तिहाड़ में पुलिस हाथ पर हाथ धरे देखती रही, टिल्लू को तड़पाकर मारते रहे… सामने आया एक और वीडियो

नई दिल्ली,

दिल्ली की सबसे सुरक्षित मानी जाने वाली तिहाड जेल में गैंगस्टर टिल्लू ताजपुरिया को गोगी गैंग के गुर्गों ने मार डाल. दिल्ली की तिहाड़ जेल में गैंगस्टर टिल्लू ताजपुरिया के मर्डर की सबसे सनसनीखेज तस्वीर सामने आई है. इसमें साफ नजर आ रहा है कि जब तिहाड़ में टिल्लू का बेदम शरीर पड़ा हुआ था, उस वक्त गोगी गैंग के गुर्गों ने पुलिस की मौजूदगी टिल्लू पर कई वार किए. यानी टिल्लू में अगर कुछ सांसें बची भी थीं तो हमलावरों ने उन्हें भी छीन लिया और ये सब पुलिस की मौजूदगी में होता रहा.

दरअसल, तिहाड़ जेल में 2 मई को टिल्लू का मर्डर हुआ था. गैंगस्टर पर गोगी गैंग के 8 गुर्गों ने धारदार हथियार से 92 वार किए गए थे. टिल्लू पर जेल में हमले के दो अलग-अलग सीसीटीवी फुटेज सामने आए. पहले फुटेज में गोगी गैंग के गुर्गे कैसे टिल्लू तक पहुंचे और फिर ताबड़तोड़ धारदार हथियार से हमला करते दिख रहे हैं.

तिहाड़ में बन रहे हथियार, 53 बार चेकिंग के बाद ये सामान
वीडियो में साफ दिख रहा है कि हमलावर चादरें लटकाकर टिल्लू की बैरक तक पहुंचे. टिल्लू रेड टी शर्ट में था. उसको खतरे का अहसास हो जाता है. वो अपनी बैरक में भागता है. उसके पीछे कई हमलावर बैरक की तरफ भागते हैं और वार करते हुए अंदर घुस जाते हैं. इसके बाद सभी कातिल टिल्लू पर धारदार हथियारों से ताबड़तोड वार करना शुरू कर देते हैं.

चेहरे, गर्दन और पीठ पर ताबड़तोड़ वार
घायल टिल्लू बाहर की तरफ भागता है तो उस पर हमला करते हुए हमलावर बाहर आते हैं और लगातार धारदार हथियार से टिल्लू के चेहरे, गर्दन, पीठ को गोदते रहते हैं. इस बीच गोगी गैंग के कुछ गुर्गे टिल्लू को बचाने की कोशिश करने आने वाले दूसरे कैदियों को डराते रहते हैं. देखते ही देखते अगले कुछ सेकंड तक लगातार वार करके टिल्लू का काम तमाम कर दिया जाता है.

हमला होता रहा और पुलिस देखती रही
वहीं दूसरे वीडियो में दिख रहा है कि जेल प्रशासन काफी देर बाद बैरक में पहुंचता है और बेदम टिल्लू को बाहर लाता है. इसी बीच हमलावर बेदम पड़े टिल्लू पर पुलिस की मौजूदगी में फिर से हमला करना शुरू कर देते हैं. वीडियो में ये पूरी घटना कैद है. इसका सीसीटीवी फुटेज भी सामने आया है. यहां हैरान करने वाली तस्वीर भी सामने आई है. कारण, कई पुलिसकर्मियों की मौजूदी में बेदम पड़े टिल्लू पर हमलावर हमला करते हैं और पुलिस सिर्फ हाथ पर हाथ धरे देखती रहती है. इससे पुलिस पर भी सवाल उठ रहे हैं.

गोल्डी बराड़ ने मर्डर के बाद लिखी सोशल मीडिया पोस्ट
कनाडा में बैठे गैंगस्टर सतिंदर सिंह उर्फ गोल्डी बराड़ ने टिल्लू के मर्डर के बाद फेसबुक पर पोस्ट लिखी. जिसमें उसने इसे गैंगस्टर गोगी की हत्या का बदला बताया. गोल्डी ने लिखा, “टिल्लू की हत्या हमारे भाई दीपक तीतर और योगेश टुंडा ने की है. जितेंद्र गोगी की हत्या की जिम्मेदारी टिल्लू ने ली थी, जो शुरू से ही हमारा दुश्मन था. आज इसकी हत्या कर योगेश और तीतर ने सभी भाइयों का सिर ऊंचा कर दिया है.”

कौन है गोगी गैंग?
बता दें कि जिस गोगी गैंग ने इस वारदात को अंजाम दिया है उसके सरगना जीतेंद्र गोगी को 21 सितम्बर 2021 को सरेआम रोहिणी कोर्ट में मार दिया गया था. बताया जा रहा है कि टिल्लू ताजपुरिया को मारकर गोगी गैंग के आठ गुर्गों ने अपने सरगना की मौत का बदला लिया है. दरअसल, जीतेंद्र गोगी और टिल्लू ताजपुरिया कभी पक्के दोस्त थे. दोनों श्रद्धानंद कॉलेज में पढते थे. टिल्लू का ताजपुरिया गांव अलीपुर के बिलकुल करीब में था, जहां जितेंद्र गोगी रहता था. दोनों साथ-साथ कॉलेज जाते थे. दोस्ती बहुत पक्की थी.

कैसे शुरू हुई दुश्मनी
कॉलेज में पढ़ते हुए छात्रसंघ चुनाव से टिल्लू ताजपुरिया और जीतेंद्र गोगी की दोस्ती में दरार पड़ गई. दोनों ने अलग-अलग उम्मीदवारों को सपोर्ट किया. झगड़ा हुआ और रंजिश शुरू हो गई. दरार तब और बढ़ी जब 2012 में गोगी ने ताजपुरिया के करीबी दोस्त विकास की हत्या कर दी. इसके बाद दोनों के अलग-अलग गैंग बन गए और इसका खतरनाक अंजाम सामने है. गोगी 2021 में ढेर हो चुका है और 2 मई को टिल्लू का भी मर्डर हो गया है.

About bheldn

Check Also

मोदी की बातों को वाहियात बताने वाले मुस्लिम नेता पर गिरी गाज, BJP ने पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाया

बीकानेर/जयपुर राजस्थान में लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण की वोटिंग से पहले बीजेपी ने बड़ा …