न्यायिक आयोग करेगा जांच, लूटे हथियारों पर अल्टिमेटम.. मणिपुर हिंसा पर अमित शाह का एक्शन

इंफाल

मणिपुर हिंसा की जांच हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज करेंगे। यह बात अमित शाह ने कहा है। इसके अलावा मणिपुर में शांति समिति गठित की जा रही है। अमित शाह ने ऐलान किया है कि मणिपुर में हिंसा की जांच एक न्यायिक आयोग से कराई जाएगी। इसके साथ ही केंद्रीय गृहमंत्री ने हिंसा पीड़ित परिवारों को 10-10 लाख रुपये की मदद का ऐलान किया है। इस राशि में से पांच लाख रुपये केंद्र और पांच लाख रुपये राज्य सरकार वहन करेगी। शाह ने कहा कि मणिपुर विकास की राह पर चल पड़ा है। शाह ने घोषणा की है कि हाई कोर्ट के रिटायर्ड चीफ जस्टिस की अध्यक्षता में न्यायिक आयोग जांच करेगा। मणिपुर में अगले दो से तीन दिन के अंदर रेल सेवा भी बहाल की जाएगी। अमित शाह ने लूटे गए हथियारों को सरेंडर करने को कहा है। उन्होंने कहा कि कल से पुलिस बॉम्बिंग शुरू करेगी और जिसके पास हथियार मिले, उसके खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी।

शांति समिति की जांच
अमित शाह ने कहा कि मणिपुर में पिछले एक महीने के दौरान जो हिंसा हुई है, उसकी जांच न्यायिक आयोग करेगा। रिटायर्ड हाई कोर्ट जस्टिस इस आयोग के अध्यक्ष होंगे। इस जांच की निगरानी भारत सरकार खुद करेगी। इसके अलावा केंद्र सरकार की निगरानी में ही शांति समिति का गठन भी किया जाएगा। इसमें उद्योगपति, खिलाड़ी, चुने हुए प्रतिनिधियों और नागरिक समाज के लोगों को शामिल किया जाएगा।

6 केस की जांच सीबाआई के पास
गृहमंत्री ने कहा कि बेहतर समन्वय के लिए कुलदीप सिंह की अध्यक्षता में इंटर एजेंसी यूनिफाइड कमांड की व्यवस्था लागू की जा रही है, जो आज से ही काम करेगी। इसके अलावा मणिपुर हिंसा के मामले में दर्ज किए गए 6 केस की जांच सीबीआई की दी गई है। शाह ने कहा कि जांच बिना किसी पक्षपात और भेदभाव के की जाएगी।

मणिपुर हिंसाग्रस्त लोगों को कितना मुआवजा?
अमित शाह ने बताया कि उन्होंने मणिपुर में राहत शिविरों का दौरा किया। कुकी और मैतेई दोनों नागरिक समूहों से मुलाकात की और मणिपुर में शांति प्रक्रिया पर चर्चा की। उन्होंने कहा कि राहत और पुनर्वास के लिए जान गंवाने वाले लोगों के परिवार को पांच लाख रुपये मणिपुर सरकार की तरफ से दिए जाएंगे। वहीं पांच लाख रुपये भारत सरकार की तरह से दिए जाएंगे।

गृहमंत्री ने बताया कि मणिपुर हिंसा में घायल हुए लोगों की संपत्ति का जो नुकसान हुआ है उनके लिए भी राहत और पुनर्वास पैकेज घोषित किया जाएगा। यह कितना और कैसे दिया जाएगा इसकी घोषणा कल की जाएगी।

गलतफहमी से भड़की मणिपुर में हिंसा’
मणिपुर के लोगों को राशन की कमी न हो इसलिए कोटा से अतिरिक्त चावल मणिपुर भेजे गए हैं। उन्होंने कहा कि समुदायों के बीच हिंसा गलतहमी से भड़की है। उसे दूर करने के प्रयास किए जाएंगे और जल्द ही इसका समाधान किया जाएगा।

शुक्रवार से मणिपुर में कॉम्बिक ऑपरेशन
अमित शाह ने काह कि जिन लोगों के पास लूटे गए हथियार हैं, वे उन्हें वापस कर दें। ऐसे लोगों को गुरुवार शाम तक का समय दिया जा रहा है, उसके बाद जो हथियार सरेंडर नहीं करेंगे उनके खिलाफ पुलिस शुक्रवार से कॉन्बिंग ऑपरेशन चलाएगी। कॉन्बिंग ऑपरेशन के बाद अगर किसी पर हथियार मिले तो उसके खिलाफ कठोर कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

About bheldn

Check Also

BPSC पेपर लीक मामले में एक महिला समेत 5 गिरफ्तार, आरोपी उज्जैन से लाए गए पटना

पटना, बिहार पब्लिक सर्विस कमीशन (BPSC) द्वारा ली गई शिक्षक भर्ती परीक्षा पेपर लीक मामले …