‘बजरंग दल राष्ट्रभक्तों का संगठन, बैन करके वोट पाना चाहती है कांग्रेस,’ शिवराज ने साधा निशाना

नई दिल्ली,

मध्य प्रदेश के उज्जैन में महाकाल लोक कॉरिडोर के बाद ओंकारेश्वर में एकात्म धाम तैयार किया जा रहा है. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान खुद इस परियोजना के काम को आगे बढ़ा रहे हैं. शनिवार को सीएम शिवराज ने आजतक से खास बातचीत की है. शिवराज ने एकात्म धाम से लेकर पीएफआई, बजरंग दल और द केरला स्टोरी को मध्य प्रदेश में टैक्स फ्री किए जाने के मुद्दे पर खुलकर बातचीत की.

शिवराज ने कहा- लोगों के अलग-अलग मत होते हैं. बीजेपी सरकार का मानना है कि न्याय सबको, तुष्टीकरण का किसी का नहीं. इसलिए हमने कहा कि लोभ, लालच, धन, प्रलोभन में अगर कोई धर्मांतरण करवाएगा तो अपराध होगा. इसलिए कानून बना दिया. ऐसी कई व्यवस्थाएं बनाई हैं. सबको फ्री में राशन दिया जा रहा है. मकान बनाए जा रहे हैं. इसमें कोई भेदभाव नहीं किया जा रहा है. लेकिन, अगर कोई आतंकवाद फैलाने की कोशिश करेगा या सिमी का नेटवर्क बनेगा तो उसको ध्वस्त करने का हमारा धर्म होगा.

‘गलत सोच बदलने का काम किया गया’
बजरंग दल बैन के मसले पर शिवराज ने कहा- एक समय हिंदु शब्द बोलना ही संकीर्ण मानसिकता का प्रतीक माना जाता था. विरोधी दलों में होड़ लगती थी कि हम सेक्युलर हैं. वैसे, सेक्युलर कैसे? क्या हमारी दर्शन, संस्कृति, जीवन मूल्य, महापुरुष के नाम लेना पाप है क्या? ये गलत सोच थी, जिसको बदलने का काम किया गया. गलत सोच बदलना गलत बात है क्या? बजरंग दल पर बैन क्यों?

‘केवल वोटबैंक की राजनीति की जा रही है’
शिवराज ने कहा- एक तरफ आतंकवादी घटनाएं करने वाला पीएफआई संगठन और दूसरी तरफ बजरंग बली की आराधना करने वाले राष्ट्रभक्तों का संगठन है. आप बजरंग दल को बैन करके वोट हासिल करना चाहते हो. केवल वोट बैंक की राजनीति कर रहे हैं. क्या बजरंग बली का नाम लेना पाप है क्या? करोड़ लोग बजरंग बली के भक्त हैं. उनसे शक्ति प्राप्त करते हैं. ये वोट बैंक की राजनीति कभी नहीं होने देंगे.

‘हम आतंकवादी का समर्थन कैसे कर सकते’
उन्होंने कहा- हम आतंकवादी का समर्थन कैसे कर सकते हैं. लव जिहाद का समर्थन कैसे कर सकते हैं. बेटी को बहला-फुसलाकर शादी करते हैं और फिर उसकी जिंदगी नारकीय बना देते हैं तो मन में आता है कि इसके खिलाफ कदम उठाना चाहिए. ये सब धर्मांतरण का कुचक्र भी सामने लाता है. आतंकवाद के डिजाइन को भी सामने लाता है.

‘फिर भारी मतों से बीजेपी जीत कर आएगी’
कुछ महीनों बाद मध्य प्रदेश में चुनाव हैं. विरोधियों से निपटने को लेकर शिवराज ने कहा कि लोग काम चाहते हैं. आज गर्व है कि पीएम मोदी के नेतृत्व में गौरवशाली, वैभवशाली और संपन्न भारत का निर्माण हो रहा है. पूरे देश में वैक्सीन लग जाना ही बदलते भारत की तस्वीर है. रूस-यूक्रेन युद्ध के बीच अपने नागरिकों को बचाकर ले आना भी एक उदाहरण है. जनता भाजपा और मोदी को आस्था की नजरों से देखती है. फिर हम भारी बहुमत से जीतकर आएंगे. जो चीजें कभी असंभव मानी जाती थीं, वो मोदीजी की सरकार में मुमकिन हो गया है. कॉमन सिविल कोड में कोई आपत्ति नहीं होना चाहिए. सब एक देश के नागरिक हैं.

‘2018 में एकात्म धाम का विचार आया’
चुनाव से पहले एकात्म धाम प्रोजेक्ट को राजनीति से जोड़ने के सवाल पर शिवराज ने कहा- 9 फरवरी 2017 को यहां एकात्म धाम बनाने का विचार आया. तब प्रक्रिया शुरू कर ली थी. 2018 में कांग्रेस सरकार बनी और प्रोजेक्ट को ठंडे बस्ते में डाल दिया था. कोरोना के समय हमारी सरकार आई और काम शुरू किया. इसका चुनाव से कोई लेना-देना नहीं है. भारतीय संस्कृति को आने वाली पीढ़ी तक पहुंचाना है.

