है।

चौटाला ने पूछा था कौन सा सवाल
पूरक प्रश्न पूछते हुए उन्होंने कहा कि सरकार को यह बताना चाहिए कि उसने तालाबों के रखरखाव और उनके सौंदर्यीकरण पर कितना पैसा खर्च किया है। अध्यक्ष ने उनसे अपने पूरक प्रश्न में उठाए गए मुद्दे पर एक अलग प्रश्न रखने के लिए कहा। इसके बाद अभय चौटाला अध्यक्ष से बहस करने लगे। इसके बाद अध्यक्ष ने उन्हें असंसदीय भाषा के प्रयोग से परहेज करने को कहा।

‘सदस्य को मर्यादा बनाए रखनी चाहिए’
मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने हस्तक्षेप करते हुए कहा कि अध्यक्ष के साथ बहस करना पूरे सदन का अपमान है। उन्होंने कहा क‍ि सदस्य को मर्यादा बनाए रखनी चाहिए। अगर ऐसा व्यवहार जारी रहता है, तो अध्यक्ष की ओर से संज्ञान लिया जाना चाहिए। इनेलो सदस्य की ओर से लगाए गए पूर्वाग्रह के आरोपों का जवाब देते हुए अध्यक्ष ने जोर देकर कहा कि वह निष्पक्ष तरीके से सदन की कार्यवाही का संचालन कर रहे हैं।

About bheldn

Check Also

व्यास जी तहखाने में पूजा जारी रहेगी या बंद होगी, सोमवार को हाई कोर्ट ज्ञानवापी पर सुनाएगा फैसला

वाराणसी इलाहाबाद हाईकोर्ट सोमवार को ज्ञानवापी परिसर में व्यास तहखाने में पूजा करने की अनुमति …