आलिम बना ‘आनंद’, मंदिर में शादी की, होटल में किया रेप… बरेली में युवती का हैरतअंगेज आरोप

बरेली

उत्तर प्रदेश के बरेली में कथित लव जिहाद का मामला सामने आया है। राजेंद्रनगर कॉलोनी में कंप्यूटर कोचिंग की छात्रा के साथ आलिम नाम के युवक ने हिंदू नाम बताकर प्रेम प्रसंग स्थापित किया। मंदिर में शादी भी कर ली। बाद में जब उसकी असलियत पता चली, तब युवती ने उसके खिलाफ देवरनियां थाने में केस दर्ज कराया है। बताया गया कि आरोपी आलिम जादौपुर गांव का रहने वाला है। युवती को उसने अपना हिन्दू नाम आनंद बताया था।

क्या है पूरा मामला?
बरेली स्थित राजेंद्रनगर कालोनी में देवरनियां की रहे वाली एक युवती कंप्यूटर कोचिंग पढ़ने जाती थी। उसकी मुलाकात एक युवक से हुई, जो हाथ में कलावा भी बांधता था। उसने अपना नाम आनंद बताया। मुलाकात धीरे-धीरे बढ़ी तो मामला प्रेम-प्रसंग तक जा पहुंचा। आलिम ने लड़की पर शादी का दबाव बनाना भी शुरू कर दिया। आरोप है कि पिछले साल 13 मार्च को आरोपी युवती को बरेली-पीलीभीत बाईपास रोड स्थित एक मंदिर में ले गया, जहां उसने युवती की मांग में सिंदूर भरकर जल्द से जल्द शादी करने की बात कही।

देवरनियां की रहने वाली पीड़िता ने कहा कि आलिम उसे विश्वविद्यालय के सामने अपने एक दोस्त के कमरे पर लेकर पहुंचा। यहां उसने उसके साथ शारीरिक संबंध बनाया। इसके साथ ही उसने उसकी अश्लील फोटो और वीडियो भी बना ली। इसके बाद आलिम ने वीडियो वायरल करने की धमकी देकर होटल में भी उसके साथ दुष्कर्म किया। इस दौरान वह गर्भवती हो गई। बाद में पीड़िता आरोपी के घर भी पहुंची। वहां की हकीकत देखकर वह दंग रह गई।

आलिम के घर जाकर उसे पता चला कि उसने अपना नाम आनंद गलत बताता था। उसका असली नाम आलिम है। वह मुस्लिम है। घर पर आलिम के पिता, मां, बहन और अन्य लोगों ने उसका गर्भपात कराकर निकाह करने की बात कही। विरोध पर युवती के साथ मारपीट कर घर से भगा दिया। युवती ने बताया कि आलिम ने एक डॉक्टर से दवाई दिलवाकर गर्भपात करा दिया। इसके बाद आलिम के परिवार वालों ने युवती के साथ मारपीट की और जान से मारने की धमकी देकर घर से निकाल दिया।

युवती ने बताया कि 11 मई 2023 को हाफिजगंज में एक अस्पताल में गर्भपात कराया गया। आरोपियों की मारपीट और धमकी से डरकर युवती ने शिकायत नहीं की थी। सोमवार को पीड़िता ने देवरनियां थाने में शिकायत की है। इंस्पेक्टर देवरनियां ने बताया कि पीड़िता की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। पीड़िता का मेडिकल कराकर बयान दर्ज कराए जाएंगे।

आनन फानन में दर्ज हुई रिपोर्ट
बताया जाता है कि पीड़िता एक सप्ताह से थाने के चक्कर लगा रही थी लेकिन थाना-पुलिस कार्रवाई नहीं कर रही थी। ट्विटर हैंडल पर शिकायत होने पर अधिकारियों ने मामला संज्ञान में लिया। अफसरों ने थाना पुलिस की फटकार लगाई। इसके बाद आनन-फानन में सोमवार देर रात मुकदमा दर्ज किया गया है।

About bheldn

Check Also

असम की जेल में कैद खालिस्तानी अमृतपाल सिंह लड़ेगा लोकसभा चुनाव, जानें पंजाब की किस सीट से भरेगा पर्चा

चंडीगढ़ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत असम की जेल में बंद कट्टरपंथी सिख उपदेशक अमृतपाल …