‘समाज को सही दिशा देना भी सरकार का काम है’
उन्होंने कहा कि भौतिक विकास करना सरकार का काम है. सड़क-पुल-पुलिया भी बनवा रहे हैं. लेकिन, समाज को सही दिशा देना भी सरकार का काम है. ऐसे श्रद्धा के केंद्रों की व्यवस्थाएं ठीक करना भी सरकार का काम है. विकास की बात करें तो मध्य प्रदेश में जब हमने सरकार संभाली, तब यहां 71 हजार किमी की टूटी-फूटी सड़कें थी. आज हमने 4 लाख किमी सड़कें बना दीं. भिंड एक्सप्रेसवे बन रहा है. नर्मदा एक्सप्रेसवे, बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे बन रहा है. मालवा-निमाड़ एक्सप्रेसवे बन रहा है. इंदौर-भोपाल में मेट्रो चलाए जाने की तैयारी है.

‘पानी की लहरों पर सौर ऊर्जा का उत्पादन होगा’
अन्न भंडारण की बात करें तो हमने पंजाब को पीछे छोड़ दिया है. आज मध्य प्रदेश में 700 प्रतिशत अन्न का उत्पादन बढ़ गया रहा है. बिजली उत्पादन भी बढ़ गया है. पहले यहां 2900 मेगावॉट उत्पादन होता था. अब हम 28 हजार मेगावॉट बिजली बनाने जा रहा है. पानी की लहरों पर हम सोलर पैनल बनाने जा रहे हैं. सौर ऊर्जा का उत्पादन करने जा रहे हैं. पहले प्रति व्यक्ति करीब 11 हजार रुपए थी. अब एक लाख 40 हजार रुपए हो गई है.

‘आज MP का बजट 3 लाख करोड़ से ज्यादा’
जीएसडीपी का साइज देखें तो पहले 70 हजार करोड़ रुपए था. अब 15 लाख करोड़ रुपए हो गया है. देश की जीडीपी में हमारा योगदान 4.6 प्रतिशत हो गया है. बजट की बात करें तो पहले 21 हजार करोड़ रुपए था. आज मध्य प्रदेश का बजट 3 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा हो गया है. सीएम ने कहा- भगवान शिव की कथाएं लोग मूर्तियों के माध्यम से देखकर समझें. इसलिए हम राम राजा लोक बना रहे हैं. हनुमान लोक, देवी लोक, बनवासी लोक भी बना रहे हैं. भारत के ज्ञान और दर्शन को आगे बढ़ाएंगे.

‘मध्य प्रदेश अद्भुत है’
शिवराज का कहना था कि मध्य प्रदेश अद्भुत है. वाटर टूरिज्म है. पुरातत्व की दृष्टि से देखें तो यहां तीन वर्ल्ड हेरिटेज हैं. इनमें सांची, भीमबेटका, खजुराहो का नाम है. वाइल्ड लाइफ टूरिज्म का कोई मुकाबला नहीं किया जा सकता है. उन्होंने कहा कि आदि शंकराचार्य ने चारों दिशाओं से भारत को जोड़ा. भारत का स्वरूप आदि शंकराचार्य की देन है, एकात्म धाम का मध्य प्रदेश चुनाव से कोई लेना देना नहीं है. अध्यात्म के साथ भौतिक विकास भी जरूरी है.

‘एकात्म का संदेश पूरे विश्व में जाएगा’
शिवराज ने कहा- ओंकारेश्वर द्वादश ज्योर्तिलिंग में से एक है. ओंकारेश्वर, श्रद्धा और आस्था का केंद्र है. आदिगुरु शंकराचार्य ने चारों दिशाओं से पूरे भारत को जोड़ने का काम किया. यहां एकात्म धाम बनने वाला है. यहां से एकात्म का संदेश पूरे विश्व में जाएगा. उनको यहां गुरु मिले, इसलिए उनकी प्रतिमा, शंकर संग्रहालय में दर्शन और विचार चित्रित किए जाएंगे. नौका विहार का लाभ भी उठा पाएंगे. गुरुकुल भी बनेंगे.शिवराज ने कहा- ये आध्यात्मिक और भौतिक प्रगति का समन्वय है. नर्मदा मैया की कृपा से मध्य प्रदेश फल-फूल रहा है. सिंचाई का पानी, पीने का पानी, बिजली का इंतजाम नर्मदा नदी से कर रहे हैं.

 

About bheldn

Check Also

रिजल्ट जारी करने की तैयारी में मध्य प्रदेश बोर्ड, जानें कब आएंगे 10वीं के नतीजे

नई दिल्ली, एमपी में 10वीं की बोर्ड परीक्षा दे चुके छात्रों को अपने परिणामों का …