हर की पौड़ी पहुंचे पहलवान, मेडल बहाने का किया है ऐलान; केजरीवाल बोले- अब तो प्रधानमंत्री जी अहंकार छोड़ दें

हरिद्वार

बीजेपी सांसद बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे पहलवान अपने मेडल गंगा में प्रवाहित करने के लिए हरिद्वार पहुंच गए हैं। करीब ढाई बजे पहलवान दिल्ली से हरिद्वार के लिए निकले थे। गंगा में मेडल बहाने के बाद सभी पहलवान वापस दिल्ली लौटेंगे, जहां उनकी योजना इंडिया गेट पर आमरण अनशन करने की है। इस बीच, अरविंद केजरीवाल ने भी पहलवानों के समर्थन में ट्वीट किया। उन्होंने लिखा, ‘पूरा देश स्तब्ध है। पूरे देश की आंखों में आंसू हैं। अब तो प्रधानमंत्री जी को अपना अहंकार छोड़ देना चाहिए।’

हालांकि दिल्ली पुलिस ने इंडिया गेट के आसपास किसी भी तरह के अनशन की मंजूरी नहीं दी है। दिल्ली पुलिस की ओर से इसको लेकर बयान भी आ गया है। पुलिस का कहना है कि इंडिया गेट के आसपास किसी भी तरह के प्रदर्शन को मंजूरी नहीं दी गई है और ना ही दी जाएगी।

इस बीच गंगा सभा ने हर की पौड़ी पर पहलवानों की मौजूदगी को लेकर सवाल उठाए हैं। गंगा सभा की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है कि प्रदर्शनकारी पहलवान गंगा आरती के वक्त यहां आए हैं, अगर उन्हें आरती में सम्मिलित होना है तो ठीक है वर्ना यहां आकर हर की पौड़ी को राजनीति का अखाड़ा ना बनाएं।

बता दें कि बजरंग पूनिया और विनेश फोगाट ने आज सुबह ट्वीट कर यह ऐलान किया था कि सभी प्रदर्शनकारी पहलवान आज शाम 6 बजे गंगा में अपने-अपने मेडल बहा देंगे और उसके बाद इंडिया गेट पर आमरण अनशन शुरू करेंगे।

अनिल कुंबले ने भी किया पहलवानों का समर्थन
इस बीच, अनुभवी क्रिकेटर अनिल कुंबले ने भी प्रदर्शनकारी पहलवानों का समर्थन किया। अनिल कुंबले ने कहा, 28 मई को हमारे पहलवानों के साथ मारपीट के बारे में सुनकर निराशा हुई। उचित बातचीत के जरिए किसी भी समस्या का समाधान निकाला जा सकता है। जल्द से जल्द समाधान की उम्मीद है।

विनेश और बजरंग ने किए ट्वीट
बजरंग पूनिया और विनेश फोगाट ने मंगलवार को एक ट्वीट कर कहा था कि इंडिया गेट हमारी शहीदों का स्मारक है, इसलिए हम भी वहीं अपने प्राण त्याग देंगे। उससे पहले हम अपने मेडल को गंगा में प्रवाहित कर देंगे। ट्वीट में दोनों पहलवानों ने आगे कहा था कि यह मेडल अब हमें नहीं चाहिए, हम इन्हें गंगा में प्रवाहित कर देंगे।

ट्वीट में यह भी लिखा गया कि यह मेडल हमारी जान और हमारी आत्मा हैं, इनके गंगा में बह जाने के बाद हमारे जीने का कोई मतलब नहीं है, इसलिए हम मेडल प्रवाहित करने के बाद इंडिया गेट पर आमरण अनशन के लिए बैठ जाएंगे। विनेश और बजरंग ने ट्वीट में आगे कहा है कि हम इस देश सदा आभारी रहेंगे।

रविवार को जंतर-मंतर से हटाए गए थे पहलवान
आपको बता दें कि बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ पहलवानों का आंदोलन अभी तक जंतर-मंतर पर चल रहा था, लेकिन रविवार को प्रदर्शनकारी पहलवानों ने जंतर-मंतर से नई संसद भवन तक महापंचायत सम्मान के तहत कूच करने का ऐलान किया था, लेकिन दिल्ली पुलिस ने पहलवानों को वहां जाने से पहले ही हिरासत में ले लिया था।

इस दौरान पहलवानों के साथ धक्का-मुक्की की घटना भी हुई थीं। इसके बाद जंतर-मंतर से पहलवानों का पूरा आंदोलन खत्म कर दिया गया। इसके बाद साक्षी मलिक ने ट्वीट कर यह कहा था कि अभी उनका आंदोलन खत्म नहीं हुआ है, हम जल्द ही अपनी अगली योजना का ऐलान करेंगे।

 

About bheldn

Check Also

‘कांग्रेस और JMM भ्रष्टाचार के भाई-भाई हैं’, गीता कोड़ा के नामांकन में बोले बाबूलाल मरांडी

रांची, कांग्रेस के हाथ का साथ छोड़कर बीजेपी में शामिल हुईं गीता कोड़ा चाईबासा यानी …