इसे कहते हैं असली रिटायरमेंट, बैंक की सैलरी से तीन गुना ज्यादा कमा रहे हैं SBI के पूर्व चेयरमैन रजनीश कुमार

नई दिल्ली

भारतीय स्टेट बैंक (SBI) के पूर्व चेयरमैन रजनीश कुमार अक्सर चर्चा में रहते हैं। हाल ही में उन्होंने एसबीआई के चेयरमैन के तौर पर मिलने वाली अपनी सैलरी का खुलासा किया था। अब एक बार फिर से वो चर्चा में हैं। दरअसल एसबीआई से रिटायर होने के बाद भी वो लगातार काम कर रहे हैं। एक साथ कई कंपनियों के बोर्ड में वो शामिल हैं। रिटायरमेंट के बाद वो फिनटेक कंपनी भारत पे के बोर्ड चेयरमैन के तौर पर काम कर रहे हैं। इसके अलावा भी वो कई कंपनियों को बोर्ड में शामिल है। इसके जरिए वो अपनी सरकारी नौकरी से तीन गुना अधिक कमाई कर रहे हैं।

रिटायरमेंट के बाद तीन गुना कमाई
सीएनबीसीटीवी18 की रिपोर्ट के मुकाबले रजनीश कुमार एसबीआई की सैलरी से तीन गुना अधिक की कमाई कर रहे हैं। जितनी सैलरी उनकी एसबीआई के चेयरमैन के तौर पर थी, आज उनकी कमाई उनसे तीन गुना अधिक है। रजनीश कुमार भारतपे, हीरो मोटोकॉर्प , एलटीआईमाइंडट्री , अंबुजा सीमेंट्स , लार्सन एंड टुब्रो जैसी बड़ी कंपनियों के बोर्ड में शामिल हैं। FY23 की सालाना रिपोर्ट के मुताबिक रजनीश कुमार को ब्रुकफील्ड इंडिया रियल एस्टेट ट्रस्ट के एक लाख रुपये सिटिंग फीस के तौर पर मिलती है। L&T में इंडिपेंडेंट निदेशक के तौर पर उन्हें 30 से 60 लाख रुपये मिलते हैं। हीरो मोटोकॉर्प के नॉन-एग्जीक्यूटिव इंडिपेंडेंट डायरेक्टर के तौर पर उन्हें 38 लाख रुपये, एलटीआईमाइडट्री से 33 लाख रुपये और अंबुजा सीमेंट्स से 18 लाख रुपये मिलते हैं।

एसबीआई के चेयरमैन के तौर पर कितनी सैलरी
वित्त वर्ष 21 में एसबीआई के चेयरमैन के तौर पर उन्हें 30.34 लाख रुपये कुल मुआवजे के तौर मिले थे। वित्त वर्ष 2020 के लिए उनकी सैलरी 31.26 लाख रुपये थी। सैलरी के अलावा उन्हें मुंबई में रहने के लिए घर, गाड़ी, ट्रेवल अलाउंस जैसी तमाम सुविधाएं मिलती थी। उनकी सैलरी को लेकर काफी चर्चाएं भी हुई। प्राइवेट बैंकों की तुलना में एसबीआई के चेयरमैन की कम सैलरी को लेकर कई सवाल भी उठे। लबे वक्त तक एसबीआई में सेवा देने के बाद वो अक्टूबर 2020 में रिटायर हो गए।

About bheldn

Check Also

क्रूड ऑयल इंपोर्ट पर खर्च 19% बढ़ा, अप्रैल-जून में 37.5 बिलियन डॉलर का कच्चा तेल आयात किया गया

नई दिल्ली जून में क्रूड ऑयल इंपोर्ट सालभर पहले के मुकाबले करीब 6% कम रहा, …