ओवैसी की सभा में पाकिस्तान के समर्थन में नारेबाजी, डुमरी उपचुनाव में AIMIM प्रत्याशी समेत अन्य के खिलाफ FIR

गिरिडीह

झारखंड के डुमरी उपचुनाव में एआईएमआईएम की सभा में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाये जाने पर प्रशासन ने एक्शन लिया है। इस मामले में एआईएमआईएम प्रत्याशी समेत अन्य के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। उड़नदस्ता दल की ओर से डुमरी थाना में दर्ज एफआईआर में एआईएमआईएम प्रत्याशी अब्दुल मोबिन रिजवी और पार्टी के नेता मुजफ्फर हसन नुरानी समेत अन्य अज्ञात लोगों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई गई। इन सभी के खिलाफ भारतीय दंड संहिता और लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम के सुसंगत धाराओं के अंतर्गत प्राथमिकी दर्ज की गई हैं।

उड़नदस्ता टीम की ओर से दर्ज प्राथमिकी में बताया गया है कि चुनावी सभा के दौरान पाकिस्तान के समर्थन में नारेबाजी की गई। यह नारेबाजी उस वक्त की गई आल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुसिलमिन (एआईएमआईएम) प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी खुद भाषण दे रहे थे। भाषण के दौरान दर्शक दीर्घा से पाकिस्तान ज़िंदाबाद के नारे लगने की बात सामने आई है। हालांकि वायरल वीडियो में यह साफ दिख रहा है कि इस तरह की नारेबाजी को देखकर ओवैसी खुद हरकत में आए और उन्होंने हाथ से इशारा कर इस तरह की नारेबाजी करने वाले रोका और फटकार लगाई। प्रशासन की ओर से दर्ज प्राथमिकी में कहा गया है कि भाषण के दौरान रिकॉर्ड वीडियो की जांच के दौरान यह पाया गया कि यह आदर्श आचार संहिता उल्लंघन है। साथ ही यह सांप्रदायिक सद्भावना को बिगाड़ने का प्रयास हैं।

नारेबाजी पर बीजेपी ने सख्त कार्रवाई की मांग की
एमआईएमआईएम प्रमुख असुदीन ओवैसी पार्टी प्रत्याशी के पक्ष में डुमरी के हाई स्कूल में जनसभा को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान सभा में मौजूद कुछ समर्थकों ने पाकिस्तान जिंदाबाद का नारा लगाया था। इस मामले को राज्य की प्रमुख विपक्षी पार्टी भारतीय जनता पार्टी ने जोर-जोर से उठाया था। भारतीय जनता पार्टी इस तरह के देशद्रोह से जुड़े मामले में सख्त कार्रवाई की मांग की गई थी।

बीजेपी सांसद संजय सेठ ने भी इस तरह की घटना की घोर निंदा की है। संजय सेठ ने कहा है कि हेमंत सोरेन की सरकार में यह पहला मौका नहीं है जब पाकिस्तान समर्थित नारे लगाए गए हैं। इस सरकार के कार्यकाल में इस तरह की घटनाएं और भी कई बार हुई है। पार्टी ने मांग करते हुए कहा कि इस मामले में जो भी दोषी हो उन पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाए। हालांकि पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे पर सत्ता पक्ष के सभी घटक दल और उनके नेता चुप्पी साधे हुए हैं।माना जा रहा है कि यह मुद्दा जब मीडिया में बार-बार दिखाया जाने लगा और बीजेपी जब लगातार हमलावर हुई तब प्रशासन ने इस मामले में प्राथमिक की दर्ज की है।

About bheldn

Check Also

डॉक्टर ने नाम बदलकर रचाई शादी, फिर महिला का जबरन कराया धर्म परिवर्तन

सहारनपुर , सहारनपुर के थाना देवबंद पुलिस ने एक डॉक्टर को नाम बदल कर दूसरे …