पुलिस को देखते ही उलटे पांव भागे फवाद चौधरी… इमरान खान के करीबी मंत्री रहे फवाद चौधरी की ऐसी फजीहत!

इस्‍लामाबाद

इस्‍लामाबाद हाईकोर्ट के बाहर मंगलवार को बड़ा ही नाटकीय माहौल था और अब इसका एक वीडियो वायरल हो रहा है। इस वीडियो में पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान के करीबी फवाद चौधरी पुलिस से बचने के लिए भागते हुए नजर आ रहे हैं। फवाद चौधरी पाकिस्‍तान के पूर्व सूचना प्रसारण मंत्री रहे हैं और इस वीडियो के सामने आने के बाद उनकी काफी फजीहत हो रही है। ठीक हफ्ते पहले पूरे देश में अफरा-तफरी मची हुई थी। यहां पर पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान को गिरफ्तार किया गया तो वहीं उनके करीबियों पर भी कार्रवाई की गई।

पुलिस की गिरफ्तारी से डरे फवाद
मंगलवार को जैसे ही इस्लामाबाद हाई कोर्ट ने फवाद की रिहाई का आदेश दिया, वह कोर्ट परिसर से बाहर आए और अपनी सफेद एसयूवी में बैठ गए। हालांकि, कोर्ट के बाहर पुलिस को देखकर वह घबरा गए और जल्दी से कार का दरवाजा खोलकर अंदर बैठ गए। डॉन न्यूज के मुताबिक, पुलिस जैसे ही चौधरी को एक और मामले में गिरफ्तार करने पहुंची, वह कोर्ट के अंदर भाग गए।

पिछले हफ्ते पाकिस्‍तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) समर्थकों की तरफ से इमरान की गिरफ्तारी के बाद जमकर उत्‍पात मचाया गया था। इसके बाद फवाद को गिरफ्तार किया गया था। उन पर आरोप लगाया गया था कि उन्‍होंने आगजनी और हिंसक विरोध प्रदर्शन को बढ़ावा दिया और प्रदर्शनकारियों को भड़काया था। पुलिस का कहना है कि उन्‍होंने एक प्‍लान के तहत ऐसा किया था।

हाई कोर्ट में क्‍या हुआ
दूसरी ओर लाहौर उच्च न्यायालय ने जमानत के अनुरोध वाली इमरान की याचिका पर मंगलवार को फैसला सुरक्षित रख लिया। हाई कोर्ट की तरफ से इमरान की गिरफ्तारी के बाद हुए प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसा के मामले में पंजाब प्रांत में उनके खिलाफ दर्ज सभी मामलों में फैसला सुरक्षित रखा है। शुक्रवार को उन्हें इस्लामाबाद उच्च न्यायालय से जमानत पर रिहा किया गया था। सुनवाई की शुरुआत में अदालत ने पाकिस्तान पीटीआई के प्रमुख खान की गैर मौजूदगी को लेकर सवाल पूछा। इसके जवाब में खान के वकील ने कहा कि वह 11 बजे अदालत में पेश होंगे।

जमानत याचिका का विरोध
पंजाब की अंतरिम सरकार का प्रतिनिधित्व करने वाले वकील ने जमानत याचिका का विरोध किया और कहा कि इसे मंजूरी नहीं दी जानी चाहिए। वकील ने कहा, ‘‘इमरान अदालत में पेश भी नहीं हुए हैं और वे गिरफ्तारी से बचने के लिए सुरक्षात्मक जमानत चाहते हैं।’’ इस पर खान के वकील ने दलील दी कि पीटीआई प्रमुख अग्रिम जमानत मांग रहे हैं न कि सुरक्षात्मक जमानत।’’ खान के वकील ने मामला बड़ी पीठ को भेजने का अनुरोध किया। याचिका में कहा गया है, ‘‘मुझे राजनीतिक रूप से प्रताड़ित किया जा रहा है। मुझे गिरफ्तारी का अंदेशा है क्योंकि मेरे खिलाफ कई मामले दर्ज किए गए हैं।’’

लाहौर में हैं इमरान
पीटीआई प्रमुख ने इस मामले में पंजाब के महानिरीक्षक और महाधिवक्ता को प्रतिवादी बनाया है। खान शुक्रवार को जमानत मिलने के बावजूद गिरफ्तारी के डर से घंटों इस्लामाबाद उच्च न्यायालय (आईएचसी) परिसर से बाहर नहीं निकले थे, हालांकि बाद में वह शनिवार को अपने लाहौर स्थित घर लौट आए। इस बीच, आईएचसी ने हिंसा भड़काने और राजद्रोह से जुड़े दो मामलों में पीटीआई प्रमुख खान की जमानत आठ जून तक बढ़ा दी।

About bheldn

Check Also

मोदी की बातों को वाहियात बताने वाले मुस्लिम नेता पर गिरी गाज, BJP ने पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाया

बीकानेर/जयपुर राजस्थान में लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण की वोटिंग से पहले बीजेपी ने बड़ा …