नीदरलैंड्स में कुरान के ‘अपमान’ पर भड़का सऊदी अरब, कही ऐसी बात

नई दिल्ली,

सऊदी अरब ने नीदरलैंड्स के शहर हेग में तुर्की दूतावास के बाहर कुरान की एक प्रति को पैरों से कुचलने और उसे फाड़ने पर कड़ी आपत्ति जताई है. धुर-दक्षिणपंथी डच कार्यकर्ता के कुरान के अपमान की निंदा करते हुए सऊदी अरब ने कहा है कि बार-बार होने वाली इस तरह की घटनाओं को उचित नहीं ठहराया जा सकता है.

सऊदी अरब के विदेश मंत्रालय ने कुरान फाड़ने की घटना की निंदा करते हुए रविवार को एक बयान में कहा, ‘विदेश मंत्रालय इन निंदनीय और बार-बार होने वाले कृत्यों की कड़ी निंदा करता है. इस तरह के कार्यों को किसी भी परिस्थिति में उचित नहीं ठहराया जा सकता है. इस तरह के कृत्य स्पष्ट रूप से घृणा, नफरत और नस्लवाद को बढ़ावा देते हैं. ऐसे कृत्य सहिष्णुता, संयम को बढ़ावा देने और चरमपंथ को खारिज करने के अंतरराष्ट्रीय प्रयासों के खिलाफ हैं.’सऊदी मंत्रालय ने कहा कि इस तरह की घटनाएं ‘आपसी सम्मान की आवश्यक नींव को कमजोर करते हैं जो लोगों और देशों के बीच संबंधों के लिए जरूरी है.’

कुरान की तुलना माइन कैम्फ से
अगस्त के महीने में धुर-दक्षिणपंथी डच समूह पेगिडा के नेता एडविन वैगन्सवेल्ड ने तुर्की दूतावास के सामने कुरान की एक प्रति को नुकसान पहुंचाया था. नीदरलैंड्स की सरकार ने इस घटना की निंदा की थी और कहा था कि सरकार के पास इस तरह के प्रदर्शनों को रोकने के लिए कानूनी शक्ति नहीं है.

वैगन्सवेल्ड ने जनवरी में भी इसी तरह के प्रदर्शन के दौरान संसद के बाहर कुरान की एक प्रति फाड़ दी थी और इस्लाम के पवित्र पुस्तक की तुलना एडॉल्फ हिटलर की ‘माइन कैम्फ’ से की थी. कुरान फाड़ने के दौरान वैगन्सवेल्ड ने जो टिप्पणियां कीं, इसके लिए उन्हें मुकदमे का सामना भी करना पड़ रहा है.

घटनाएं रोकने के लिए हो तत्काल कार्रवाई
सोमवार को, खाड़ी सहयोग परिषद (GCC) के महासचिव जसीम मोहम्मद अल-बुदैवी ने कुरान को फाड़ने की निंदा की और कहा कि मुसलमानों के खिलाफ इन आक्रामक और उत्तेजक कार्यों का मुकाबला करने किए तत्काल और प्रभावी अंतरराष्ट्रीय कदम उठाए जाने चाहिए.’

सऊदी की सरकारी प्रेस एजेंसी सऊदी प्रेस एजेंसी (SPA) की रिपोर्ट के मुताबिक, अल-बुदैवी ने कहा कि जिन देशों में इस तरह के प्रदर्शन हो रहे हैं, उन्हें हस्तक्षेप करना चाहिए और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के बहाने बार-बार होने वाली इस तरह की घटनाओं पर रोक लगानी चाहिए.

हाल के दिनों में यूरोपीय देशों में बार-बार कुरान जलाने की घटनाएं सामने आ रही हैं. जून के महीने में बकरीद के मौके पर मोमिका सलवान नामक युवक ने स्वीडन की स्टॉकहोम सेंट्रल मस्जिद के सामने कुरान की एक प्रति को जला दिया था. सऊदी अरब समेत लगभग सभी मुस्लिम देशों ने इस घटना की निंदा की थी और कहा था कि स्वीडन के अधिकारियों को इस तरह की घटनाओं को रोकने के लिए कदम उठाने चाहिए.इसके बाद जुलाई के महीने में दो लोगों ने मिलकर स्वीडन की संसद के बाहर कुरान की एक प्रति को आग के हवाले कर दिया था.

About bheldn

Check Also

मेक्सिको में गर्मी का कहर, छह दिनों में 138 बंदरों की मौत, 46 डिग्री सेल्सियस पहुंचा तापमान

मेक्सिको सिटी मेक्सिको में पड़ रही अत्याधिक गर्मी बंदरों के लिए काल बनकर आई है। …