पाकिस्तान पुलिस ने घेरा इमरान का घर, स्ट्रीट लाइटें की गईं बंद, ट्विटर पर बोले पूर्व पीएम- ये हो सकता है मेरा आखिरी ट्वीट

नई दिल्ली

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान ने बुधवार को एक ट्वीट करके दावा किया कि पुलिस ने उनके घर को घेर लिया है। उन्हें कभी भी गिरफ्तार किया जा सकता है। इसलिये यह उनका अंतिम ट्वीट है। राष्ट्र के नाम एक लाइव वीडियो संदेश में इमरान खान ने ट्वीट करके कहा, “मेरी अगली गिरफ्तारी से पहले संभवत: यह मेरा अंतिम ट्वीट है। पुलिस ने मेरा आवास घेर लिया है।” इमरान खान की घर की ओर जाने वाली सड़कों पर लाइटें बंद कर दी गई हैं।

घर पर अपने वकीलों और मीडिया वालों को बुलाया
पंजाब पुलिस पीटीआई चेयरमैन इमरान खान के जमन पार्क आवास पर उनको गिरफ्तार करने के लिए पहुंच गई है। मौके पर मौजूद डॉन.काम के संवाददाता ने इस बात की पुष्टि की है। इमरान खान ने अपने घर पर वकीलों और मीडिया वालों को बुलाया है।एक वीडियो संदेश में खान ने कहा, “मुझे भय है कि पाकिस्तान विनाश के रास्ते पर है। और मुझे डर है कि हमने अपना दिमाग नहीं लगाया तो हम वहां पहुंच जाएंगे जहां से अपने देश के सभी टुकड़ों को भी एकत्र नहीं कर पाएंगे।”

पाकिस्तान में चल रहे सियासी हालात में सुधार नहीं दिख रहा है। पिछले दिनों भ्रष्टाचार को लेकर पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान की गिरफ्तारी और उसके बाद हुई हिंसा को काबू पाने में सरकार को भारी मुश्किलों का सामना करना पड़ा था। कोर्ट के आदेश पर इमरान खान की रिहाई के बाद अब फिर से विवाद शुरू हो गया है। इस बीच इमरान खान ने अपनी पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी और उनके अपहरण की निंदा की है।

बताया जा रहा है कि लाहौर स्थित इमरान खान के घर पर 30-40 आतंकियों ने शरण ले रखी है। पाकिस्तान के पंजाब प्रांत की सरकार ने उनकी पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ को उन्हें पुलिस को सौंपने के लिए 24 घंटे का वक्त दिया है। सरकार ने चेतावनी दी है कि वे खुद ही आतंकियों को पुलिस को सौंप दें नहीं तो कानून अपने स्तर से इससे निपटेगा।

पंजाब की अंतरिम सरकार के केयरटेकर सूचना मंत्री आमिर मीर ने लाहौर में मीडिया से बात करते हुए यह बात कही। उन्होंने कहा है कि सरकार के पास पुख्ता सबूत है कि इमरान खान के ज़मन पार्क घर में ये आतंकी शरण लिये हुए हैं। सरकार के पास इसको लेकर भरोसेमंद खुफिया रिपोर्ट है।

पाकिस्तान के जियो न्यूज के मुताबिक मीर ने कहा, “जिस तरह की खुफिया रिपोर्ट आ रही हैं, वह बहुत ही खतरनाक है।” उन्होंने कहा कि एजेंसियां जिओ-फेंसिंग के जरिये ज़मन पार्क में आतंकियों के मौजूद होने का पता करने में सक्षम हैं। मीर ने कहा, “पीटीआई अराजनीतिक नेता की तरह व्यवहार कर रहा है।” उन्होंने कहा कि पीटीआई चीफ पिछले एक साल से सेना पर निशाने साध रहे हैं।

अंतरिम सूचना मंत्री ने कहा कि सैन्य प्रतिष्ठानों पर 9 मई को हिंसक हमले पहले से सोची समझी रणनीति के तहत किये गये थे। सरकार ने इस पर ‘जीरो टालरेंस पॉलिसी’ अपनाई हुई है। अंतरिम सरकार के मुख्यमंत्री मोहसिन नकवी ने पंजाब पुलिस को आगजनी और हिंसा करने वालों से निपटने के लिए ‘फ्रीहैंड’ छूट दे दी है। उन्होंने कहा कि जिन्ना हाउस पर हमला आसानी से रोका जा सकता था, लेकिन केयरटेकर मुख्यमंत्री ने पुलिस को हथियारों के उपयोग पर रोक लगा दी थी। कहा- “हम प्रांत में खून-खराबा से बचना चाहते थे।”

About bheldn

Check Also

मोदी की बातों को वाहियात बताने वाले मुस्लिम नेता पर गिरी गाज, BJP ने पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाया

बीकानेर/जयपुर राजस्थान में लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण की वोटिंग से पहले बीजेपी ने बड़ा …