‘आर्यन को कैसे पकड़ा, गोसावी को कब से जानते हो…’ समीर वानखेड़े से CBI ने 5 घंटे तक क्या पूछा?

मुंबई,

आर्यन खान ड्रग्स मामले में फंसे NCB के पूर्व जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े से शनिवार को सीबीआई ने करीब 5 घंटे तक पूछताछ की. उनसे जांच एजेंसी ने मुंबई स्थित दफ्तर में इस केस से जुड़े हर पहलू पर जवाब मांगा और रिश्वत लेने के आरोपों में उनकी भूमिका को भी खंगाला. पूछताछ के बाद समीर वानखेड़े जब सीबीआई ऑफिस के बाहर निकले तो मीडिया के सवालों पर सिर्फ ‘सत्यमेव जयते’ कहकर आगे निकल गए. खबर है कि वानखेड़े के खिलाफ उनका गृह कैडर सीबीआईसी (केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर और सीमा शुल्क बोर्ड) भी भ्रष्टाचार के आरोपों के चलते एक्शन लेगा.

समीर वानखेड़े से सीबीआई ने पहली बार पूछताछ की है. फिलहाल, पूछताछ की अगली तारीख तय होनी बाकी है. अभी पूछताछ की अगली तारीख के लिए वानखेड़े को समन नहीं दिया गया है. सीबीआई की तरफ से उनसे जो संभावित सवाल पूछे गए हैं, उनमें से कुछ सवाल आर्यन खान और केपी गोसावी के बीच कनेक्शन और रेड को लेकर जानकारी से संबंधित थे.

सीबीआई ने वानखेड़े से संभावित ये सवाल पूछे…
– कॉर्डेलिया क्रूज ड्रग्स मामले में एनसीबी मुंबई के जोनल डायरेक्टर के रूप में काम करते हुए क्या आप क्रूज टर्मिनल पर मौजूद थे?
– प्राथमिक सूचना क्या थी, जिसके आधार पर छापा मारा गया?
– इस जानकारी का सोर्स कौन था?
– क्या आर्यन खान के बारे में कोई खास जानकारी थी और क्या एजेंसी को उससे जुड़ा कोई इनपुट मिला था?
– कुछ रिपोर्टस में कहा गया कि एक गवाह मनीष भानुशाली ने मीडिया को बताया था कि उन्होंने क्रूज पर आर्यन खान को ड्रग्स ले जाने की जानकारी दी थी, क्या यह सच है?
– क्या अधिकारी विशेष रूप से टर्मिनल पर आर्यन खान का इंतजार कर रहे थे?
– केपी गोसावी कौन हैं?
– आप केपी गोसावी को कब से और कैसे जानते हैं?
– केपी गोसावी के खिलाफ आपराधिक मामले थे, क्या आप इसके बारे में जानते थे?
– पकड़े जाने के बाद केपी गोसावी संदिग्धों (suspects) को हैंडल क्यों कर रहा था?
– खासकर आर्यन खान को केपी गोसावी के साथ कार में एनसीबी दफ्तर क्यों लाया गया?
– केपी गोसावी को आर्यन खान तक क्यों पहुंचने दिया गया और उन पर आरोप लगाया गया कि वह सिर्फ एक गवाह थे?

वानखेड़े पर लगे गंभीर आरोप
आर्यन खान ड्रग्स केस में केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की ओर से दायर की गई एफआईआर में कई खुलासे हुए हैं. एफआईआर से पता चला है कि ड्रग्स मामले में आर्यन खान के परिवार से 25 करोड़ रुपये वसूलने की प्लानिंग की जा रही थी.एफआईआर से खुलासा हुआ है कि इस मामले में गवाह केपी गोसावी, आर्यन खान के पिता शाहरुख खान से 25 करोड़ रुपये वसूलने की योजना बना रहे थे. गोसावी तत्कालीन जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े की ओर से शाहरुख खान से करोड़ों रुपये वसूलने की फिराक में थे. एफआईआर के मुताबिक, नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो की विशेष जांच टीम की ओर से की गई जांच से पता चला है कि आर्यन खान सहित आरोपियों को स्वतंत्र गावह केपी गोसावी के निजी वाहन से एनसीबी के ऑफिस लाया गया था.

समीर वानखेड़े पर एक्शन लेगा सीबीआईसी?
एनसीबी सतर्कता रिपोर्ट सीबीआईसी के साथ साझा की गई थी और विभाग ने सीसीएस नियमों के मुताबिक इसकी जांच की. इसके बाद सीबीआईसी वानखेड़े के खिलाफ विभागीय कार्यवाही शुरू करेगा. सीबीआईसी के शीर्ष सूत्रों ने बताया कि एनसीबी की सतर्कता रिपोर्ट के अलावा, वानखेड़े को लेकर कुछ अन्य अनुशासनात्मक शिकायतें भी मिली हैं. एनसीबी की सतर्कता रिपोर्ट में वानखेड़े के संबंध में भ्रष्टाचार, कदाचार, जबरन वसूली, सीसीएस नियमों के उल्लंघन और आय से अधिक संपत्ति से संबंधित मुद्दों का हवाला दिया गया है. वानखेड़े के खिलाफ दर्ज सीबीआई मामले में भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम और जबरन वसूली की धाराओं का उल्लेख है. विभाग की अनुशासनात्मक प्रक्रिया पूरी होने के बाद सीबीआईसी वानखेड़े को निलंबित कर सकता है या कुछ और भी एक्शन ले सकता है.

About bheldn

Check Also

असम की जेल में कैद खालिस्तानी अमृतपाल सिंह लड़ेगा लोकसभा चुनाव, जानें पंजाब की किस सीट से भरेगा पर्चा

चंडीगढ़ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत असम की जेल में बंद कट्टरपंथी सिख उपदेशक अमृतपाल …